BREAKING NEWS

Politics (राजनीति)

Sports (खेल-खिलाड़ी)

International (अंतरराष्ट्रीय)

Tuesday, 25 April 2017

बिहार : एक ऐसा स्कूल जहाँ आये दिन "चाकूबाजी" , मर्डर तो कभी किडनैपिंग होते रहते हैं , लेकिन फिर भी प्रशासन सोई हुयी है ......








लखीसराय (बिहार) : श्री गोविन्द भविष्य भारती स्कूल
, जहाँ आये दिन सुनने को मिलते रहतें हैं , कभी स्कूल के ही क्षात्र दुसरे क्षात्र को चाकू मार दिया .

2.) तो कभी स्कूल के छात्र का शव , स्कूल के नजदीक मिलता है , शव मिलने के बाद रिपोर्ट सामने आती है की क्षात्र को तकिये से या किसी और चीज से नाक दवा कर हत्या की गयी है .

3.) तो कभी किसी लड़के को स्कूल से भाग जाने की खबर आती है .

4.) तो अब खबर आ रही है की एक 9 साल का बच्चा स्कूल से बिगत 15 दिनों से गायब है . बच्चे के परिवार परेशान हैं तो वहीँ स्कूल के डायरेक्टर पंकज सिंह ने इन सभी बातों से इनकार करते हुए कह्रते हैं की मुझे इसकी जानकारी नहीं है क्योंकि ये बच्चा पिछले 15 दिनों से स्कूल आया ही नहीं है .





इस तरह से स्कूल का ऐसा व्यवहार से बच्चे के परिवार काफी परेशान है , डरे और सहमे हुए हैं .

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



उनकी मांग है इस स्कूल की जाँच की जानी चाहिए आये दिन ऐसी घटनाएं क्यों घटती रहती है . जिलाधिकारी से भी मांग है की ऐसे स्कूल को तत्काल बंद कराया जाय .

लेकिन प्रशासन सोयी हुयी है , कोई पीड़ित परिवार की सुध लेने वाला तक नहीं है . इसके कारण ये हैं की डायरेक्टर महोदय श्री पंकज सिंह का सत्ता पक्ष के पार्टी में अपना एक अलग पहचान और पकड़ है .

लेकिन इसके बावजूद "अखंड भारत टाइम्स परिवार" इसके लिए आवाज उठाएगी और पुलिस प्रशासन और सरकार से भी सवाल पूछे जायेंगे .

इस स्कूल के इन घटनाओं पर एक विशेष रिपोर्ट आपसे साझा भी करेंगे , हर पहलु पर भी बात करेंगे फ़िलहाल वर्तमान घटना पर नजर बनी हुयी है , पीड़ित परिवार से भी रूबरू करायी जायेगी , ताकि उनको जस्टिस मिल सके और इन सभी घटनाओं पर तत्काल कार्रवाही की जा सके .

"साध्वी प्रज्ञा ठाकुर" को बॉम्बे हाईकोर्ट से मिली जमानत , जल्द होंगी जेल से बहार










2008 के मालेगांव धमाका केस में बॉम्बे हाईकोर्ट से साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को जमानत मिल गई है। हालांकि इस मामले में कोर्ट ने कर्नल पुरोहित को जमानत देने से इंकार कर दिया। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को 5 लाख रुपए की जमानत राशि और अपना पासपोर्ट NIA को जमा कराना होगा। साथ ही ट्रायल कोर्ट में हर तारीख पर पेश होना होगा। 2008  में हुए मालेगांव धमाके में 7 लोगों की मौत हो गई थी। साध्वी प्रज्ञा पर भोपाल, फरीदाबाद की बैठक में धमाके की साजिश रचने के आरोप लगे थे। प्रज्ञा ठाकुर के वकील ने बताया कि फरीदाबाद की बैठक में साध्वी के जाने के सबूत नहीं मिले।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


उनके वकील ने कहा, “साध्वी प्रज्ञा के मामले में कोर्ट ने पाया है कि NIA की जांच के बाद जो चार्जशीट दायर की गई उसके हिसाब से साध्वी के खिलाफ कोई केस नहीं बनता। हालांकि प्रसाद पुरोहित की जमानत याचिका कोर्ट मे खारिज कर दी।” वकील ने कहा, “साध्वी प्रज्ञा पर आरोप था कि धमाके में उनके स्कूटर का इस्तेमाल किया गया। जबकि उनका स्कूटर 2004 में ही बेच दिया गया था, जिसके सबूत भी हैं। एक अन्य आरोप था ”

लगभग 2 दर्जन मुस्लिम परिवार का पुरे विधि-विधान के साथ हुआ घर वापसी , हर-हर महादेव के ....





up-more-than-one-dozen-of-muslims-converts-into-hindu-in-faizabad

उत्तर प्रदेश के फैजाबाद में एक दर्जन से ज्यादा लोगों ने मुस्लिम धर्म छोड़कर फिर से हिंदू धर्म अपनाया है। सभी परिवारों को वैदिक हिन्दू धर्म अपनाने की धार्मिक प्रक्रिया पूरी कराई गई। ‘घर वापसी’ करने वालों मुस्लिमों को आर्य समाज और संघ के एक नेता द्वारा आयोजित विशेष पूजन के बाद हिंदू धर्म में वापस शामिल किया गया। आर्य समाज और संघ के नेता का दावा है कि सभी लोगों ने अपनी मर्जी से हिंदू धर्म अपनाया है, उन पर किसी भी तरह का दबाव नहीं डाला गया है।

यह मामला रविवार का बताया जा रहा है। अंबेडकरनगर जिले के आलापुर क्षेत्र निवासी दर्जन भर से ज्यादा मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हिंदू धर्म अपना लिया। यही नहीं इन लोगों का हिंदू नाम भी रखा गया है। हालांकि सुरक्षा कारणों से इन लोगों के नाम को उजागर नहीं किया गया है।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


आर्य समाज के प्रधान हिमांशु त्रिपाठी के मुताबिक आर्य समाज संस्थापक महर्षि दयानंद सरस्वती के पद्चिन्हों पर चलते हुए परम पिता परमेशिवर की प्रेरणा से बिना किसी लोभ, भय अथवा दबाब के एक दर्जन से अधिक लोगों ने पूर्ण वैदिक विधि-विधान के साथ विशेष यज्ञ पूजन पूर्वक समाज के सम्मानित सदस्यों की उपस्थिति में वैदिक हिंदू धर्म को पुन: अंगीकार कर लिया है। वैदिक विधि-विधान का कार्यक्रम आचार्य शर्ममित्र शर्मा ने सम्पन्न कराया। यज्ञ सम्पन्न होने के वैदिक हिन्दू बने मुस्लिम परिवारों ने प्रसाद ग्रहण किया , हर-हर महादेव , जय श्री राम के नारे भी लगाये





मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक मुस्लिम परिवार के मुखिया का कहना है कि उन्होंने बिना किसी दबाव के हिंदू धर्म स्वीकार किया है। उन्होंने यह भी कहा कि उनके पूर्वज हिंदू थे, लेकिन कुछ लोगों ने दबाव डालकर उनके परिवार को मुस्लिम बना दिया। अब उन्होंने दोबारा हिंदू धर्म में लौटने का फैसला किया है।

Friday, 21 April 2017

कांग्रेस के सपनों को साकार करने उतरा आतंकी संगठन , अलर्ट जारी , कांग्रेस और आतंकी संगठनों .......






यूपी में आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकियों के गिरफ्तारी के बीच खबरें आ रही है कि आतंकी राज्य में किसी बड़ा घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। आतंकी संगठनों ने युवाओं की टीम को साधु और तांत्रिक के वेश में ट्रेंड (प्रशिक्षित) करके यूपी में भेजा है। इनके निशाने पर धार्मिक स्थल समेत कई प्रतिष्ठान है। मध्य प्रदेश इंटेलिजेंस यूनिट से जानकारी मिलने के बाद सभी जोन के आईजी, रेंजों के डीआईजी और पुलिस कप्तान समेत एसीपी रेलवे को अलर्ट कर दिया गया है। इसके साथ ही धार्मिक स्थलों समेत महत्वपूर्ण स्थलों की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इनके निशाने पर धार्मिक नगरी मथुरा, काशी, अयोध्या के अलावा रेलवे स्टेशन और भीड़-भाड़ वाले इलाके हो सकते हैं।





नवभारत टाइम्स ने एमपी इंटेलिजेंस यूनिट से मिले इनपुट्स के आधार पर लिखी खबर में बताया कि आतंकी वारदात के लिए 17-18 साल के लड़कों को हिंदू रीति-रिवाजों की ट्रेनिंग देकर यूपी में भेजा गया है। ये लोग साधु और तांत्रिकों के वेश में रहते हैं। इसके अलावा इन्होंने हिंदू आबादी वाले क्षेत्रों में अपना ठिकाना भी बना लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) ने अपने एजेंटों को हिंदू रीति-रिवाज का प्रशिक्षण देकर हिंदू आबादी वाले क्षेत्रों में प्रवेश कराने के लिए ऑपरेशन कृष्णा की शुरुआत की थी। इसे उसी अभियान का हिस्सा माना जा रहा है।

"हिन्दू आतंकवाद" के जरिये केंद्र सरकार को घेरने के चक्कर में कांग्रेस पार्टी इसलिए भी है , क्योंकि हिन्दू आतंकवाद के जन्मदाता भी कांग्रेस के दिग्गी राजा और सिंदे ही हैं . मुंबई हमले में भी हमले के दौरान ही ये दोनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता होते हुए भी "हिन्दू आतंकवाद" को सिद्ध करने की कोशिश कर चुके हैं . ध्यान देने योग्य बात ये है की उस हमले में मारे गए सभी आतंकी के हाथ में कलावा बंधा पाया गया था , इसलिए ये कहने में कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी की कांग्रेस अपने स्वार्थ के लिए आतंकी संगठन का साथ लेती रही है . लेकिन अभी तक हिन्दू आतंकवाद को सिद्ध करने में कांग्रेस और आतंकी पूरी तरह से असफल रही है .

इसलिए फिर से 2019 के चुनाव को ध्यान में रखते हुए "हिन्दू आतंकवाद" के जरिये केंद्र सरकार को घेरने की तैयारी भी हो सकती है . इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता .


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


बता दें कि हाल ही में हुए भोपाल-उज्जैन ट्रेन हादसे में भी आतंकी वारदात की बात सामने आई थी। जिसके बाद एमपी पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया था , इनके तार इस्लामिक स्टेट (IS) से जुड़े होने की खबरें आई थीं। एमपी पुलिस से मिले इनपुट्स के आधार पर यूपी एटीएस ने कानपुर और उन्नाव में छापेमारी की और संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं, लखनऊ में 12 घंटे के ऑपरेशन के बाद संदिग्ध आईएसआईएस आतंकी सैफुल्लाह को मार गिराया गया था। यूपी के आतंकरोधी दस्ते की ओर से बताया गया था कि मारा गया संदिग्ध सैफुल्लाह आईएसआईएस के खुरासन मॉड्यूल से ताल्लुक रखता था।

भारत को मिली फिर धमकी , चीनी मिडिया ने कहा खेल खेलना बंद करे भारत.....

xi jinping ABT
भारत को मिली फिर धमकी , चीनी मिडिया ने कहा खेल खेलना बंद करे भारत नही तो चुकानी होगी भारी कीमत 
पड़ोसी देश चीन की मीडिया ने भारत पर फिर से हमला बोला है। चीनी मीडिया ग्लोबल टाइम्स में अरुणाचल प्रदेश के मुद्दे का जिक्र करते हुए भारत को महंगे परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है। लेख में लिखा गया है कि भारत ने धर्म गुरु दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश की यात्रा की अनुमति देकर अच्छा नहीं किया और उसको इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे और भारी कीमत चुकानी होगी। लेख में लिखा गया है, ‘वक्त आ गया है कि भारत सोचे कि हमने साउथ तिब्बत (अरुणाचल प्रदेश) की कुछ जगहों के नामों को क्यों बदल दिया। दलाई लामा कार्ड खेलना भारत के लिए सही रणनीति नहीं होगा। अगर भारत आगे भी ऐसे भद्दे खेल खेलता रहना चाहता है तो फिर अंत में उसको भारी कीमत चुकानी होगी।’
इससे पहले चीन ने अपने पास मौजूद नक्शे पर अरुणाचल प्रदेश की कुछ जगहों के नाम बदले थे। उसपर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। भारत की तरफ से मंत्री वेंकैया नायडु ने कहा था कि अरुणाचल प्रदेश का एक-एक इंच हमारा है।
लेख में मीडिया ने चीन को सबसे ताकतवर देश बताया है। लेख में लिखा गया, ‘भारत अपने आपको चीन से मापने का हठ करता रहता है। लेकिन बॉर्डर के मामले इससे हल नहीं होते कि कौन कितना शक्तिशाली है, वर्ना चीन को भारत से बात करने के लिए किसी मेज पर बैठने की जरूरत ही नहीं पड़ती।’

ऑनलाइन शोपिंग करने वालो के लिए दुखद , फ्लिपकार्ट ने जारी किया नया नियम ......


देश की बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों में से एक फ्लिपकार्ट ने पैसा रिफंड करने की अपनी पॉलिसी में बदलाव किया है। अब फ्लिपकार्ट सभी प्रॉडक्ट्स पर रिफंड नहीं देगी। अगर आप अब फ्लिपकार्ट से मोबाइल एक्सेसरीज, पर्सनल केयर अप्लायंसेज, कंप्यूटर और कैमरा एक्सेसरीज, ऑफिस उपकरण और स्मार्ट वियरेबल्स खरीदते हैं तो रिफंड नहीं मिलेगा। इसके अलावा महंगे सामानों में फर्नीचर, मोबाइल फोन और बड़े अप्लायंसेज जैसे फ्रिज, वॉशिंग मशीन आदि की सभी सेल फाइनल होंगी इनका रिफंड नहीं मिलेगा। कंपनी का कहना है कि उसने अपने वेंडर्स की परिचालन लागत को कम करने के लिए यह फैसला लिया है। कंपनी की वेबसाइट पर जारी रिफंड पॉलिसी के मुताबिक, ‘इन प्रॉडक्ट्स की सभी सेल फाइनल हैं। रिफंड नहीं किया जाएगा।’
कंपनी के इस कदम का वेंडर्स ने स्वागत किया है, जबकि कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि इससे फ्लिपकार्ट को नुकसान हो सकता है। इससे फ्लिपकार्ट सेल पर फर्क पड़ेगा, क्योंकि ज्यादातर लोग उसकी अच्छी रिफंड पॉलिसी के चलते ही उसके जरिए शॉपिंग करते थे। ई-कॉमर्स इंडस्ट्री के एक अधिकारी ने बताया, फ्लिपकार्ट की नई रिफंड पॉलिसी कुछ अच्छी है और ज्यादा बुरी है। इससे अस्थायी रूप से परिचालन लागात में कमी आएगी, लेकिन लंबे समय में ग्राहकों के दूर होने का भी खतरा है।
हालांकि फ्लिपकार्ट के एक प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी अब भी ग्राहकों के अनुकूल रिफंड पॉलिसी ही अपना रही है। प्रवक्ता ने कहा, ‘कंपनी की ओर से ऑफर किए जा रहे 1,800 प्रॉडक्ट्स में से ग्राहक 1,150 प्रॉडक्ट्स पर सेल्फ सर्विस ऑप्शन के जरिए रिफंड का अनुरोध कर सकते हैं। कुल मिलाकर सामान के सभी वर्गों में से दो तिहाई पर फ्लिपकार्ट की रिफंड पॉलिसी लागू है। हर दिन फ्लिपकार्ट 25,000 रिफंड करता है, इनमें भी 60 फीसदी मामलों में रिफंड तत्काल हो जाता है।
जानिए ये है फ्लिपकार्ड की नया रिटर्न पॉलिसी :

अगर डि‍लि‍वरी के बाद 10 दि‍न के अंदर समान खराब निकलता है तो बि‍ना कि‍सी फीस के वैसा ही दूसरा प्रॉडक्ट दिया जाएगा। अगर प्रॉडक्‍ट स्‍टॉक में नहीं है या उसे हमेशा के लिए बंद कर दि‍या गया है तो केवल उन्हीं मामलों में प्रॉडक्‍ट या पार्ट का रिफंड सेलर की ओर से दि‍या जाएगा। स्‍मार्टफोन में अगर कोई दि‍क्‍कत आती है तो पहले ट्रबलशूट के जरि‍ए मदद की जाएगी। वहीं, 30 दि‍न की एक्‍सचेंज विंडो चुनिंदा कैटेगरीज जैसे कपड़े, जूते चप्पल, आईवि‍यर और फैशन एक्सेसरीज के लि‍ए है।

13 मई से हो सकता है , तीसरा विश्व युद्ध आरम्भ , ट्रंप के ........

13 मई से हो सकता है , तीसरा विश्व युद्ध , ट्रंप के राष्ट्रपति बनने की भविष्यवाणी करने वाले ने किया दावा
              

रूस, अमेरिका और सीरिया के बीच काफी तनाव बढ़ने के बाद लोग परमाणु युद्ध की आशंका से डरे हुए हैं। इसी बीच जिस शख्स ने डोनाल्ड ट्रंप के जीतने की भविष्यवाणी की थी, उसने तीसरा विश्व युद्ध शुरू होने की सटीक तारीख बताई है। यह शायद सबके लिए किसी झटके से कम नहीं है, लेकिन क्लेयरवायंट होरोसिओ विलगैस के मुताबिक दुनिया इस भयावह युद्ध के मुहाने पर खड़ी है। डेली स्टार में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक स्वयंभू विलगैस ने 2015 में डोनाल्ड ट्रंप के जीतने की भविष्यवाणी की थी। उन्होंने कहा  कि तीसरे विश्व युद्ध का कारण डोनाल्ड ट्रंप होंगे।
इंडियाटाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा कि तीसरा विश्व युद्ध 13 मई से शुरू होगा। उन्होंने यह भी कहा कि विश्व नेता सीरिया पर हमला करेंगे, जो कैमिकल अटैक के रूप में होगा और इससे रूस, नॉर्थ कोरिया और चीन के बीच संघर्ष शुरू हो जाएगा। उनके बयान के मुताबिक 13 मई से 13 अक्टूबर 2017 के बीच तीसरा विश्व युद्ध होगा और इसमें अत्यधिक तबाही और मौतें होंगी। विलियगस ने नास्त्रेदमस द्वारा की गईं भविष्यवाणियों का समर्थन किया है। नास्त्रेदमस ने कहा था, मेबस जल्द ही मर जाएगा और एक साल सैकड़ों शक्तियां टकराएंगी, जिससे लोगों और जानवरों का नाश हो जाएगा।
विलियगस के मुताबिक मेबस हमारे समय में सीरिया के राष्ट्रपति असद हैं और उनकी बम विस्फोट में मौत हो जाएगी, जिसके बाद युद्ध और भयावह हो जाएगा। उनकी भविष्यवाणी के मुताबिक 13 अप्रैल से13 मई के बीच बहुत ही विनाशकारी और झूठी सूचनाओं पर आधारित हमलों की खबरें आएंगी, जिसमें उत्तरी कोरिया और सीरिया से शामिल किया जाएगा।

Monday, 17 April 2017

ये कैसी जीत


तो फारुख अब्दुल्ला श्रीनगर संसदीय क्षेत्र से लोकसभा सदस्य निर्वाचित हो गए। जरा सोचिए, जिस चुनाव में कुल 12 लाख 61 हजार मतदाताओं मंें से केवल 89 हजार 883 यानी 7.13 प्रतिशत ने मत डाला हो उसे किस तरह तरह का चुनाव कहा जाएगा? इसमें 48 हजार 554 मत पाकर अब्दुल्ला अपने प्रतिद्वंद्वी पीडीपी के उम्मीदवार से 10 हजार मतों से अगर विजयी हो गए तो इसे किस तरह की विजय माना जाए यह प्रश्न भी हम सबको लंबे समय तक मथता रहेगा। कुल मतों के करीब 4 प्रतिशत से थोड़ा ज्यादा मत पाने वाला उम्मीदवार विजय हुआ। यह हमारी बेहतरीन मानी जाने वाली चुनाव प्रणाली की कमजोरी है जिसमें मतदान चाहे जितना प्रतिशत हो, एक भी मत से कोई आगे है तो वह निर्वाचित हो जाएगा। ऐसे फारुख कह रहे हैं कि वो अलगाववादियों को बातचीत का निमंत्रण देने वाले हैं। वे किस हैसियत से ऐसा कह रहे हैं वो तो वही जाने, क्योंकि न प्रदेश में उनकी सरकार है न केन्द्र में। लेकिन जिस तरह उन्होंने चुनाव प्रचार किया उसे देखते हुए इसमें आश्चर्य का कारण नहीं है। उन्होेंने चुनाव प्रचार में जमकर अलगाववादियों का तुष्टिकरण करने की कोशिश की। उन्हें कहा कि आप हमें अपना दुश्मन मत मानो। पत्थरबाजों को उन्होंने वतनपरस्त कहा। यह भी कहा कि वो कश्मीर समस्या के हल के लिए लड़ रहे हैं और भूखे रहकर भी पत्थर चलाएंगे। यह सीधे-सीधे भारत की नीतियों के विरुद्ध था। एक ऐसा व्यक्ति, जो तीन बार प्रदेश का मुख्यमंत्री तथा एक बार केन्द्र में मंत्री रह चुका हो, उससे इस प्रकार के अलगाववादी बयानों की अपेक्षा नहीं की जा सकती। किंतु फारुख अब्दुल्ला ने चुनाव जीतने के लिए वो सब किया जिससे अलगाववादियों, पत्थरबाजों सहित समस्त भारत विरोधियों के पक्ष का समर्थन हो। इस रवैये में प्रकारातंतर से भारत विरोध भी निहित था। इसलिए यह प्रश्न भी हमें अपने-आपसे पूछना चाहिए कि क्या ऐसा व्यक्ति हमारी संसद का सदस्य होने की योग्यता रखता है जिसने चुनाव जीतने के लिए कश्मीर में भारत विरोधी रुख अपनाया हो? हालांकि उनकी तुष्टिकरण की दुर्नीतियों से भी अलगाववादी और पत्थरबाज माने नहीं और चुनाव को इतना डरावना बना दिया कि बहुसंख्या मतदाता मतदान के लिए निकले ही नहीं। बावजूद इसके फारुख चुनाव जीतने के बाद भी अपनी भूल स्वीकारने को तैयार नहीं है। उनका पूरा बयान उसी दिशा में है। तो इसका एक ही उपाय है कि पूरे देश से उनके विरुद्ध आवाज उठे।

अवधेश कुमार

Sunday, 16 April 2017

तीन तलाक में कोई बुराई नहीं , 5 करोड़ महिलाएं शरीयत के पक्ष में : ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :




ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने रविवार को तीन तलाक स्पष्ट किया कि वो इस मसले को शरीयत के रोशनी में ही देखेंगे और सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अपनी राय रखेंगे. बोर्ड ने कहा कि जिन महिलाओं के साथ तीन तलाक में अन्याय हुआ है, बोर्ड उनके लिए हरसंभव मदद को तैयार है. हमने सर्वे किया है कि तलाक को जितना बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है, मामला उतना संगीन नहीं है. जितना बताया जा रहा है उसका 10 प्रतिशत भी नहीं है.






मुस्लिम बोर्ड का मानना है कि सोशल मीडिया का ज्‍यादा से ज्यादा इस्तेमाल कर इस्लाम और शरीयत के खिलाफ बनाया गया भ्रम दूर किया जाएगा. हमने देश में सबसे बड़ा सिग्नेचर कैम्पेन लॉन्च किया है और जो आंकड़े आए हैं, उसमें 5 करोड़ से ज्यादा मुस्लिम महिलाओं ने शरीयत के साथ रहने पर अपनी सहमति दी है. बोर्ड ने साफ किया कि शरीयत कारणों के बिना तीन तलाक देने वालों का सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा.
बोर्ड ने कहा कि शरीयत के हिसाब से हमेशा निकाह का रिश्ता कायम रहे, लेकिन मियां-बीवी में विवाद होने पर आचार संहिता जारी हो रहा है. इसके साथ ही मुस्लिम पर्सनल बोर्ड ने कहा कि मुसलमान शादियों में





फिजूलखर्ची से बचें. मां-बाप बेटियों को दहेज देने की जगह अपनी संपत्ति में हिस्सा दें.

पर्सनल बोर्ड ने इसके साथ ही बाबरी मस्जिद के मसले पर कहा कि वो सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानेंगे.

तेलंगाना में मुस्लिम को आरक्षण बढ़ाए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी, विरोध कर रहे BJP के पांच विधायक सदन से निलंबित






विधानसभा सत्र के पहले तेलंगाना कैबिनेट ने शनिवार को मुस्लिमों को आरक्षण बढ़ाने वाले बिल को पास कर दिया है। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के नेतृत्व में हुई कैबिनेट की बैठक में मुसलमानों के लिए 12 प्रतिशत और अनुसूचित जातियों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है।
रविवार को विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान बीजेपी ने इसका जोरदार विरोध किया, जिसके बाद 5 विधायकों को सदन से सस्पेंड कर दिया गया। बीजेपी के विधायक जी किशन रेड्डी ने कहा, 'तेलंगाना सरकार वोट बैंक की राजनीति कर रही है। उत्तर प्रदेश में बीजेपी की जीत के बाद मुख्यमंत्री असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।'

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


चुनाव के समय पार्टी ने प्रदेश के मुसलमानों के हित में आरक्षण बढ़ाने को कहा था। 2014 के चुनाव के समय किए गए इसी घोषणा को पूरा करते हुए तेलंगाना राष्ट्र समिति इस बिल को मंजूरी दी है।





विधानसभा सत्र और बीजेपी के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पूरे राज्य और राजधानी हैदराबाद में सुरक्षा चाक-चौबंद की है। पुलिस ने माहौल को देखते हुए कई लोगों को शक के बिना पर हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

Saturday, 15 April 2017

पाकिस्तान का नया पैतरेबाजी : रॉ के तीन और जासूसों को पकड़ा






भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को कथित जासूसी के आरोप में मौत को सजा सुनाए जाने के बाद पाकिस्तान ने कथित रूप से रॉ के तीन जासूसों को गिरफ्तार करने का दावा किया है।





पाकिस्तानी मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक इन सभी कथित जासूसों को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में गिरफ्तार किया गया है।

रावलकोट के डीआईजी ने पाकिस्तानी टीवी चैनल जियो न्यूज को बताया, 'हमने तीन आतंकियों खलील, इम्तियाज और राशिद को गिरफ्तार किया है। ये तीनों भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के लिए काम करते थे।'
उन्होंने कहा, 'आतंकियो ने पूछताछ में बताया है कि ये सभी भारतीय सेना के अधिकारी और रॉ के अधिकारी मेजर रंजीत, मेजर सुल्तान और अन्य के संपर्क में थे।'

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



जियो टीवी ने डीआईजी के हवाले से बताया है कि खलील ने पूछताछ में इस बात को स्वीकार किया है कि उसने करीब 14-15 बार नियंत्रण रेखा को पार किया।

Wednesday, 12 April 2017

सुप्रीम कोर्ट ने अनंत सिंह पर लगे सीसीए को बताया अवैध , जल्द हो सकती है रिहायी






बिहार के बाहुबली और मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार द्वारा लगाए गए सीसीए को अवैध करार दिया है और पटना हाईकोर्ट के फैसले को निरस्त किया है.

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि अनंत सिंह पर लगाया गया सीसीए एक्ट गलत है. मालूम हो कि बिहार सरकार ने विधायक अनंत सिंह पर सीसीए लगाया था. इसे हटाने के लिये अनंत ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था जिसे हाईकोर्ट ने इनकार कर दिया था. इसके बाद अनंत सिंह ने पटना हाईकोर्ट के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी.





बिहार सरकार द्वारा अनंत सिंह पर सीसीए लगाने के कारण अनंत 5 सितंबर 2016 से ही बेउर जेल में कैद हैं. सीसीए लगने के बाद वो एक साल तक जेल से बाहर नहीं आ सकते थे लेकिन सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद उनके जेल से बाहर आने का रास्ता साफ हो गया है. अनंत 2015 में जून महीने में बाढ़ में हुई एक हत्या के मामले गिरफ्तार हुए थे.

Tuesday, 11 April 2017

Video : ममता बनर्जी ने हनुमान जयंती के जलूस पर करवायी लाठीचार्ज , कई घायल : पूरी रिपोर्ट






आज देशभर में हनुमान जंयती की धूम है. हिंदू आस्था के प्रतीक इस पर्व को मनाने के लिए कहीं लोग मंदिरों में जुटे है तो कहीं भव्य झांकियों और जलूसों द्वारा भगवान के जन्म का उत्सव मनाया जा रहा है. लेकिन देश का एक राज्य ऐसा भी है जहां हनुमान जयंती के जलूस पर पुलिस ने लाठियां भांजी है. जी हां पुलिस की  बर्बरता दिखी है टीएमसी शासित राज्य पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में. यहां आज हिंदू जागरण मंच द्वारा हनुमान जयंती के जलूस निकाल रहे लोगों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया.

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



हनुमान भक्तों पर पुलिस के इस अत्याचार का वीडियो में आप खुद देख सकते है. देखिए कैसे पुलिस के जवान जलूस निकाल रहे लोगों पर लाठियां भांज रहे है. ये जगह बीरभूम जिले का सिवड़ी इलाका है. पुलिस का कहना है कि प्रशासन ने जलूस निकालने का आदेश नहीं दिया है फिर भी हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ता हनुमान जयंती का जलूस निकाल रहे है. जबकि हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं का कहना है कि हम इस आयोजन की अनुमित को लेकर बार-बार पुलिस के पास गए लेकिन पुलिस ने मना कर दिया.

आज हुए लाठीचार्ज में हिंदू जागरण मंच के कई कार्यकर्ता घायल हुए है, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया है. प्रशासन इस मामले पर कुछ भी बोलने से इंकार कर रहा है. जिला प्रशासन अभी तक ये भी साफ नहीं कर रहा है कि किन कारणों के चलते उसने हिंदू जागरण मंच को हनुमान जयंती पर जलूस निकालने की इजाजत नहीं दी. हनुमान जयंती का जलूस आयोजित करने वाले हिंदू जागरण मंच के कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बिना इजाजत जलूस निकालने के आरोप में हिरासत में लिया है. 





प.बंगाल में रामनवमी मनाने के लिए भी हाईकोर्ट के दखल पर मिली इजाजत

आपको बता दें कि इससे पहले भी पश्चिम बंगाल में रामनवमी के जलूस को निकालने की इजाजत नहीं दी थी. जिसके बाद कलकत्ता हाईकोर्ट ने जिला प्रशासन को फटकार लगाई थी. हाइकोर्ट ने दक्षिण दमदम नगरपालिका कमेटी को आदेश दिया है कि वह दक्षिण दमदम रामनवमी कमेटी को रामनवमी का आयोजन करने की अनुमति दे.  हाइकोर्ट के न्यायाधीश हरीश टंडन की अदालत ने इसके लिए नगरपालिका को फटकार भी लगायी. अदालत ने कहा है कि नगरपालिका का आचरण लापरवाह, अकर्मण्य और दुर्भाग्यपूर्ण है. पूजा कमेटी के आवेदन को विलंबित करने का कोई औचित्य नहीं बनता. नगरपालिका के आचरण का कोई स्पष्टीकरण नहीं है. इस पूजा के खिलाफ यह रुख आखिर क्यों है?

Video :

Monday, 10 April 2017

थूक कर फिर से चाटने की तयारी में "केजरीवाल" , नहीं तो जायेंगे जेल : पढ़िए पूरी खबर






नई दिल्लीः
असम की स्थानीय अदालत ने दिल्ली के सीएम व आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आपराधिक मानहानि के मामले में गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है. दरअसल पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट में पेश नहीं होने के चलते कोर्ट ने ये वारंट जारी किया है. केजरीवाल ने दिल्ली में एमसीडी चुनाव की व्यस्तताओं का हवाला देते हुए पेशी के लिए और समय की मांग की थी. कोर्ट ने केजरीवाल की अर्ज़ी को खारिज कर दिया.

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



कोर्ट ने याचिका को खारिज करते हुए कहा कि इससे पहले भी उन्हें 30 जनवरी 2017 को पेश होने का आदेश दिया गया था, लेकिन केजरीवाल पेश नहीं हुए. उन्हें दो महीने का समय दिया गया, इसके बावजूद वे पेश नहीं हुए. कोर्ट ने इस बात का संज्ञान लेते हुए गुरप्रीत सिंह उप्पल की याचिका को खारिज कर, केजरीवाल के खिलाफ 10 हजार रुपए की जमानत का गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया. मामले में उपस्थिति की अगली तारीख 8 मई 2017 निर्धारित की गई है.





किस मामले में जारी हुआ है दिल्ली के सीएम के खिलाफ वारंट
आपको बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने 15 दिसंबर 2016 को ट्वीट करते हुए लिखा था, 'मोदीजी 12वीं पास हैं, उसके बाद की डिग्री फर्जी है।' उनके इस ट्वीट पर भाजपा नेता सूर्य रोंगफर ने केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का केस किया है। कोर्ट के समक्ष पेश ना होने पर उनके खिलाफ वारंट जारी किया गया है। हालांकि गुरप्रीत सिंह उप्पल की और से कोर्ट में याचिका दायर कर कहा गया था कि दिल्ली में एमसीडी चुनाव के चलते केजरीवाल का कोर्ट के समक्ष पेश होना संभव नहीं है।

Saturday, 8 April 2017

केजरीवाल का अय्यासीपण : सरकार की सालगिरह पर 12 हजार रुपये की थाली , 36 हजार 60 रुपये का सिर्फ सर्विस टैक्स , पूरी रिपोर्ट






आम जनता का प्रतिनिधित्व करने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी के नेता जब जश्न के लिए जुटते हैं, तो ये नेता शाहखर्ची में राजा-महाराजाओं का भी रिकॉर्ड तोड़ देते हैं। ये मामला केजरीवाल सरकार के एक साल पूरे होने पर दिल्ली में आयोजित की गई एक पार्टी का है। इस पार्टी में एक प्लेट खाने का बिल 12 हज़ार रुपये था। शुंगलू कमेटी ने दिल्ली सरकार की इस कथित फिजुलखर्ची पर सवाल उठाये हैं। दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार के एक साल पूरा होने के मौके पर पिछले साल 12 फरवरी 2016 को सीएम अरविन्द केजरीवाल के घर पर एक पार्टी आयोजित की गई थी। इस विशेष जलसे में शरीक हुए मेहमानों के लिए जो थाली परोसी गई थी उसमें प्रत्येक थाली की कीमत 12 हजार 20 रुपये है। हिन्दी वेबसाइट आजतक के मुताबिक इस समारोह में सरकार के नेता विधायक और मंत्री समेत 30 लोग शामिल हुए थे। और तीस लोगों के खाने का बिल 3 लाख 60 हजार 600 रुपये बना है। इस रकम पर 10 फीसदी की दर से 36 हजार 60 रुपये का सर्विस टैक्स लगाया गया है। कुल मिलाकर 30 लोगों के खाने का ये बिल लगभग 4 लाख रुपये आया है।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले बीजेपी ने इस मुद्दे को उठाया है, और केजरीवाल सरकार पर जनता के खजाने से मौज करने का आरोप लगाया है। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा है कि पहली बार में तो उन्हें ये यकीन ही नहीं हुआ कि ये रकम 12 हजार है उन्होंने सोचा कि ये रकम मात्र 12 सौ रुपये हैं लेकिन बाद में पता चला कि ये सही है और केजरीवाल सरकार किस तरह से करदताओं का पैसा बर्बाद कर रही है।





हालांकि इस विवाद के सामने आने के बाद आम आदमी पार्टी बैकफुट पर है और इसे बेबुनियाद बताया है, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा है कि बिल भेजने वाले वेंडर के खिलाफ जांच के आदेश दे दिये हैं। नगर निगम चुनाव के दौरान ये AAP का ये शाही खाना लोगों की जुबान पर है। लोगों का कहना है कि ऐसी शाही दावत तो राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की पार्टियों में भी नहीं दिये जाते हैं।

Yogi Govt : 23 अप्रैल तक गन्ना किसानों के भुगतान का आदेश, चीनी मिल घोटाले मामले में बढ़ सकती है मायावती की मुसीबत






यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ कुर्सी संभालने के बाद से ही एक्शन मोड में है। योगी सरकार शपथ ग्रहण के तुरंत बाद से रोजाना बड़े-बड़े फैसले ले रही है। योगी सरकार ने किसानों के साथ अन्याय एवं उनके हितों की अनदेखी न करते हुए चीनी मिलों को इस साल के गन्ने का भुगतान 23 अप्रैल तक करने का आदेश दिया है। वहीं, बीएसपी सुप्रीमो मायावती की मुश्किलें भी बढ़ा दी है। योगी सरकार ने मायावती राज में 21 सरकारी चीनी मिलों को बेचने में हुए घोटाले की जांच के आदेश दिए हैं। बीएसपी सुप्रीमो मायावती दोहरी मुसीबत में फंसते हुए नजर आ रही हैं। एक तरफ चीनी मिलों को बेचने में हुए घोटाले मामले में जांच के आदेश दिया गया तो दूसरी तरह आयकर विभाग ने उनके भाई आनंद कुमार पर शिकंजा कस दिया है।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


योगी सरकार ने आधी रात चली बैठक में कई बड़े फैसले लिए हैं। मीटिंग के बाद योगी सरकार ने मौजूदा साल का गन्ना बेचने वाले किसानों को 23 अप्रैल तक भुगतान करने का आदेश चीनी मिलों को दिया है। इसके साथ ही गन्ना किसानों की शिकायतों के निपटारे के लिए जल्द ही एक ट्रोल फ्री नंबर जारी होगा। इसके साथ ही योगी ने 21 सरकारी चीनी मिलों को बेचने के मामले में जांच का आदेश देते हुए कहा कि अगर जरुरत पड़ी तो इस मामले की जांच सीबीआई से करवाने की भी सिफारिश की सकती है।





क्या है मामला ?

माया सरकार में यूपी शुगर कॉरपोरेशन और राज्य चीनी एवं गन्ना विकास निगम लिमिटेड की कुल 21 चीनी मिलों को औने-पौने दामों में बेच दिया गया था। सीएजी ने इस मामले की जांच की थी, जिसमें 1179 करोड़ का घाटा पाया गया था। सीएजी की रिपोर्ट के खुलासे के बावजूद मामले में अखिलेश सरकार की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। अब योगी सरकार इस मामले की जांच करवाएगी।

लव जेहाद : नावालिग़ हिन्दू युवतियों को लुभावने वादों में फसाने वाले "मोहम्मद शालिक" को भीड़ ने बांध कर जबर्दस्त पिटाई कर दी , जिसमे उसकी मौत हो गयी






मामला भाजपा शासित प्रदेश झारखंड के गुमला जिले के लगभग 20 वर्षीय एक मुस्लिम युवक से जुड़ा है जिसका नाम मोहम्मद शालिक था . माना जा रहा है कि मोहम्मद शालिक ने अपने प्रेम जाल व् लुभावन वादों में एक हिन्दू लड़की को फंसा रखा था जो नाबालिग थी . जिस नाबालिग लड़को को शिक्षा , समाज अदि का ज्ञान देना था उसे मोहम्मद शालिक प्रेम , इश्क , मोहब्बत सिखा रहा था .

गुमला के पुलिस अधीक्षक (एसपी) चंदन कुमार झा ने बताया, "किसी अन्य समुदाय की अपनी गर्लफ्रेंड के साथ घूमते देखे जाने के बाद मोहम्मद शालिक को पीट-पीटकर मार डाले जाने के सिलसिले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है है..." उन्होंने बताया कि यह वारदात 'इश्कबाजी की वजह से हुई, इसलिए इस घटना का किसी प्रकार से कोई साम्प्रदायिकता का स्वरूप नहीं है .

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


बताया जाता है कि लड़की के घर वालों ने कई बार अपनी बेटी के नाबालिग होने और शालिक के समझदार होने की बात कह के शालिक से विनती भी की और कई बार निवेदन भी किया , लड़की के घर वालों ने अपनी बेटी और अपनी सामजिक इज्जत की दुहाई कई बार मोहम्मद शालिक को दी पर शालिक ने बार बार उनके निवेदन का मजाक उड़ाया और पानी मनमानी करता रहा . हद तो तब पार कर गयी थी जब मोहम्मद शालिक उस लड़की का हाथ पकड़ कर उसके घर तक आने लगा जो उसने घटना के दिन भी किया .





समाज को मोहम्मद शालिक की इस खुली चुनौती ने भीड़ के सब्र का बाँध तोड़ दिया और अंत में भीड़ ने सोसो मोड़ पर लड़की के सामने ही शालिक को कथित रूप से खंभे से बांध दिया, और बुरी तरह पीटा. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जब देर रात तक शालिक घर नहीं लौटा, उसके परिवार वालों ने उसकी तलाश शुरू की आखिरकार शालिक उन्हें गंभीर हालत में पड़ा मिला, और उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन गुरुवार को उसकी मौत हो गई.

पुलिस यह जानने की कोशिश कर रही है कि क्या लड़की के परिवार वालों ने भीड़ को भड़काया था या भीड़ ने खुद लिया अपने हाथ में क़ानून ? पुलिस के अनुसार शालिक को पीट कर मारने के अपराध में पकडे गए 3 लोगों को शुक्रवार को जेल भेज दिया गया है.

Friday, 7 April 2017

मुस्लिम समाज को राम मंदिर पर केस वापस लेना ही परेगा , कानून बना कर बनेंगे "भव्य राम मंदिर" : विश्व हिन्दू परिषद






विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने कहा कि राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण राष्ट्र के लिए महत्वपूर्ण है। मुस्लिम समाज को इस विवाद से उठकर आगे बढ़ जाना चाहिए। विहिप के अंतराष्ट्रीय महामंत्री चम्पत राय का कहना है कि इस वक्त सरकार अनुकूल है, ऐसे में राम मंदिर बना जाना चाहिए। राय ने कहा,' भारत के सम्मान की चिंता भी संसद का कर्तव्य है।'

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


राय ने साफ शब्दों में कहा कि मुझे लगता है कि मुस्लिम नेताओं को इस बात के बारे में गंभीरता से सोचना चाहिए। राय ने कहा,'मुझे लगता है कि अब मुस्लिम समाज मुकदमा वापस लेगा। कोर्ट से फैसला होगा और संसद में कानून बनेगा।' राय का कहना है कि मस्जिद और मंदिर अगल-बगल होने के कारण दोबारा से झगड़ा हो सकता है।





राय ने कहा कि कोर्ट ने दोनों पक्षों को बैठकर हल निकालने का फैसला किया है लेकिन दूसरा पक्ष आता ही नहीं है। आगे भी नहीं आएगा, इसलिए अब बातचीत का कोई मतलब नहीं है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट को इस बारे में फैसला लेना चाहिए।  25 - 26 साल बाद फिर उसी हालात में जाना ठीक नहीं है।

Thursday, 6 April 2017

आजम खान ना हिन्दू है ना मुसलमान , ये सिर्फ और सिर्फ पापी और दुराचारी है : अमर सिंह


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :




समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता रहे अमर सिंह ने सपा नेता आजम खान पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने आजम खान को पापी दुराचारी और भ्रष्ट तक कह दिया. अमर सिंह ने कहा, 'ये न हिंदू है न मुसलमान है. ये सिर्फ और सिर्फ पापी है, दुराचारी है, भ्रष्ट है.





मिर्जापुर जिले के विंध्याचल मंदिर में दर्शन करने पहुंचे अमर सिंह ने आजम खान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि पता नहीं आजम खान का महिलाओं से क्या बैर है.





अमर ने कहा, 'आजम खान के इन बयानों को सुन कर मुझे अलाउद्दीन खिलजी याद आता है. और ये दुस्साहसी इतना है कि मुलायम सिंह का जन्मदिवस मनाकर कहता है कि दाऊद इब्राहिम और अबू सलेम ने हमको फंड किया है, जिसको जो करना है कर ले.'

मुंबई : 50 बच्चियों को शिकार बनाने वाला सीरियल रेपिस्ट गिरफ्तार




मुंबई में पुलिस से एक ऐसे दरिंदे को गिरफ्तार किया है, जो मासूम बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बनाता था. इस दरिंदे ने एक नहीं, दो नहीं बल्कि पचास बच्चियों के साथ हैवानियत का खेल खेला. इसके निशाने पर सात से 13 वर्ष तक की लड़कियां रहती थीं.
मुंबई के एकता नगर में जुहू गली का रहने वाले इस सीरियल रेपिस्ट को पुलिस कई सालों से तलाश कर रही थी. इस एक आंख वाले हैवान के खिलाफ रेप के 13 मामले दर्ज हैं. काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने आरोपी को मुंबई के खार इलाके से धर दबोचा. मं

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


आरोपी का नाम आयाज़ है, जिसे पुलिस ने मंगलवार को कोर्ट में पेश किया. अदालत ने हवस के इस पुजारी को उम्र कैद की सजा सुनाई है. पुलिस के मुताबिक आरोपी ने कम से कम 50 बच्चियों का अपना शिकार बनाया और उनका यौन शोषण किया.

पुलिस आयुक्त राकेश मारिया के मुताबिक आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. इस काम के लिए पुलिस की 12 टीम बनाई गई थीं. आरोपी के खिलाफ पोस्को एक्ट के साथ IPC की धारा 376 (बलात्कार), धारा 363 (अपहरण), धारा 377 (अप्राकृतिक कुकर्म) और धारा 506 (धमकी) के मामले दर्ज हैं.
बताते चलें कि मालदा पुलिस आरोपी को पहले भी लूटपाट के मामले में गिरफ्तार कर चुकी है. वर्ष 2014 में आरोपी ने एक 10 साल की बच्ची के साथ बलात्कार किया था. बच्ची बात का खुलासा न कर दे इसलिए उसने बच्ची को जान से मारने की धमकी भी दी थी.

पीड़िता जब घर पहुंची तो उसकी हालत देखकर उसकी दादी को कुछ शक हुआ. दादी के पूछने पर पीड़िता ने उन्हें सारी बात बताई थी. उसके बाद दादी की तहरीर पर पुलिस ने उसके खिलाफ केस दर्ज किया था. तभी से पुलिस आरोपी की तलाश कर रही थी.

Wednesday, 5 April 2017

बीजेपी शासित प्रदेश में हुआ धमाका , पांच जनों की घटना स्थल पर ही मौत .....

ABT Datiya explosion

मध्य प्रदेश के  दतिया जिले के सेवढ़ा के एक घर में आज शाम को  धमाका हो गया है। बताया जा रहा है कि इसमें एक ही परिवार के पांच सदस्य समेत 2 अन्य लोगों की मौत हो गई है। इस मामले की जांच में जुटी पुलिस इसके पीछे आतंकी साजिश होने का अंदेशा जता रही है। फिलहाल प्रशासन द्वारा इस मामले में कुछ भी स्पष्ट नहीं किया गया। मौके पर पहुंचे बचाव कर्मी राहत कार्य में जुटे हुए हैं। इस धमाके के कारण कितने लोग घायल हुए हैं अभी यह साफ नहीं किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार दोपहर के समय राशिद खान नाम के व्यक्ति के घर में अचानक धमाका हो गया।
राशिद का परिवार पटाखे बनाने का काम करता था, जिसके चलते काफी मात्रा में घर में बारूद मौजूद था। धमाके के बाद राशिद को पूरा घर ढह गया। राशिद के परिवार में पांच सदस्य थे जिनकी इस धमाके के कारण मृत्यु हो गई। यह धमाका कितना भयानक था इसका अंदाजा तो इसी से लगाया जा सकता है, कि पुलिस को मृत लोगों के शरीर के टुकड़े धमाके की जगह से करीब 200 मीटर के दायरे में पड़े हुए मिले। इस धमाके के कारण आस-पास के घरों को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

अभी यह नहीं कहा जा सकता कि घर मे रखे बारूद के कारण ही धमाका हुआ है या इसके पीछे कोई और वजह है। पुलिस इस मामले को सामान्य घटना से अलग रखकर भी जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि इस वारदात को आतंकी साजिश के चलते अंजाम दिया गया हो, इसलिए हमारी टीम इस दिशा में भी जांच कर रही है।
एक पुलिस अधिकारी ने पुष्टि की कि इस धमाके में सात लोगों की मौत हो चुकी है। एक व्यक्ति को मलबे से जिंदा निकाला गया है। बचावकर्मी मलबे को हटाने का काम कर रहे हैं। अधिकारी ने बताया कि मलबे के नीचे और भी कई लोग दबे हो सकते हैं, इसलिए अभी कुछ भी कहना अभी संभव नहीं है। उन्होंने बताया कि मलबे के नीचे से जिंदा निकले व्यक्ति से भी घटना के बारे में पूछताछ की जाएगी।

POK भारत का अभिन्न अंग है और हम इसे लेकर रहेंगे : सुषमा स्वराज (विदेश मंत्री)







विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने लोकसभा में बुधवार को पाकिस्तान को करारा जवाब दिया। सुषमा स्वराज ने कहा कि गिलगित, बाल्टिस्तान को पांचवा प्रांत बनाने के पाकिस्तान के कदम को भारत पूरी तरह से खारिज करता है। सुषमा ने कहा कि भारत इस संकल्प को दोहराता है कि पीओके, गिलगित, बाल्टिस्तान समेत पूरा का पूरा कश्मीर हमारा है।

विदेश मंत्री ने लोकसभा में साफ शब्दों में कहा कि ये सोचना गलत होगा कि भारत अपने किसी हिस्से को जाने देगा। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चेनानी-नशरी टनल के उद्घाटन के बाद रविवार को रैली में पीओके पर पाकिस्तान के अवैध कब्जे पर सवाल उठाते हुए वहां की बदहाली का जिक्र किया था।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


बीजेडी के सांसद भर्तृहरि महताब द्वारा गिलगित, बाल्टिस्तान को पांचवा प्रांत बनाने के पाकिस्तान के कदम का मुद्दा उठाने पर विदेश मंत्री ने कहा कि सरकार समेत पूरा का पूरा सदन इस भावना से संबद्ध करता है कि पूरा का पूरा कश्मीर हमारा है। गिलगित, बाल्टिस्तान को पाकिस्तान द्वारा पांचवां प्रांत बनाने की खबर आई तब भारत सरकार ने इसे बिना समय गंवाए खारिज किया।





सुषमा स्वराज ने कहा कि कश्मीर के बारे में लोकसभा और राज्य सभा दोनों में प्रस्ताव पारित है, संसद ने प्रस्ताव पारित किया है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके), गिलगित, बाल्टिस्तान समेत पूरा का पूरा कश्मीर हमारा है। सुषमा ने कहा कि आज जिसकी सरकार है, उस पार्टी का तो नारा ही रहा है कि ‘‘जहां हुए बलिदान मुखर्जी वो कश्मीर हमारा है, जो कश्मीर हमारा है, वो सारा का सारा है।’’ विदेश मंत्री ने कहा कि संसद का संकल्प तो है ही और हम तो स्वयं के संकल्प से भी बंधे हुए हैं। पाकिस्तान द्वारा गिलगित, बाल्टिस्तान को पांचवां प्रांत बनाने को हम अस्वीकार करते हैं।

ट्रिपल तलाक और गोहत्या पर लगे पूर्ण रूप से प्रतिबंध : शिया पर्सनल लॉ बोर्ड






ट्रिपल तलाक पर पूरे देश में चर्चा हो रही है. एक तरफ ट्रिपल तलाक के खिलाफ कानून बनाने की मांग की जा रही है. तो वहीं दूसरी तरफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड समेत दूसरे इस्लामिक संगठन इसका विरोध कर रहे हैं. ऐसे में अब कुछ मुस्लिम संगठनों और मुस्लिम धर्मगुरुओं की तरफ से भी ट्रिपल तलाक पर बैन की मांग उठने लगी है.

बुधवार को ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने लखनऊ में ट्रिपल तलाक पर बैन का समर्थन किया. बोर्ड ने इस बात पर सहमति जताई कि ट्रिपल तलाक के खिलाफ कानून बनना चाहिए. वहीं बोर्ड ने महिलाओं के अधिकार के लिए एक अलग कमेटी बनाने की भी मांग रखी. बोर्ड का मानना है कि सच्चर कमेटी जैसी कोई कमेटी महिलाओं के बनाई जानी चाहिए.

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



गोहत्या पर लगे बैन

शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने गोहत्या पर बैन की भी मांग की. बोर्ड ने इराक और शियाओं के सर्वोच्च धर्मगुरु का हवाला देते हुए गोहत्या पर बैन का समर्थन किया.

क्या कहता है AIMPLB?

तीन तलाक को लेकर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कानून बनाए जाने के विरोध में है. बोर्ड का मानना है कि तीन तलाक पर कानून उनके धार्मिक मामलों में दखल है. बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट से तीन तलाक के खिलाफ दायर सभी याचिकाओं को खारिज करने की मांग भी की है. बोर्ड के वकीलों की दलील है कि धार्मिक मामलों में अदालत दखल नहीं दे सकती.





बातचीत से बने राम मंदिर

ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने राम मंदिर पर भी अपनी राय रखी. बोर्ड का मानना है कि राम मंदिर का मुद्दा बातचीत से सुलझाया जा सकता है. बता दें सुप्रीम कोर्ट भी कोर्ट के बाहर राम मंदिर मामले को सुलझाने की टिप्पणी कर चका है.

मध्य प्रदेश : दतिया में विस्फोट , एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत , आतंकी कनेक्शन की आशंका


मध्य प्रदेश में दतिया जिले के सेवढ़ा के एक घर में धमाका हो गया है। बताया जा रहा है कि इसमें एक ही परिवार के पांच सदस्य समेत 2 अन्य लोगों की मौत हो गई है। इस मामले की जांच में जुटी पुलिस इसके पीछे आतंकी साजिश होने का अंदेशा जता रही है। फिलहाल प्रशासन द्वारा इस मामले में कुछ भी स्पष्ट नहीं किया गया। मौके पर पहुंचे बचाव कर्मी राहत कार्य में जुटे हुए हैं। इस धमाके के कारण कितने लोग घायल हुए हैं अभी यह साफ नहीं किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार दोपहर के समय राशिद खान नाम के व्यक्ति के घर में अचानक धमाका हो गया।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


राशिद का परिवार पटाखे बनाने का काम करता था, जिसके चलते काफी मात्रा में घर में बारूद मौजूद था। धमाके के बाद राशिद को पूरा घर ढह गया। राशिद के परिवार में पांच सदस्य थे जिनकी इस धमाके के कारण मृत्यु हो गई। यह धमाका कितना भयानक था इसका अंदाजा तो इसी से लगाया जा सकता है, कि पुलिस को मृत लोगों के शरीर के टुकड़े धमाके की जगह से करीब 200 मीटर के दायरे में पड़े हुए मिले। इस धमाके के कारण आस-पास के घरों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। अभी यह नहीं कहा जा सकता कि घर मे रखे बारूद के कारण ही धमाका हुआ है या इसके पीछे कोई और वजह है। पुलिस इस मामले को सामान्य घटना से अलग रखकर भी जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि इस वारदात को आतंकी साजिश के चलते अंजाम दिया गया हो, इसलिए हमारी टीम इस दिशा में भी जांच कर रही है।

Video's :

Loading...
 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Concept By mithilesh2020 | Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution