BREAKING NEWS

Friday, 15 July 2016

विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक आखिरकार मीडिया के सामने आया , सवाल के जवाब में ........

विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक आखिरकार मीडिया के सामने आया। अपनी बात शुरू करते हुए फ्रांस में आतंकी हमले की निंदा की। इसके बाद खुद को शांति दूत बताते हुए कहा कि मैं कभी किसी आतंकवादी से नहीं मिला और न ही मैंने कभी आतंक का समर्थन किया है।
भारत लौटने के सवाल पर नाइक ने कहा, अब वो अगले साल ही भारत लौटेंगे। हालांकि वह कश्मीर में छिड़ी हिंसा के बीच बुरहान वानी को लेकर किए गए सवालों के जवाब में सीधे बोला , मैं उसे नहीं जानता।
विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक ने एक बार फिर ये सिद्ध करने की कोशिश की कि वह आतंकवाद को बढ़ावा नहीं दे रहे बल्कि उनके VIDEO को अंशवार दिखाकर उन पर बेवजह निशाना साधा जा रहा है। ढाका कैफे में हमले से उठे उनके नाम के बाद वह पहली बार मीडिया के सामने आये।
स्काइप के जरिए बात करते हुए उन्होंने कहा, ये मेरे खिलाफ साजिश हो रही है। मीडिया में आतंकवाद पर जो VIDEO दिखाए जा रहे हैं उसमें छेड़छाड़ की गई है। उन्होंने कहा कि सुसाइड अटैक को मैं सही कहता हूं लेकिन युद्ध में कमांडर के आदेश पर न कि होटल व मॉल में निर्दोष लोगों की हत्या के लिए।
मैं कभी किसी आतंकवादी से नहीं मिला
नाईक ने चुनौती देते हुए कहा कि मेरे खिलाफ एक भी बिना छेड़छाड़ किये वीडियो हो तो मुझे दिखाएं जिसमें मैंने सुसाइड अटैक को सही ठहराया हो। उन्होंने कहा कि ढाका हमले के बाद से मेरा मीडिया ट्रायल किया जा रहा है। उन्होंने कहा, मैं कभी किसी आतंकवादी से नहीं मिला, न ही किसी को आतंक के लिए प्रेरित किया। हालांकि उन्होंने कहा कि अगर कोई आदमी मेरे बगल में खड़ा होकर फोटो लेता है तो मैं सिर्फ मुस्कुरा देता हूं। मैं ये नहीं पूछता कि वो कौन है।
युद्ध में आत्मघाती हमला जायज है, निर्दोषों को मारना सही नहीं
वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जवाब देते हुए जाकिर नाइक ने साफ किया कि मैंने कभी नहीं कहा कि किसी भी मॉल, बाजार या बिल्डिंग में जाकर सुसाइड अटैक करना सही है। मेरे हिसाब से ही नहीं इस्लाम के अनुसार भी निर्दोषों को मारना हराम है। उन्होंने कहा कि मैंने अपने भाषणों में यही कहा है कि युद्ध के द्वौरान कमांडर के आदेश पर सुसाइड अटैक करना जायज है। जाकिर नाइक ने कहा, मैं शांति का दूत हूं। दुनिया में किसी भी जगह हो रही आतंकी हमलों की निंदा करता हूं।
पेन ड्राइव में दिया 30 सवालों के जवाब
डॉ. नाइक ने जानकारी दी कि उन्होंने तमाम मीडिया द्वारा उठाए गए सवालों के आधार पर 30 सवालों के जवाब उन्होंने एक पेन ड्राइव के माध्यम से दे दिए हैं। जिसे मीडियाकर्मियों को बांटा जाएगा। उन्होंने कहा, ये सवाल तमाम मीडिया चैनल पर मेरे खिलाफ उठे सवालों के आधार पर है।
भारत में मुस्लिमों की स्थिति के सवाल पर गरमाया माहौल
प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जब एक पत्रकार ने डॉ. नाइक से पूछा कि आप इस्लाम के इतने बड़े प्रचारक हैं तो आपको पता होगा कि भारत में मुस्लिमों की स्थिति क्या है। एजुकेशन रेट क्या है, स्कूलों में ड्रॉप आउट कितना है या देश के बड़े ओहदों पर कितने मुस्लिम हैं। इस सवाल के जवाब पर पत्रकार वार्ता के ऑर्गनाइजर भड़क गए और इसे गैरजरूरी सवाल बताया। इस पर जवाब देते हुए डॉ. नाइक ने भी कहा कि अगर आपसे ये सवाल पूछने से मना किया तो आपको नहीं पूछना चाहिए। वैसे उन्होंने इसकी जानकारी होने से इनकार कर दिया।
पीस टीवी को लाइसेंस नहीं इसका जवाब आप अधिकारियों से पूछिए
डॉ. नाइक से जब ये सवाल पूछा गया कि आपके पीस टीवी को प्रतिबंधित क्यों किया गया है, तो उन्होंने कहा कि हमने 2008 में टेलिकास्ट राइट के लिए आवेदन किया तो उन्होंने इनकार कर दिया। इसके बाद हमने फिर आवेदन किया, तो बिना पूरी जानकारी के एक बार फिर टेलिकास्ट राइट हमें नहीं दिए गए। जबकि दुनियाभर के तमाम देश ऐसे हैं जहां सरकार से मंजूरी नहीं लेनी पड़ती, ऐसे देशों में ये चैनल अच्छे से चल रहा है। मीडिया को जाकर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस बारे में सवाल करना चाहिए न कि मुझसे।
मुझसे अभी तक किसी पुलिस या जांच अधिकारी से संपर्क नहीं किया
डॉ. नाइक ने कहा कि मैं किसी भी तरह के जांच के लिए तैयार हूं। पर अभी तक न तो पुलिस ने न ही किसी जांच अधिकारी ने मुझसे या मेरे ऑफिस से संपर्क किया है। अगर ऐसी जरूरत पड़ेगी तो मैं जांच में सहयोग करूंगा।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution