BREAKING NEWS

Politics (राजनीति)

Sports (खेल-खिलाड़ी)

International (अंतरराष्ट्रीय)

Tuesday, 27 June 2017

ईद पर मुस्लिम युवक ने हिन्दू महिला के साथ छेर-छार किया , गांव में तनाव , FIR दर्ज ......






शिवपुरी।
जिले के सिरसौद थाना क्षेत्र के ग्राम कुंअरपुर में ईद के दिन नमाज पढऩे जा रहे एक मुस्लिम युवक ने एक महिला को बुरी नियत से दबोच लिया। इस बात की शिकायत पर गांव में तनाव की स्थिति निर्मित हो गई। पुलिस ने महिला की रिपोर्ट पर आरोपी युवक के खिलाफ धारा 354 , 506 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। 

जानकारी के अनुसार गांव में रहने वाली रामवती परिवर्तित नाम सुबह 8 बजे शौच के लिए गांव के बाहर जा रही थी उसी समय एक आरोपी मुबारक खान नमाज पढऩे के लिए जा रहा था। जिसकी महिला को देखकर नियत बिगड़ गई और उसने नमाज छोडक़र महिला को पकड़ लिया और उसके साथ अश्लील हरकतें कीं। 




महिला के चीखने पर वहां लोग एकत्रित हो गए जिन्हें देखकर आरोपी मौके से भाग गया। घटना के बाद गांव में तनावपूर्ण स्थिति निर्मित हो गर्ई औैर देखते ही देखते बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्रित होकर आरोपी के घर पहुंच गए इसी बीच पुलिस को गांव में तनाव बढऩे की सूचना प्राप्त हुर्ई तो सिरसौद थाना प्रभारी सुरेश शर्मा दल बल के साथ मौैके पर पहुंचे जिन्होंने ग्रामीणों को समझा कर आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। इसके बाद मामला शांत हो सका।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


Monday, 26 June 2017

इस्लामिक आतंकवाद लोकतंत्र के लिए सबसे खतरनाक , भारत के साथ मिलकर करेंगे सफाया : डोनल्ड ट्रम्प







प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सोमवार को वॉशिंगटन में मिले। इस मौके पर आतंकवाद का मुद्दा छाया रहा। दोनों वैश्विक नेताओं ने आतंकवाद को खत्म करने का संकल्प लिया।

मोदी-ट्रंप ने साझा बयान में कट्टर इस्लामिक आतंकवाद को लोकतंत्र के लिए खतरा बताते हुए इससे मिलकर निपटने का आह्वान किया। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने आतंकवाद पर हमला बोलते हुए कहा कि अमेरिका और भारत मिलकर इस्लामिक आतंकवाद का खात्मा करेंगे।

उन्होंने कहा, 'दोनों देश आतंकवाद से प्रभावित रहा है और हम कट्टर इस्लामिक आतंकवाद को खत्म करेंगे।'
वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकवाद जैसी वैश्विक चुनौतियों से अपने समाजों की सुरक्षा अमेरिका और भारत की सबसे बड़ी प्राथमिकताओं में से एक है। क्योंकि विश्व के दो विशाल लोकतंत्रों का साझा सशक्तिकरण हमारा साझा उद्देश्य है।

पीएम मोदी ने कहा, 'राष्ट्रपति ट्रंप और मेरे बीच बातचीत अत्यंत महत्वपूर्ण रही। क्योंकि यह बातचीत परस्पर विश्वास पर आधारित थी। बातचीत के केंद्र में हमारे मूल्य, प्राथमिकताएं और चिंतन शामिल थे।

ट्रंप ने की मोदी की तारीफ

डॉनल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ करते हुए कहा, 'विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के नेता की अगवानी करना हमारे लिए सम्मान की बात है। इस साल भारत अपनी आजादी की 70वीं वर्षगांठ मनाएगा। मैं उन्हें बधाई देता हूं। मैंने अपने कैंपेन के दौरान भारत को सच्चा दोस्त बताया था और आज वह व्हाइट हाउस में हैं।'





न्यू इंडिया और ग्रेट अमेरिका विजन

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दोनों देश ग्लोबल इंजन ऑफ ग्रोथ हैं और मेरा न्यू इंडिया का विजन तथा राष्ट्रपति ट्रंप का ग्रेट अमेरिका का विजन, दोनों एक जैसे ही हैं।

ट्रंप को भारत आने का न्योता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को सपरिवार भारत आमंत्रित किया। जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। पीएम मोदी ने स्वागत के लिए आभार जताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'राष्ट्रपति और फर्स्ट लेडी मेलानिया की ओर से जोरदार स्वागत के लिए ऋणी हूं।'

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


Sunday, 25 June 2017

लालू के मुर्ख दशवीं फेल लाल का नितीश कुमार को सलाह व हिदायत कहा "शुतुर्मुखी रुख" ना अपनाएँ वर्ना ......






बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को नीतीश कुमार के समर्थन दिए जाने के बाद महागठबंधन में सब कुछ ठीक नहीं है। कोविंद को समर्थन का ऐलान करने के बाद महागठबंधन में रार की अटकलें लगाई जा रही थी, जो अब खुलकर सामने आ गई है।

बिहार के उप-मुख्यमंत्री और लालू के बेटे तेजस्वी यादव फेसबुक पर लिखे जाने वाले 'दिल की बात' में ऐसा कुछ कह गए हैं, जिसे महागठबंधन की राजनीति के लिहाज से ठीक नहीं कहा जा सकता।

तेजस्वी ने लिखा है कि मौजूदा हालात में देश में विपक्षी दल भ्रम की स्थिति में है और भ्रामक व्यवहार, सरकारी तंत्र के डर और गलत प्राथमिकताओं के कारण वह बिखरा हुआ है। ऐसे समय में जब सभी विपक्षी दलों को एक दूसरे का हाथ पकड़ कर हताशा और संकट से जूझ रहे लोगों और समुदायों के साथ खड़ा होना जरूरी है तब कुछ लोगों ने 'शुतुरमुर्गी' रवैया अख्तियार कर लिया।

उन्होंने कहा, 'इतिहास इस बात का साक्षी होगा कि जब लोगों को प्रगतिशील और सामाजिक न्याय की धारा के इर्दगिर्द मजबूत करने की जरूरत थी तो हम शुतुरमुर्ग हो गए।'

गौरतलब है कि बीजेपी उम्मीदवार कोविंद को समर्थन दिए जाने के बाद कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों ने पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया है।

विपक्ष की इस बैठक के बाद लालू प्रसाद ने कहा था कि वह मीरा कुमार को समर्थन देने के लिए नीतीश कुमार को मनाएंगे और उन्हें 'ऐतिहासिक भूल' नहीं करने की सलाह देंगे। हालांकि नीतीश नहीं माने और उन्होंने साफ कर दिया कि कोविंद को दिया गया जनता दल यूनाइटेड का समर्थन अब वापस नहीं होगा।

तेजस्वी ने लिखा है, 'विपक्षी पार्टियों को यह भी महसूस करना होगा कि राजनीति एक अंशकालिक उद्यम नहीं हो सकती। आप शाम में दो घंटे खेलें और बाकी समय विश्राम करें।'

अहम माने जाने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी अपनी नानी से मिलने इटली जा चुके हैं। जब विपक्ष रामनाथ कोविंद के खिलाफ साझा उम्मीदवार के बहाने एकजुटता की रणनीति बनाने में लगा हुआ था, तब राहुल गांधी विदेश में छुट्टियां मना रहे थे।







तेजस्वी ने अपने 'दिल की बात' में तात्कालिक लक्ष्यों को हासिल करने के लिए सरकार बनाने या बिगाड़ने का भी जिक्र किया है।

उन्होंने लिखा है, 'हम सभी को हमारे महान देश और इसके संवैधानिक मूल्य, समतावादी सोच और धर्मनिरपेक्ष स्वरुप को बचाने के लिए एक दीर्घकालिक रणनीति बनानी होगी। हममें से अधिकांश दलों को यह सोचना होगा कि अवसरवादी व्यवहार या राजनीतिक जोड़-तोड़ के साथ हम कुछ तात्कालिक लक्ष्य हासिल सकते हैं, सरकार बना या बिगाड़ सकते हैं, लेकिन लोकोन्मुख राजनीती की चादर बड़ी होनी चाहिए।'

कोविंद की उम्मीदवारी पर कांग्रेस और आरजेडी से इतर रुख लेने के बाद एनडीए में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए उन्हें एनडीए में शामिल होने का न्यौता देने में देर नहीं की। उन्होंने कहा, 'नीतीश कुमार के एनडीए में आने से बिहार का भला ही होगा।'

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



प्रधानमंत्री मोदी के नोटबंदी के फैसले का समर्थन किए जाने और बेनामी संपत्ति मामले में लालू प्रसाद और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ आयकर विभाग की कार्रवाई के अलावा ऐसे कई मौके आए हैं, जब नीतीश कुमार के एनडीए में शामिल होने और महागठबंधन में सब कुछ ठीक नहीं होने की अटकलें जोर मारती रही है।

राष्ट्रपति चुनाव से पहले ही टूट जाएगा बिहार में महागठबंधन : ज्ञानेंद्र ज्ञानू






राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को जेडीयू द्वारा समर्थन दिए जाने के बाद बिहार का राजनीतिक तापमान चढ़ा हुआ है। बिहार की बेटी मीरा कुमार को यूपीए ने उम्मीदवार बनाया है। बावजूद इसके नीतीश कुमार ने अपना समर्थन एनडीए को जारी रखने का फैसला किया है। इस बीच महागठबंधन में खटास पैदा होने लगी है। मौके की नजाकत को देखते हुए बीजेपी के नेताओं की इच्छा है कि यह महागठबंधन टूट जाय, ताकि नीतीश कुमार एनडीए में शामिल हो सकें और बिहार में भी बीजेपी सत्ता का सुख भोग सके।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :




लाइव सिटीज डॉट कॉम से बातचीत में पटना जिले के बाढ़ विधानसभा से बीजेपी विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने दावा किया है कि जेडीयू-आरजेडी का गठबंधन राष्ट्रपति चुनाव यानी 17 जुलाई से पहले ही टूट जाएगा।





महागठबंधन पर हमला बोलते हुए ज्ञानू ने कहा कि आरजेडी के साथ सरकार चलाने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार असहज महसूस कर रहे हैं। बता दें कि ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू पहले जेडीयू में ही थे और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफी करीब थे। साल 2014-15 में राज्य में उपजे राजनीतिक उठापटक के दौरान वो जीतनराम मांझी के खेमे में चले गए थे। बाद में 2015 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने बीजेपी के टिकट पर फिर से बाढ़ विधानसभा से चुनाव जीता है। इन दिनों फिर से ज्ञानू नीतीश के करीब होते जा रहे हैं।

Wednesday, 21 June 2017

100 से ज्यादा मुसलमानों को रोजा रखने पर सजा और जुर्माना , दुबारा ऐसी गलती नहीं करने की दी गयी चेतावनी ....






मुसलमानों के पवित्र माह रमजान के दौरान चीन के शिनजियांग प्रांत में करीब 100 वीगर मुसलमानों को चीन सरकार के नियम तोड़कर रोजा (व्रत) रखने पर  सजा दी गई है। रेडियो फ्री एशिया (आरएफए) की रिपोर्ट के अनुसार कुछ वीगर मुसलानों पर चीन सरकार ने जुर्माना लगाया गया है जबकि कइयों को “सुधारवादी शिक्षा” के लिए भेजा गया है। वर्ल्ड वीगर कांग्रेस ने आरएफए को बताया कि चीन सरकार रमजान के दौरान दिन में लंच न करने वाले मुस्लिम सरकारी कर्मचारियों पर जुर्माना और अन्य तरह के प्रतिबंध लगा रही है।

वर्ल्ड वीगर कांग्रेस के प्रवक्ता डिलशैट रैक्जिट ने आरएफए से कहा कि 27  मई को रमजान शुरू होने के बाद से करीब 100 वीगर मुसलमानों को काशगर और होतान में चीन सरकार की नीति तोड़ने के लिए सजा दी जा चुकी है। प्रवक्ता के अनुसार कुछ वीगर मुसलमानों पर चीन सरकार ने नियम तोड़ने के लिए 500 युआन तक का जुर्माना लगाया है। प्रवक्ता ने कहा कि गरीब वीगर मुसलमानों पर इतनी बड़ी राशि का जुर्माना लगाना सजा की कठोरता साफ कर देता है।


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



प्रवक्ता के अनुसार जिन लोगों को सजा दी गई है उनमें से कुछ किसान हैं और कुछ राज्य सरकार के कर्मचारी हैं या सरकारी अधिकारी हैं। इन सभी को नियमों के खिलाफ रमजान में रोजा रखने के लिए सजा दी गई है। वीगर कांग्रेस के प्रवक्ता के अनुसार चीन में मुस्लिम सरकारी कर्मचारियों को दबाव डालकर रोजा न रखने के लिए मजबूर किया जाता है जिससे वो सरकार के प्रति अपनी प्रतिबद्धता साबित कर सकें।





वीगर कांग्रेस के प्रवक्ता के अनुसार पुलिस, नागरिक सुरक्षा दल और सुरक्षा एजेंटों का दल खेतों में जाकर लोगों को खाना और पानी दे रहे हैं ताकि वो रोजा न रखें। शिनयिजांग प्रांत में रमजान के दौरान रेस्तरां एवं खाने-पीने की अन्य दुकानों के बंद रखने पर भी रोक है। एक वीगर मुस्लिम जुओ ने आरएफए को बताया कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने कई कार्यकर्ताओं को रोजा रखने के लिए पार्टी से निकाल दिया है। शिनजियांग प्रांत में करीब 45 प्रतिशत आबादी वीगर मुसलमानों की है। चीन सरकार ने शिनजियांग में नाबालिग बच्चों को जबरदस्ती धार्मिक शिक्षा देने इत्यादि पर रोक लगा रखी है।

Tuesday, 20 June 2017

लखनऊ : दुनिया को जोड़ने का काम कर रहा योग - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी






लखनऊ :
तीसरे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्‍यपाल रामनाइक और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने एक साथ 51 हजार लोगों के साथ योग किया. खराब मौसम के कारण योग करने के बाद प्रधानमंत्री दिल्‍ली के लिए रवाना हो गए. योग दिवस के मौके पर बुधवार सुबह सात बजे योगासन शुरू करने से पहले पीएम ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों से कहा सभी योग प्रेमियों को लखनऊ की धरती से प्रणाम.

जीवन में नमक की तरह योग :

प्रधानमंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि शरीर, मस्तिष्क और आत्मा को जोड़ने वाले योग ने दुनिया को जोड़ने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. उन्‍होंने कहा कि जिस तरह भोजन में नमक का महत्व होता है तो उसी तरह जीवन में योग का महत्व है. प्रधानमंत्री मोदी के साथ राज्यपाल रामनाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सरकार के मंत्रियों और हजारों लोगों ने योगासन किए.

योग से मिलती है जीने की कला

उन्‍होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि स्वस्थ मन के बाद जीने की कला योग से ही सीखने को मिलती है. योग लगातार दुनिया को जोड़ने का काम कर रहा है. तीन साल में योग सिखाने वाली जगहों की तादाद बढ़ी है. लोग योग पर तमाम तरह के प्रोग्राम संचालित कर रहे हैं. उन्‍होंने सभी से अपील की कि ज्‍याद से ज्‍यादा लोग योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं.






योग टीचर्स की मांग बढ़ी

योग के कारण ही दुनिया के तमाम देश भारत से जुड़ने लगे हैं. लखनऊ के इस विशाल मैदान में हजारों लोगों को देख रहा हूं. लगातार बारिश के बीच भी आप सब यहां डटे हुए हैं योग के महत्व को बल देने का आपका यह प्रयास अभिनंदनीय है. यूनाइटेड नेशन ने जब योग को मान्यता दी, तब से दुनिया का शायद ही कोई देश हो जहां योग का कार्यक्रम न होता हो. इसके प्रति जागरुकता न बढ़ी हो. पिछले तीन साल में बहुत बड़ी मात्रा में योग टीचर्स की मांग बढ़ी है. विश्व में युवाओं के लिए एक नया जॉब मार्केट तैयार हो रहा है.

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


लालू के अनपढ़ बेटे , बेटी और पत्नी सब के सब निकले चोर , आयकर बिभाग नें 175 करोड़ के 12 प्लॉट को किया जब्त .... पूरी रिपोर्ट






बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनके परिवार को मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। मंगलावार को इनकम टैक्स विभाग ने लालू के परिवार के लोगों से जुड़ी संपत्ति को जब्त (अटैच) किया। इनकम टैक्स विभाग ने लालू की बेटी और राज्यसभा सदस्य मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार, बहन रागिनी और चंदा (लालू की बेटियां), बिहार के डिप्टी सीएम और आरजेडी सुप्रीमो के छोटे बेटे तेजस्वी यादव तथा मुख्यमंत्री राबड़ी यादव के 12 प्लॉट को अटैच किया है। एएनआई के मुताबिक जिन प्रॉपर्टियों को अटैच किया है उनकी कीमत 175 करोड़ बताई जा रही है। जबकि रिकॉर्ड्स में संपत्ति का खरीद मूल्य 9.32 करोड़ रुपए दिखाया गया है। टीवी चैनल आज तक के मुताबिक आयकर विभाग ने बेनामी एक्ट के तहत लालू के बेटे-बेटी और पत्नी के खिलाफ केस भी दर्ज किया।



बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कार्रवाई और केस दर्ज होने की खबरों के बीच एएनआई से कहा, “पॉलिटिकल वेदांता के आधार पर गलत बातें चलाई जा रही हैं। हमने कुछ नहीं छुपाया है, हमें बुलाया जाएगा तो हम जवाब देने के लिए तैयार हैं।” जिन प्रापर्टियों को जब्त किया गया है, उनमें तेजस्वी और उनकी बहन रागिनी और चंदा का फ्रेंड्स कालोनी स्थित घर भी शामिल है।


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



इससे पहले सोमवार को मीसा भारती, उनके पति और तेजस्वी यादव की संपत्ति को आयकर विभाग द्वारा सीज़ करने की कार्रवाई की गई थी। दो बार समन जारी किए जाने के बाद भी जांच एजेंसी के समक्ष हाजिर नहीं होने के कारण संपत्ति सीज़ करने की कार्रवाई की गई थी। विभाग द्वारा पहले 6 जून को समन जारी किया गया था। पेश न होने पर विभाग ने फिर से मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार को समन जारी करके 12 जून को आने के लिए कहा था, लेकिन इस बार भी वह नहीं पहुंचे थे। इससे पहले मीसा भारती के चार्टर्ड अकाउंटेंट राजेश अग्रवाल को गिरफ्तार किया गया था।





लालू यादव परिवार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बिहार बीजेपी के नेता सुशील मोदी ने लालू फैमिली पर फिर एक बड़ा आरोप लगाया है। सुशील मोदी ने कहा है कि बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पटना में 18 फ्लैट्स की मालकिन हैं, इन फ्लैट्स की कीमत लगभग 20 करोड़ रुपये हैं। सुशील मोदी ने कहा कि राबड़ी देवी पटना में 18 पार्किंग प्लेस की भी मालकिन हैं। आयकर विभाग की कार्रवाई से पहले भारत पेट्रोलियम कार्पोरेशन (BPCL) ने लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव के पेट्रोल पंप का लाइसेंस कैंसल कर दिया था।

Sunday, 18 June 2017

मस्जिद से नमाज पढ़कर लौट रहे लोगों को गाड़ी ने कुचला , 1 गिरफ्तार : पूरी रिपोर्ट


लंदन में राह चलते लोगों पर गाड़ी चढ़ाने की खबर आ रही है. ब्रिटेन पुलिस के मुताबिक, उत्तरी लंदन में एक तेज रफ्तार वाहन ने राहगीरों को कुचलने की कोशिश की, जिसमें कम से कम तीन लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं.






यह घटना लंदन के फिन्सबरी पार्क इलाके में सेवन सिस्टर्स रोड पर हुई. वहीं लंदन की मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने बताया कि इस मामले में अब तक एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया है. मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने कहा कि अधिकारी घटनास्थल पर हैं और आपातकालीन सेवाओं को बुला लिया गया है. लंदन एंबुलेंस सर्विस के प्रवक्ता ने कहा कि सेवन सिस्टर्स रोड पर एंबुलेंस की कई गाड़ियां भेजी गई हैं.

वहीं मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि वे लोग मस्जिद से निकल रहे थे, तभी एक तेज रफ्तार वाहन ने राहगीरों को रौंदना चाहा. वहीं एएफपी ने एक अन्य चश्मदीद के हवाले से बताया, 'वह कई लोग घायल हुए थे, कई लोग चिल्ला रहे थे.'  






गौरतलब है कि हाल के दिनों में ब्रिटेन में इस तरह के हमले बढ़े हैं. 3 जून को हुए इसी तरह के हमले में 8 लोग मारे गए थे और 50 लोग घायल हुए थे. इस घटना में तीन आतंकियों ने लंदन ब्रिज पर पैदल चल रहे लोगों पर कार चढ़ा दी थी और इसके बाद गाड़ी को पास ही स्थित प्रसिद्ध बरो बाजार की तरफ ले गए और वहां मौजूद लोगों पर छुरे से हमला शुरू कर दिया था.

22 मार्च को एक व्यक्ति ने लंदन में वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर लोगों पर कार चढ़ा दी, जबकि एक पुलिसकर्मी को चाकू से मार डाला. इस हमले में कुल पांच लोग मारे गए.

वहीं 22 मई को एक आत्मघाती हमलावर ने पॉप सिंगर एरियाना ग्रांडे के कंसर्ट में 22 लोगों को मार डाला. एरियाना का कंसर्ट उत्तरी इंग्लैंड के मैनचेस्टर में हो रहा था.

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


Saturday, 17 June 2017

श्रीनगर : 5 पुलिसकर्मी शहीद , 3 आतंकियों के शव भी बरामद , एनकाउंटर जारी , जल्द आ सकती है कई आतंकियों के जहन्नुम पहुंचने की खबर -पूरी रिपोर्ट



श्रीनगर:
जम्मू कश्मीर में अनंतनाग जिले के बाहरी इलाके में आतंकवादियों ने शुक्रवार को एक पुलिस दल पर घात लगाकर हमला किया जिसमें अचबल क्षेत्र के एक थाना प्रभारी सहित छह पुलिसकर्मी शहीद हो गए. आतंकवादियों ने पहले तो पुलिसकर्मियों को काबू किया फिर उनके चेहरे पर करीब से गोली चलाई और उनके हथियार लेकर भाग गए.

पुलिसकर्मियों ने उनका बहादुरी से मुकाबला किया लेकिन वे आतंकवादियों के जाल को नहीं तोड़ पाए. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक यह घटना शुक्रवार शाम उस वक्त हुई जब 2010 बैच के एक उप निरीक्षक फिरोज अहमद डार अनंतनाग में अपनी ड्यूटी पूरी कर अचबल में पुलिस थाना जा रहे थे. वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अहमद सहित सभी छह पुलिसकर्मी मौके पर ही शहीद हो गए, इलाके में तलाश अभियान के लिए सेना बुलाई गई है.

लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू और निसार अहमद के शव भी बरामद

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग से सुरक्षाबलों ने शनिवार सुबह दोनों आतंकियों के शव बरामद किए हैं. दोनों आतंकियों को सुरक्षाबलों ने शुक्रवार को साउथ कश्मीर के बिजबहेड़ा इलाके में मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था. मरने वाले आतंकियों के नाम लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू और निसार अहमद था. पुलिस ने आतंकियों से दो एके-47 और छह मैग्‍जीन बरामद की हैं.

गौरतलब है कि शुक्रवार सुबह साउथ कश्मीर के बिजबहेड़ा इलाके में सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता हाथ लगी. सुरक्षा बलों ने लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू समेत दो आतंकियों को मार गिराया है. समझा जाता है कि इस बौखलाहट में आतंकियों ने पुलिस पार्टी पर हमला किया. अधिकारियों ने बताया कि एक घर में तीन आतंकवादियों के मौजूद होने की खुफिया सूचना मिलने के बाद सेना सहित सुरक्षा बलों ने अरवानी गांव के मलिक मोहल्ले में एक घर की घेराबंदी की थी जिसके बाद शुक्रवार सुबह मुठभेड़ शुरू हुई.


उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने सुबह आठ बजे घर की घेराबंदी की और दो घंटे तक इंतजार किया लेकिन 10 बजे घर से पहली गोली चली. अधिकारियों ने बताया कि पांच लोगों को पेलेट गन के छर्रे तब लगे जब उन्होंने आतंकवाद विरोधी अभियान में बाधा डालने की कोशिश की. पुलिस महानिदेशक एसपी वैद्य ने कहा कि पुलवामा निवासी उप निरीक्षक फिरोज सहित छह पुलिसकर्मियों को खोना एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. पुलिस सेवा को दिए गए उनके योगदान को याद रखा जाएगा.

हमले की जिम्मेदारी लश्कर-ए-तैयबा ने ली है :
पुलिस ने बताया कि पाकिस्तान आधारित लश्कर ए तैयबा ने हमले की जिम्मेदारी ली है. ऐसा लगता है कि वह अरवानी मुठभेड़ का बदला लेना चाहते था जिसमें उसका स्थानीय कमांडर जुनैद मट्टू मारा गया है. अरवानी मुठभेड़ स्थल घात लगा कर हुए हमले के स्थान से करीब 20 किमी दूर है. आतंकियों ने अनंतनाग के अच्छाबल में पुलिस पार्टी पर हमला किया. पुलिसकर्मियों पर हमले की जिम्मेदारी लश्कर-ए-तैयबा ने ली है.

इससे पहले 28 मई को पुलिस दल पर एक बड़ा हमला हुआ था जिसमें पांच पुलिस कर्मी और बैंक के दो गार्ड शहीद हो गए थे. इस घटना पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला सहित कई नेताओं ने प्रतिक्रियायें दी. उमर ने मौजूदा संकट के लिए सत्तरारूढ़ पीडीपी-भाजपा सरकार को दोषी ठहराया. माकपा नेता एम वाई तारिगामी और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जी ए मीर ने भी इस घटना को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा.

Tuesday, 13 June 2017

देशविरोधी नारेबाजी राजस्थान : BJP के वसुंधरा राजे सरकार में भी देशभक्तों पर भादी पड़ा देशद्रोह : दुखद Video ....






देशविरोधी नारेबाजी का वीडियो वायरल होने के बाद शहर में शनिवार को अशांति का माहौल रहा था । नारेबाजी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर विश्व हिंदू परिषद के तत्वावधान में निकाले जुलूस में कई संगठन शामिल हुए। जुलूस में लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए। कार्रवाई की मांग को लेकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम उत्तमसिंह शेखावत को ज्ञापन दिया।

विहिप नेताओं से एसडीएम और वृत्ताधिकारी नरसीलाल मीणा ने बातचीत की और दोषियों को शीघ्र गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। कुछ युवा बाजार बंद करवाने लगे। सीआई जितेंद्र चारण मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और हल्का बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ा। बाजार में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। वृत्ताधिकारी मीणा, एसडीएम शेखावत मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और दुकानें खुलवाई। एसडीएम, डीएसपी पुलिस चौकी में बैठे रहे। प्रमुख चौराहों मुख्य स्थानों पर पुलिस के वाहन मय जाब्ता तैनात किए गए। वहीं, एसपी परिस देशमुख का कहना है कि प्रारंभिक जांच के बाद चिराग (29) पुत्र अकरम पठान को गिरफ्तार किया गया है।

वीडियो की जांच की जा रही है। अन्य आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। शाम साढ़े 6 बजे कलेक्टर कुमारपाल गौतम और एसपी देशमुख डीडवाना पहुंचे और सीएलजी सदस्यों की बैठक ली। उन्होंने बताया कि शहर में स्थिति कंट्रोल में है। एसडीएम तहसीलदार ने भी गश्त की। शाम 6:30 बजे कलेक्टर कुमारपाल गौतम और एसपी परिस देशमुख डीडवाना पहुंचे और शांति समिति की बैठक ली।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



उल्लेखनीय है कि उत्तरप्रदेश के बिजनौर में एक महिला से दुराचार की घटना के विरोध में डीडवाना में एक समुदाय के लोगों ने 2 जून को ज्ञापन दिया था। इस दौरान भीड़ में कुछ असामाजिक तत्वों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद शुक्रवार को विहिप, आरएसएस, बजरंग दल, भाजपा, कांग्रेस मुस्लिम संगठन सहित अनेक लोगों ने विरोध जताया और एसडीएम को ज्ञापन दिया था। इस वीडियो में दिख रहा है कि जिस समय असामाजिक तत्व पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे , उस समय वहां खड़ी पुलिस मूकदर्शक बनी रही थी ।






जुलूस में विहिप के प्रदेश संगठन मंत्री ईश्वर सिंह, जिला मंत्री श्याम सुंदर स्वामी, आरएसएस के जिला संघचालक नारायण प्रसाद टाक, रामावतार सर्राफ, राजेंद्र माथुर, रामाकिशन खींचड़, राजेश डोडवाडिय़ा, शिवशंकर पारीक, मनोज बांगड़, निर्मल पारीक, सुरेश व्यास, रामावतार सोनी, विनोद दाधीच, हेमंत गौड़, डीडवाना प्रधान गुलाराम ढाका, मौलासर प्रधान जालाराम भाकर, पुरुषोत्तम पारीक, कमल गौड़, सुभाष गौड़ आदि मौजूद थे।

विडियो :

Monday, 12 June 2017

गांधी जी तो चोरी-छिपे मस्तराम की किताब पढने वाले मित्र के जैसे थे , अमित शाह ने चतुर बनिया कह कर सस्ते में छोड़ दिया : ज्ञानेंद्र कुमार






एक बार निहायत बोरिंग पैसेंजर ट्रेन की यात्रा के दौरान चलती ट्रेन से एक मैगजीन खरीदी, बेहद अश्लील किताब थी और लेखक थे मस्तराम मुसाफिर .बिहार के युवावर्ग में इस लेखक के अश्लील किताब की जबरदस्त डिमांड रहती है.। मेरे मतलब की नहीं थी ,इसलिये रूम पर पहुंचकर एक कोने में फेंक दी।

उन दिनों मैं बैचलर था और अपनी किराये के कमरे में रहता था। शाम को मेरा एक मित्र मुझसे मिलने आया... मेरा वो मित्र दोनों टाइम पूजा करने वाला, बेहद सात्विक और तीन बच्चों का पिता था। अगर हम लोग कभी किसी लड़की, हिरोइन अथवा सेक्स इत्यादि पर चर्चा कर उठते तो मेरा वो मित्र दोनों हाथों से कानों को ढक लेता और कहता राम राम आप लोग कैसी बातें कर रहे हैं। पूरी कम्पनी में वो अपनी शराफत के लिए मशहूर था।

तो जब मित्र रूम पर आया तो उसकी नज़र उस अश्लील किताब पर पड़ी और वो उसे उठा कर पढ़ने लगा। पढ़ते पढ़ते तीन घण्टा गुजर गये...वो एक शब्द नहीं बोला। मैंने उसकी तन्मयता देखकर उसको वो किताब उसे ले जाने के लिए कहा पर उसने कहा घर पर बच्चे हैं इसलिये नहीं ले गया। मेरा वो मित्र तीन दिन तक लगातार शाम को घर पर आता रहा और किताब पढ़ता रहा।तब मुझे अहसास हुआ कि मेरा वो मित्र सात्विक दिखना चाहता था, सात्विक था नहीं। यानि हाथी के खाने के दांत और दिखाने के और।


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



ठीक यही स्थिति गांधी जी की थी। गांधी चोरी छुपे जीवन का सारा आनन्द भी लेना चाहते थे और महात्मा भी कहलाना चाहते थे। सेक्स का आनन्द लेने के लिए उन्होंने ये तर्क दिया कि वो अपने ब्रम्हचर्य को नापना चाहते हैं कि उनमें किस हद तक संयम है। अगर उनको ब्रम्हचर्य ही नापना होता तो केवल एक ही रात सात नग्न लड़कियों के साथ सोकर मामला खत्म कर देना चाहिए? पर ये तो उनका नित्य का नियम बन गया था। अपनी वासनापूर्ति के लिए उन्होंने अपनी पोती तक को नहीं छोड़ा। जिन्होंने गांधी फिल्म को देखा होगा तो नोटिस किया होगा कि कस्तूरबा के साथ शादी करते वक्त वो शपथ लेते हैं कि उनका और बा का संबंध शारीरिक न होकर भावनात्मक होगा, तो ये राममोहन गांधी कहाँ से आये?

क्या गांधी जी बाबा रामदेव से बड़े योगी थे जो उनको ब्रम्हचर्य नापने की जरूरत पड़ी ? बाबा रामदेव ने तो कभी अपना ब्रम्हचर्य नहीं नापा ?





कुल मिलाकर गांधी जी महात्मा नहीं बल्कि वासना के पुजारी थे। योगी नहीं भोगी थे। मुस्लिम तुष्टिकरण के प्रथम नायक थे और केजरीवाल से भी ज्यादा धूर्त थे। क्या कोई महात्मा देश विभाजन के लफड़े में पड़ता है? पर गांधी न केवल पड़े, बल्कि पाकिस्तान को अधिकतम दिलाने के लिए आमरण अनशन तक पर बैठे। इन्होंने भारत को हानि देने के अलावा और कुछ नहीं किया। हम गांधी को राष्ट्र पिता और विश्वपिता ठहराने की चेष्टा करते हैं क्योंकि अब्राहम लिंकन की महानता से अनजान हैं।

अगर अमित शाह गांधी जी को चतुर बनिया कहते हैं तो बहुत सस्ते में छोड़ देते हैं।

कुमार ज्ञानेंद्र 

अजमेर : इस्लाम नहीं अपनाने पर मुस्लिमों नें आँखों में तेज़ाब डाल कर हत्या कर दिया , सेकुलर गैंग , मीडिया सहित बीजेपी के बिधायक और सरकार मौन ....






एक मेहरात को हिन्दू सम्राट का जश्न मनाना पड़ा महंगा, तेजाब डालकर हत्या, पुलिस दबा रही मामले को  ,  भाजपा के विधायक और सूबे में बीजेपी की सरकार होने के बावजूद कोई मदद को आगे नहीं आ रहे .

क्या सत्ता के नशे में बीजेपी भूल चुकी है की हिंदी , हिंदुत्व , हिन्दुस्तान की आवाज ?

या सेकुलर बनने के राह पर चल पड़ी है बीजेपी की राजे सरकार ?


राजस्थान में ब्यावर शहर के नजदीकी गांव कालादडा में माधोसिंह जाति मेहरात गत 6 जून 2017 को शहर से  सम्राट पृथ्वीराज चौहान की जयंती मना कर अपने गांव पहुंचा और शाम को जागरण का प्रोग्राम रखा। इससे गांव के कुछ नाखुश मुस्लिम विचारधारा के लोग और बाहर के मौलवी ने मिलकर 9/6/ 2017 की रात को ग्रामीण माधोसिंह को गांव से बाहर ले जाकर उसकी हत्या कर दी और पत्थर से उसका सिर फोड़ दिया और आंखों में तेजाब डाल कर उनकी हत्या कर दिया । घटना को अंजाम देकर उनके डेड बॉडी को गाँव के बाहर फेंक दिया गया ।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



आपको बता दे कि गांव के मुस्लिम विचारधारा के लोग मृतक के घर जब भी सत्संग या कोई भी धार्मिक प्रोग्राम होता तो मौलवी लोग इस के घर पर पत्थर फेंकते थे , और मुस्लिम धर्म अपनाने का दबाव बनाते तथा बात नही मानने पर जान से मारने की धमकी देते थे। इस बाबत जवाजा पुलिस थाने में भी तीन बार एप्लीकेशन देकर रिपोर्ट दर्ज करवा रखी है लेकिन जवाजा थाना में इंचार्ज रमजान खां मामले को रफा दफा करना चाहता है। इसलिए कोई ठोस कार्यवाही नही कर रहा।


इंचार्ज रमजान ने गाँव के मुस्लिम और मौलवियो से रुपए लेकर मामला ठंडा करना चाहता है। भाजपा विधायक शंकरसिंह रावत अपने क्षेत्र में वर्चस्व रखते है उनको पूरा मामला पता होने के बावजूद भी कुछ नही कर सक रहे है। उन्होंने कुछ फोन तो लगाए , कुछ करने में असमर्थ रहे ।

अब आपसे ही पीड़ित परिवार को उम्मीद है अतः आप सभी से अनुरोध है कि इस पोस्ट को इतना शेयर करे , बीजेपी की वसुंधरा राजे सरकार कार्रवाही करने पर मजबूर हो जाए  ,  कोई भी व्यक्ति हिन्दू धर्म का गल्ला न घोट सके और यह पोस्ट सीएम वसुंधरा राजे और प्रधानमन्त्री मोदी जी तक पहुंचे सके ।






ताकि कार्यवाही नही कर रहे जवाजा पुलिस इंचार्ज रमजान, ब्यावर एसडीएम पीयूष सामरिया, जिला कलेक्टर गौरव गोयल, एसपी राजेन्द्र सिंह और मालिनी अग्रवाल को कुम्भकर्ण की नींद से जगा सके और अपना धर्म निभा रहे मृतक माधोसिंह को न्याय मिल सके।साथ ही फिर कोई जबरन धर्म परिवर्तन करने का दबाव न बना सके।

आपको लगता है कि मृतक माधोसिंह मेहरात अपने धर्म को निभा रहा था और उसकी हत्या गलत हुई है तो अपने हिन्दूत्व का परिचय देते हुए देश के हर कौन तक यह पोस्ट पहुँचाओ , ताकि माधोसिंह के गुनहगारो को सजा मिल सके।

शेखर (अजमेर) : 9636222287 की रिपोर्ट

Saturday, 10 June 2017

भारतीय सेना ने किया 13 आतंकी ढेर ......

ABT Terrorist
भारतीय सेना को एक बार फिर से बड़ी जीत हासिल हुई है। सेना ने बीते शनिवार 10 जून को दावा किया है कि बीते 96 घंटों में उन्होंने 13 घुसपैठियों को मार गिराया है। सेना के अधिकारियों ने बताया कि इन घुसपैठियों में एलओसी के पास मार गिराया गया था। बता दें बीते कुछ दिनों से लगातार सेना जम्मू-कश्मीर में आतंकियों-घुसपैठियों से लौहा ले रही है। बीते शुक्रवार 9 जून को सेना और मिलिटेंट्स के बीच हुई मुठभेड़ में सेना ने 6 मिलिटेंट्स को मार गिराया था। यह मुठभेड़ उरी सेक्टर में हुई थी
10 जून को कश्मीर के गुरेज सेक्टर में भी सेना ने घुसपैठ की कोशिश नाकाम को नाकाम कर दिया था। सेना ने बांदीपुरा जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर घुसपैठ की कोशिश नाकाम करते हुए एक आतंकवादी को मार गिराया था। रक्षा सूत्रों ने बताया कि सेना ने गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर उस समय एक आतंकी को मार गिराया जब तीन-चार आतंकवादी भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। सेना ने जहां एक तरफ घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम किया वहीं दूसरी तरफ उसने पाकिस्तान द्वारा संघर्षविराम का उल्लंघन किए जाने का भी मुंह तोड़ जवाब दिया।
पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में भारत की अग्रिम सैन्य चौकियों और रिहायशी इलाकों में 10 जून की रात को भारी गोलीबारी की। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों ने कृष्णा घाटी में नियंत्रण रेखा के पार से मोर्टार बम फेंके और स्वचालित हथियारों से गोलीबारी की जिसका भारतीय जवानों ने भी कड़ा जवाब दिया। वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बताया, ‘‘पाकिस्तानी सेना ने कृष्णा घाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर साढ़े आठ बजे से छोटे हथियारों, स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी और 82 एमएम तथा 120 एमएम के मोर्टार के गोले फेंके।’’खबरों के अनुसार, पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के कृष्णा घाटी और बलनोई इलाकों में नियंत्रण रेखा पर रिहायशी आबादी और गांवों को भी निशाना बनाया। अधिकारियों के मुताबिक कुपवाड़ा जिले के माछिल और नौगाम सेक्टर, गुरेज और उरी सेक्टर में कुल 7 मिलिटेंट्स को मार गिराया गया। इन सभी जगह पर की कई घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम कर दिया गया। अभी तक कि इन घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम करने में 13 मिलिटेंट्स को मारा जा चुका है।

विज्ञान : कई महत्वपूर्ण प्रश्न एवं उत्तर , जिसे आपको जानना चाहिए ....


1.) आकाश का रंग नीला क्यों दिखाई देता है ?

सूर्य का श्वेत प्रकाश सात रंगों से मिलकर बना होता है
। हम प्रकाश को तरंग उर्जा का रूप मान सकतें हैं
जिसमें विभिन्न रंगों का तरंगदैध्य भिन्न-भिन्न होता है
।  इन्द्रधनुष में मौजूद सात रंगों में लाल रंग का सबसे अधिक और नीले व बैंगनी रंग का तरंग दैर्ध्य सबसे कम होता है । नीले रंग का बिखराव लाल रंग की अपेक्षा अधिक होता है जिसके कारण आकाश नीला दिखाई देता है , य्द्ध्पी छितिज की और नीला रंग कम होता जाता है , क्योंकि छितिज से आ रहे प्रकाश को वायुमंडल में अधिक दुरी तय करनी होती है जिसके कारण अधिक बिखराव होता है और नीला रंग कम होता जाता है

2.) ढलता हुआ सूरज हमें लाल क्यों नजर आती है ? 


जब सूरज ढल रहा होता है , तब रौशनी में मौजूद रंगों को हम तक पहुँचने के लिए काफी लम्बा रास्ता तय करना होता है
। इस दौरान वायुमंडल में मौजूद धुल के कणों से प्रकाश का प्रकीर्णन होता है ।नीले  रंग  का बिखराव कम तरंग दैर्ध्य के कारण सबसे अधिक होता है । नील रंग के बिखर जाने के बाद सिर्फ लाल और नारंगी रंग ही बचते हैं जो हमारी आँखों तक सीधे पहुंचतें हैं । और यही कारण है की सूर्यास्त के समय आसमान में लाल रंग होता है और सूरज भी लाल नजर आता है

3.) पानी में रखी पेन्सिल मुड़ी हुयी दिखाई क्यों देती है ?


पानी में कोई सीधी छडी तिरछी डाली जाय तो उसके डूबे हुए भाग का प्रत्येक बिंदु अपवर्तन के कारण अपनी वास्तविक स्थिति के ऊपर उठा हुआ दिखाई देता है
।  जिसमें पेन्सिल मुड़ी हुयी प्रतीत होती है । जब प्रकाश सघन माध्यम से वायरल माध्यम में प्रवेश करता है तो अपवर्तित किरण आपतित किरण की अपेक्षा अभिलम्ब से दूर हटती है । इसी कारण पानी में तिरछी रखी हुयी पेन्सिल मुड़ी हुयी दिखाई देती है 

4.) खटाई डालने पर दूध क्यों फट जाता है ?


पानी में दूध में जल , वसा , कार्बोहाइड्रेट तथा अकार्बनिक लवन होतें हैं
। केसिं नामक फास्फो प्रोटीन भी उपस्थित होता है । जब कोई अम्ल या खटाई दूध में मिलाई जाती है तो यह वासा तथा केसिन आपस में मिलकर थक्का बना लेता है , तथा पात्र की तली में बैठ जातें हैं । जल , कार्बोहाइड्रेट व लवन ऊपर तैरते रहते हैं इस क्रिया को हम दूध का फटना कहतें हैं

5.) पक्षी हवा में क्यों उड़ पातें हैं ?

पक्षियों में पंख होतें हैं जो अग्र्पाद के रूपांतरण होतें हैं
।इनकी हड्डियाँ खोखली तथा फेफडो में वायुकोष होतें हैं जो शारीर को हल्का बनातें हैं। इस प्रकार शरीर के हल्केपन तथा पंखों की सहायता से पक्षी हवा में सरलता से उड़ पातें हैं


ऐसी रोचल जानकारी और ब्रेकिंग न्यूज़ से खुद को जुड़े रखने के लिए लाइक करें "अखंड भारत टाइम्स"
फेसबुक पेज एवं Subscribe करें  Youtube चैनल :

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


केरला हाउस में होने वाले बीफ पार्टी की खबर से मोहौल गर्म .....

ABT Kerla House Delhi
भारत की राजधानी दिल्ली स्थित केरला हाउस में फिर से माहौल गर्म हो गया ,  तनाव की स्थिति बनी हुई है. भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.
 दरअसल दिल्ली पुलिस को केरल हाउस के एडिशनल रेजिडेंट कमिश्नर ने लेटर लिख कर सूचना दी कि एनसीपी के कुछ कार्यकर्ता केरल हाउस में बीफ पार्टी करने वाले हैं.इस सूचना के बाद दिल्ली पुलिस में हड़कंप मच गया. इसके बाद केरल हाउस के बाहर नई दिल्ली के डीसीपी और एसीपी समेत भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.इसके साथ ही एहतियातन जंतर मंतर से केरल हाउस की तरफ जाने वाले सभी रास्ते पुलिस ने बंद कर दिए हैं. 

Friday, 9 June 2017

बड़ा हादसा टला .. हेलिकोप्टर क्रैश हुआ..

Abt badarinath helicopter crash.
उत्तराखंड के बद्रीनाथ में हेलिकॉप्टर क्रैश होने से एक चीफ इंजीनियर की मौत हो गई है. ब्रदीनाथ से तीर्थयात्रियों को लेकर हरिद्वार जाने के दौरान हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इसमें सवाल दोनों पायलट घायल हैं और यात्री सुरक्षित हैं. हादसे के तुरंत बाद आला पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए और घायलों को अस्पताल ले जाया गया है. यह हेलिकॉप्टर मुंबई स्थित क्रिस्टल एविएशन कंपनी का बताया जा रहा है.
हेलिकॉप्टर ने शनिवार सुबह करीब सवा सात बजे बद्रीनाथ से उड़ान भरी थी और टेक ऑफ के तुरंत बाद ही यह जमीन पर आ गिरा. हादसा स्थल के पास ही बिजली के तार भी थे अगर यह चॉपर उससे टकरा जाता तो बहुत ज्यदा नुक्सान होने की अनुस्नका थी. राज्य के मुख्य सचिव एस रामास्वामी ने गढ़वाल के कमिश्नर विनोद शर्मा को दुर्घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं.जिला प्रशासन ने डीजीसीए को इस हादसे की जानकारी दे दी है. एसपी ‌तृप्ति भट्ट ने बताया कि हादसे के बाद बाहर निकलते वक्त हेलिकाप्टर के ब्लेड से कटने की वजह से इंजीनियर की मौत हो गई जबकि दोनों पायलट सामन्य रूप से घायल  हुए हैं. बाकी पांच यात्री सुरक्षित बताए जा रहे हैं. मृतक चीफ इंजीनियर का नाम विक्रम लांबा है. प्रशासन ने उनके परिजनों को हादसे के सूचना दे दी है.

इस्लामिक स्टेट ISIS कश्मीर में घुसने की फ़िराक में , तैयार किया ब्लू प्रिंट.....

abt isis
आतंकी संगठन ‘इस्लामिक स्टेट’ (ISIS) मुस्लिम बहुल जम्मू और कश्मीर राज्य को कैलफेट में तब्दील करने के कुत्सित गेमप्लान को अमली जामा पहनाने की कोशिश में जुटा है. इस संगठन के आतंकी आकाओं की तरफ से तैयार ब्लू-प्रिंट से कुछ ऐसा ही आभास होता है.
ISIS के ऐसे ही एक शैतानी मंसूबे से जुड़े दस्तावेज इंडिया टुडे के हाथ लगे हैं जो इस आतंकी संगठन  ने अशांत घाटी के लिए बना रखा है. उस घाटी के लिए जो पहले से ही पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI समर्थित आतंकवाद से त्रस्त है. ये दस्तावेज और कहीं नहीं इस्लामिक स्टेट के एक प्रकाशन का ही हिस्सा है. ये दस्तावेज हिमालयाई क्षेत्र में मार-काट का आह्वान करता है, जेहाद का महिमा-मंडन करता है, साथ ही आतंकी संगठन की ट्रेडमार्क पहचान उस नफरत को दर्शाता है जो वो लोकतांत्रिक शासन के खिलाफ हमेशा जताता रहता है. जहर और द्वेष से भरे पैराग्राफ्स की कड़ी में ISIS ने सेना के खिलाफ खतरनाक गुरिल्ला युद्ध भड़काने की भी कोशिश की है. आतंक के इस जरनल के एक पैरा में कहा गया है- ‘तुम एक मजबूत फौज से नहीं बल्कि मूर्तियों को पूजने वालों और गोमूत्र पीने वालों से लड़ रहे हो.’ आगे लिखा गया है- ‘ये सबसे कमजोर शक्तियां हैं. तुम्हें उन पर अवश्य हमला करना चाहिए. तुम्हें उन्हें घेर लेना चाहिए. उन्हें कत्ल कर दो. अगर आसमान तक भी उनका पीछा करना पड़े तो करो.
ऐसे खतरनाक उकसावे के साथ ही आतंकी संगठन ने उदारवादी इस्लाम और इसकी नरम सूफी जड़ों को भी घाटी से मिटाने का मंसूबा बना रखा है. ISIS शरिया कानून और आठवीं सदी के इस्लाम के मुताबिक कैलिफेट बनाने की अपनी रट में कहता है- ‘उन बुरे उलेमा को मार डालो जो अफवाहें फैलाते हैं. उनका कत्ले-आम करने के लिए अपने को प्रतिबद्ध करो.’
निचोड़ ये है कि ISIS का मंसूबा लोकतांत्रिक राज्य के सभी अंगों को जड़ से मिटाने के इर्द-गिर्द घूमता है. ये कट्टरवादी इस्लाम का आह्वान कर सुरक्षा बलों, राजनीतिक और धार्मिक प्रतिनिधियों और स्थापित कानून के राज को मिटाना चाहता है. आतंक के इस आठ पन्नों वाले ब्लू प्रिंट में लिखा है- ‘काफिरों ने कश्मीर को लंबे समय से कब्जाया हुआ है लेकिन कश्मीरी इन काफिरों के खिलाफ कभी शांत नहीं रहे हैं. उन्होंने हमेशा आजादी चाही है. हालांकि दुर्भाग्य से उन्होंने सही दिशा में सूत्रपात नहीं किया. राजनीतिक दलों और संगठनों ने उनकी कुर्बानियों से फायदा उठाया.’
ISIS का लेख फिर इस्लामिक स्टेट का गुणगान  करता है. साथ ही शोरगुल वाले कैलिफेट को सच्चे इस्लाम का इकलौता प्रतिनिधि होने का दावा करता है. लेख में कहा गया है- ‘इस्लामिक कैलिफेट पुनर्जागरण का गवाह है. इसने राजनीतिक दलों और संगठन का प्रभाव नगण्य कर दिया है. इस्लामिक कैलिफेट ने सही दिशा दिखाई है और मुस्लिमों को सच्ची आस्था की ओर ले गया है. बाकी दुनिया की तरह ही कश्मीर के लोग इस्लामिक कैलिफेट का उदय होते देखेंगे.’
ISIS कश्मीर में अपनी खुद की आतंकी फौज खड़ी करने के प्लॉट के हिस्से के तहत पाकिस्तान को भी नहीं बख्शता. लेख के एक पैरा में लिखा है- ‘भारतीय RAW और ISI के अधिकारियों और जासूसों की हत्या करो. उन्हें संदेह का लाभ मत दो. ये वो लोग हैं जिन्होंने अपने धर्म को बेचा, इसलिए ये अल्लाह से दंड पाने के हकदार हैं. उनके नाम मुस्लिम हो सकते हैं लेकिन उन्होंने शरिया को छोड़ दिया है जैसे कमान से तीर निकल जाता है.' अलगाववादियों के खाद-पानी वाली अराजकता से बढ़ावा पा कर आतंकवादी अपने कट्टर इस्लाम के ब्रैंड के जरिए पूरी घाटी को गहरे संकट में डालने की कोशिश कर रहे हैं. आतंकी कमांडर जाकिर मूसा और उसके संगठन तालिबान-ए-कश्मीर की ओर से अनुमानित जारी किए गए एक वीडियो में नकाबपोश आतंकियों को बंदूकों के साथ देखा जा सकता है. इन्हें युवाओं को पश्चिमी लाइफस्टाइल और पोशाक पहनने के लिए धमकाते भी सुना जा सकता है.
वीडियो फुटेज में एक आवाज सुनाई देती है- ‘कश्मीर के युवा जींस पहन रहे हैं. लड़कियां मेकअप का इस्तेमाल करती हैं. हम इनके पूरी तरह खिलाफ हैं. हम तुम्हारे बच्चों का कत्ल कर देंगे और तुम उनका भविष्य नहीं देख पाओगे. हम पूरे कश्मीर को तालिबान और जाकिर मूसा के नाम पर चेतावनी देते हैं.’ जाकिर मूसा ने हाल में कश्मीर के लिए शरिया को एकमात्र लक्ष्य घोषित किया है. पहले हिज्बुल मुजाहिदीन रह चुके मूसा ने हाल में अपना तालिबान-ए-कश्मीर ग्रुप बनाया है. समझा जाता है कि मूसा अपने साथ हिजबुल के एक दर्जन से अधिक आतंकियों को और तोड़ लाया है.
इस आतंकी सरगना ने उन कश्मीरी युवकों में कुछ हद तक अपनी पैठ बनाने में कामयाबी पाई है जो गूढ़ सूफीवाद को छोड़ कट्टर इस्लाम को तरजीह दे रहे हैं. उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक गूढ़ सूफीवाद की राज्य में अपील कम होती जा रही है. एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी ने बताया- ‘मूसा अपने पूर्व संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन से 12 से 15 काडर अपने संगठन ‘तालिबान-ए-कश्मीर’ में ले आया है. ये उसकी अधिक युवाओं को लुभाने और आतंकवाद की ओर धकेलने की कोशिश है.’
इंजीनियरिंग की पढ़ाई बीच में छोड़ आतंकी बनने वाले मूसा ने 10 मई को एक ऑडियो संदेश में हुर्रियत नेताओं के खिलाफ जंग छेड़ने का ऐलान किया. मूसा ने अलगाववादी नेताओं को लाल चौक पर ले जाकर सिर काटने की वकालत की. उसने साथ ही इस संदेश में व्यापक इस्लामी कैलिफेट के लिए समर्थन जताते हुए हिज्बुल मुजाहिदीन से अलग रास्ता पकड़ने की बात भी कही.

तारिक फ़तेह पर होने वाला था दिल्ली में आतंकी हमला , छोटा सकिल आतंकी नेटवर्क बनाने के फ़िराक में .....

ABT chhota shakil

 अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की कम्पनी डी कम्पनी दिल्ली में दे सकती है दस्तक ,जुनैद चौधरी नाम के एक शख्स को पकडे जाने से हुआ खुलासा . मशुहुर पाकिस्तानी लेखक तारिक फ़तेह भी थे निशाने पर .



मोस्ट वॉन्टेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और उसका खास गुर्गा छोटा शकील देश की राजधानी दिल्ली में बदमाशों की एक नई फौज खड़ी करना चाहता है. उनका मकसद राजधानी में दहशत का माहौल पैदा करना है. दहशत फैलाने के लिए डी कंपनी ने दिल्ली में अपराधियों की एक नई फौज खड़ी की है. जिसका खुलासा छोटा शकील के गुर्गे के पकड़ में आने के बाद हुआ है.
इस संबंध में भारतीय जांच एजेंसियों को लगातार मिल रहे इनपुट के बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने डॉन के तमाम गुर्गों पर कड़ी नजर रखनी शुरु की ही थी कि तभी एक  खुलासा हुआ. प्लान दिल्ली एनसीआर में धार्मिक लोगों को निशाना बनाने का था.
पुलिस को पता चला की छोटा शकील ने हवाला के जरिए लाखों रुपये दिल्ली के किसी शख्स को भेजे हैं. पुलिस ने इस इनपुट को डेवलप किया और फिर रेड कर जुनैद चौधरी नाम के एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया. जुनैद ने पूछताछ में खुलासा किया की वह दाऊद इब्राहिम के करीबी छोटा शकील के संपर्क में था.
इसी दौरान छोटा शकील ने जुनैद को इस्लामिक स्कॉलर तारीक फतेह को निशाना बनाने के लिए कहा था. इस काम को अंजाम देने के लिए उसे हवाला के जरिए करीबन ड़ेढ़ लाख रुपये भेजे गए थे.
बता दें कि दिल्ली पुलिस ने एक साल पहले जुनैद समेत तीन और लोगों को डी कंपनी के लिए काम करने और स्वामी चक्रपाणी की हत्या की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया था. दरअसल स्वामी ने दाऊद इब्राहिम की कार निलामी में खरीद कर उसे गाजियाबाद के पास जला दिया थास्वामी के इस कारनामें के बाद दाऊद और छोटा सकिल काफी गुस्से में थे. दोनों ने मिलकर स्वामी को मारने की साजिश रची थी. लेकिन वक्त रहते ही स्पेशल सेल ने डॉन का प्लान फेल कर दिया था. उस आरोप में जुनैद जेल में बंद था. कुछ माह पहले ही वह जमानत पर जेल से बाहर आया था. जेल से बाहर आते ही जुनैद ने नए सिरे से शकील से संपर्क साधा. फिर योजना बनाई गई कि दिल्ली में ताबड़तोड़ हत्या कर दहशत का माहौल कायम किया जाए. लेकिन उससे पहले जुनैद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. जुनैद ने खुलासा किया दिल्ली में डी कंपनी की नई टीम में उसके अलावा और भी कई लोग शामिल हैं. जिनकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है..

Thursday, 8 June 2017

पंजाब में कांग्रेस की सरकार रहते हुए भी किसानों ने किया खुदकुशी , अब मौन क्यों है कांग्रेस .....


महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के बाद किसान आंदोलन की आग अब पंजाब पहुंच गई है। कर्ज माफी को लेकर किसान एकजुट होने शुरू होने गए हैं। भारतीय किसान यूनियन के नेताओं ने चंडीगढ़ में मीटिंग की, जिसमें उन्होंने मांग की है कि उनके कर्ज को माफ किया जाए।

पंजाब के मालवा इलाके में आज किसानों ने हड़ताल की है। मीटिंग में ये भी तय किया कि 10 जून को देश के दूसरे किसान संगठनों के साथ एक मीटिंग दिल्ली में की जाएगी और उसके बाद 12 जून से पंजाब में भी किसानों के कर्ज माफी के मुद्दे को लेकर आंदोलन शुरू किया जाएगा। किसानों के आंदोलन को देखकर साफ है कि पंजाब की कांग्रेस सरकार के लिए आने वाले समय में बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है।

वहीं पंजाब में भी 2 किसान की सुसाइड की खबर आई है। फतेहगढ़ साहिब में कर्ज से डूबे दो किसानों ने आत्महत्या कर ली है। एक किसान ने नहर में छलांग लगाकर जान दे दी तो दूसरे किसान ने अपने खेत में फांसी लगाकर जान दे दी।


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



सीबीआई कोर्ट ने जारी किया है समन , पेशी के लिए रांची पहुंचे "लालू यादव और जगन्नाथ मिश्र" ...

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव शुक्रवार सुबह चारा घोटाले मामले में पेशी के लिए रांची पहुंच गए हैं। लालू यादव केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) की एक विशेष अदालत में पेश हुए। इस दौरान उनके साथ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र भी अदालत में पहुंचे।


सीबीआई की अदालत द्वारा जारी किए गए समन के बाद लालू अदालत में पेश होने के लिए गुरुवार रात को ही रांची पहुंच गए थे। आज वे विशेष अदालत में पेश हुए।


बता दें कि लालू यादव के ऊपर देवगढ़ निधि से धोखाधड़ी से 95 लाख रुपये निकालने संबंधी एक मामले में विशेष अदालत ने समन जारी किया था। यह समन मई में सुप्रीम कोर्ट द्वारा झारखंड उच्च न्यायालय के निर्णय को अलग करते हुए जारी किया गया था।

समन में कहा था कि लालू और विभिन्न मामलों में दोषी ठहराए गए अन्य को अलग अलग मुकदमों का सामना करना होगा। चारा घोटाले के पांच मामलों में एक में लालू को दोषी ठहराया गया है और पांच साल जेल की सजा सुनाई गई है। फिलहाल वे जमानत पर जेल से रिहा हैं।

900 करोड़ रुपये का यह चारा घोटाला 1990 के दशक में उस समय सामने आया था, जब लालू बिहार के मुख्यमंत्री थे। ज्यादातर मामले तत्कालीन क्षेत्र अविभाज्य बिहार के झारखंड में हुए थे।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


दिल्ली : कपिल मिश्रा को जनता दरबार में केजरीवाल से मिलने नहीं दिया गया , इतने डरे हुए क्यों हैं केजरीवाल , पूरी खबर .....


पुलिस ने दिल्ली के बर्खास्त मंत्री कपिल मिश्रा को मुख्यमंत्री केजरीवाल के जनता दरबार जाने से रोक दिया है. जनता दरबार में जाने की खबर के बाद से उनको रोकने के लिए भारी पुलिस बल तैनात किया गया था. पुलिस ने जब कपिल मिश्रा को जनता दरबार में जाने से रोक दिया, तो उन्होंने अपने समर्थकों के साथ गीत गाना शुरू कर दिया. पुलिस ने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल के घर पर भी सुरक्षा कड़ी कर दी है.

इससे पहले चार जून को दिल्ली में कांस्टिट्यूशनल क्लब में दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री और विधायक कपिल मिश्रा ने इंडिया अगेंस्ट करप्शन आंदोलन पार्ट-2 की शुरुआत की थी.


कपिल ने इस मौके पर इंडिया अगेंस्ट करप्शन और अन्ना आंदोलन से जुड़े कई कार्यकर्ताओं को आमंत्रित किया था. कपिल ने अपने भाषण की शुरुआत केजरीवाल को डाकू खड़ग सिंह बताते हुए की थी और बाद में ऐलान किया कि कपिल ने केजरीवाल पर सर्जिकल स्ट्राइक की है. मालूम हो कि कपिल मिश्रा अरविंद केजरीवाल सरकार पर लगातार एक के बाद एक घोटाले का आरोप लगा रहे हैं.

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर की गिरफ्तारी के बाद सहारनपुर में इंटरनेट बंद







भीम आर्मी
के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ऊर्फ रावण को गिरफ्तार किए जाने के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में दो दिनों के लिए इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।

सहारनपुर में हुई जातीय हिंसा के बाद पुलिस को चंद्रशेखर की तलाश थी। उत्तर प्रदेश एसआईटी ने उन्हें हिमाचल के डलहौजी से गिरफ्तार किया है।


गिरफ्तारी से कुछ दिनों पहले ही चंद्रशेखऱ ने एक न्यूज एजेंसी के साथ बातचीत में आत्मसमर्पण का वादा किया था। उन्होंने कहा था कि अगर उत्तर प्रदेश पुलिस सहारनपुर हिंसा के दौरान हिरासत में लिए गए 37 निर्दोष दलितों को रिहा करती है तो वह पुलिस के समक्ष गिरफ्तारी देने के लिए तैयार हैं।

चंद्रशेखर पर 12 हजार रुपये का इनाम रखा गया था। चंद्रशेखर सहारनपुर हिंसा के आरोपियों को गिरफ्तार किए जाने की मांग को लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर रैली कर चुके हैं। हालांकि इस रैली के दौरान उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया था।







चंद्रशेखर ने उत्तर प्रदेश पुलिस पर सहारनपुर हिंसा के दोषियों को बचाने का आऱोप लगाया है। उन्होंने कहा था कि योगी सरकार के सत्ता में आने के बाद से राज्य में दलितों पर हिंसा बढ़ी है।

पाक, चीन और अलगाववादियों से एक साथ निपट सकती है सेना : बिपिन रावत (आर्मी चीफ)







नई दिल्ली: 
सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि भारत एक साथ ढाई मोर्चे (चीन, पाकिस्तान और आंतरिक सुरक्षा) पर युद्ध लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है। जम्मू-कश्मीर की स्थिति को लेकर उन्होंने कहा कि राज्य में जल्द ही हालात सुधर जाएंगे।


मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, 'कश्मीर में हालात में सुधार होगा।' जनरल रावत ने पाकिस्तान पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य के युवाओं को सोशल मीडिया प्रॉपेगैंडा के जरिए भरमाने की कोशिश की जा रही है। रावत का बयान ऐसे समय में सामने आया है जब नियंत्रण रेखा पर भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है। वहीं कश्मीर के आंतरिक हालात भी विस्फोटक बने हुए हैं।



आर्मी चीफ ने कहा, 'पाकिस्तान सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके कश्मीरी युवाओं में गलत सूचना फैला रहा है।' उन्होंने कहा कि पाकिस्तान राज्य में अव्यवस्था फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहा है।

उन्होंने कहा, 'छेड़छाड़ वाले वीडियो के जरिए पाकिस्तान राज्य के युवाओं को बरगला रहा है। इसमें पाकिस्तान को राज्य के कुछ लोगों का साथ भी मिल रहा है।' उन्होंने कहा कि ऐसे संदेशों में आंतकी संगठन में शामिल होने वाले युवाओं के बारे में बखान किया जा रहा है।





सेना के आधुनिकीकरण को लेकर जनरल रावत ने कहा कि इसकी तैयारी साथ-साथ की जा रही है। उन्होंने कहा, 'हम आधुनिकीकरण का मुद्दा सरकार के सामने उठाते रहते हैं और अभी सेना के शस्त्रागार को अपग्रेड किया जा रहा है।'

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


Sunday, 4 June 2017

कश्मीर : सीआरपीएफ कैंप पर आत्मघाती हमले की कोशिश , चार आतंकवादी मारा गया ...

जम्मू-कश्मीर के बांदिपुरा जिले में सोमवार को आतंकवादियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 45वीं बटालियन के कैम्प पर आत्मघाती हमला करने की कोशिश की। सुरक्षा बलों की कार्रवाई में चार आतंकवादी मारे गए। मारे गए आतंकवादियों के पास से सुरक्षा बलों को भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद मिले हैं। सीआरपीएफ के सब-इंस्पेक्टर योगेश कुमार ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि ये हमला सोमवार तड़के 3.30 बजे हुआ।


सीआरपीएफ के जिस 45वीं बटालियन कैम्प पर हमला हुआ है वो बांदिपुरा के संबल में स्थित है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के अनुसार मारे गए चारों आतंकवादिोयं के पास से एके राइफल, ग्रेट इत्यादि मिले हैं। मारे गए आतंकवादियों के पास से सुरक्षा बलों को पेट्रोल भी मिला है। पुलिस के अनुसार आतंकवादी सीआरपीएफ कैम्प में आग लगाना चाहता थे।


पिछले साल सितंबर में कश्मीर के उरी में स्थित भारतीय सेना के ब्रिगेड मुख्यालय पर हुए आतंकवादी हमले में 19 जवान मारे गए थे। ज्यादातर जवानों की मौत कैम्प में आतंकवादियों द्वारा लगायी गयी आग की चपेट में आ जाने के कारण हुई थी। उही हमले में शामिल चार आतंकवादी सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में मारे गए थे। उरी  हमले के बाद भारत द्वारा नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर  में की गई सर्जिकल स्ट्राइक में कई आतंकवादी मारे गए थे और उनके ठिकाने भी नष्ट कर दिए कर दिए गए थे।

कश्मीर में पिछले साल जुलाई में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकवादी बुरहान वानी के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से हिंसा जारी  है। पिछले एक साल में कश्मीर में एक दर्जन से ज्यादा आतंकवादी हमले हो चुके हैं। वहीं पाकिस्तान द्वारा दो दर्जन से ज्यादा बार सीजफायर का उल्लंघन किया जा चुका है।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


Video's :

Loading...
 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Concept By mithilesh2020 | Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution