BREAKING NEWS

Tuesday, 20 September 2016

उरी (कश्मीर) : सेना के जवानों ने 10 आतंकियों को मार गिराया

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के उरी में भारतीय सेना को बड़ी कामयाबी मिली है। उरी सेक्टर में मुठभेड़ के दौरान सेना के जवानों ने 10 आतंकियों को मार गिराया है।  बताया जा रहा है कि उरी सेक्टर के लच्छीपुरा इलाके में यह एनकाउंटर हुआ है। अन्य आतंकियों के खिलाफ भी सैन्य अभियान जारी है !

उरी में रविवार को सैन्य ब्रिगेड पर आतंकी हमले के बादसेना ने शाम को ही अग्रिम इलाकों में  खंगालना शुरू किया तो पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलीबारी शुरू कर दी ! इस इलाके में सेना को 20-25 घुसपैठियों की छिपे होने की सुचना मिली थी . जिसमे अधिकांस बीते हफ्ते गुलाम कश्मीर से इस और आने में सफल हुए थे .

भारत की तरफ से भी जबाबी कार्रवाही में पाकिस्तानी ठिकानों को निशाना बनाते हुए जबर्दस्त तरीके से जबाब दिया गया .
उड़ी में रविवार को सैन्य ब्रिगेड पर आतंकी हमले के बाद सेना ने शाम को ही अग्रिम इलाकों में आतंकियों के खिलाफ खोजो और मारो अभियान शुरू कर दिया था। सूत्रों ने बताया कि सुबह सेना ने जब लच्छीपोरा और माइयां गांव के साथ सटे इलाकों को खंगालना शुरू किया तो पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलीबारी शुरू की दी। इस इलाके में सेना को बीती रात ही 20 से 25 घुसपैठियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इनमें से अधिकांश गत सप्ताह ही गुलाम कश्मीर से इस तरफ आने में कामयाब रहे थे। - See more at: http://www.jagran.com/news/national-pak-troops-fire-at-indian-positions-in-uri-14729439.html?src=p1#sthash.KcY41PS6.dpuf
उड़ी में रविवार को सैन्य ब्रिगेड पर आतंकी हमले के बाद सेना ने शाम को ही अग्रिम इलाकों में आतंकियों के खिलाफ खोजो और मारो अभियान शुरू कर दिया था। सूत्रों ने बताया कि सुबह सेना ने जब लच्छीपोरा और माइयां गांव के साथ सटे इलाकों को खंगालना शुरू किया तो पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलीबारी शुरू की दी। इस इलाके में सेना को बीती रात ही 20 से 25 घुसपैठियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इनमें से अधिकांश गत सप्ताह ही गुलाम कश्मीर से इस तरफ आने में कामयाब रहे थे।



सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी तलाशी अभियान को रोकने और लच्छीपोरा व उसके साथ सटे इलाकों में छिपे घुसपैठियों को सुरक्षित स्थानों की तरफ मौका देने के लिए की थी। अलबत्ता, भारतीय जवानों ने भी जवाब में पाकिस्तानी ठिकानों को निशाना बनाया और दोपहर बारह बजे एलओसी के पार से बंदूकें पूरी तरह शांत हो गई, लेकिन इस इलाके में घुसपैठियों की मौजूदगी की पुष्टि हो गई।

सैन्य अधिकारियों ने उसी समय अभियान की समीक्षा की और लच्छीपोरा, माइयां, पीरा, मुकामा व उसके साथ सटे सभी गांवों में कथित तौर पर स्थानीय प्रशासन के जरिए कर्फ्यू लगवाया। सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित कराई और ग्रामीणों को अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न आने की ताकीद करते हुए अभियान तेज कर दिया। यह सभी गांव बिल्कुल नियंत्रण रेखा पर स्थित हैं।


करीब एक घंटे बाद लच्छीपोरा और माइयां गांव के बीच एक नाले के पास जवानों ने घुसपैठियों को घेर लिया। जवानों को अपनी तरफ आते देख कुछ घुसपैठिए वापस गुलाम कश्मीर की तरफ भागने लगे तो कुछ निकटवर्ती आबादी की तरफ। उन्होंने जवानों पर गोलियां भी चलाई। जवाब में जवानों ने भी फायर किया और मुठभेड़ शुरू हो गई।
- See more at: http://www.jagran.com/news/national-pak-troops-fire-at-indian-positions-in-uri-14729439.html?src=p1#sthash.KcY41PS6.dpuf
उड़ी में रविवार को सैन्य ब्रिगेड पर आतंकी हमले के बाद सेना ने शाम को ही अग्रिम इलाकों में आतंकियों के खिलाफ खोजो और मारो अभियान शुरू कर दिया था। सूत्रों ने बताया कि सुबह सेना ने जब लच्छीपोरा और माइयां गांव के साथ सटे इलाकों को खंगालना शुरू किया तो पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलीबारी शुरू की दी। इस इलाके में सेना को बीती रात ही 20 से 25 घुसपैठियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इनमें से अधिकांश गत सप्ताह ही गुलाम कश्मीर से इस तरफ आने में कामयाब रहे थे।



सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी तलाशी अभियान को रोकने और लच्छीपोरा व उसके साथ सटे इलाकों में छिपे घुसपैठियों को सुरक्षित स्थानों की तरफ मौका देने के लिए की थी। अलबत्ता, भारतीय जवानों ने भी जवाब में पाकिस्तानी ठिकानों को निशाना बनाया और दोपहर बारह बजे एलओसी के पार से बंदूकें पूरी तरह शांत हो गई, लेकिन इस इलाके में घुसपैठियों की मौजूदगी की पुष्टि हो गई।

सैन्य अधिकारियों ने उसी समय अभियान की समीक्षा की और लच्छीपोरा, माइयां, पीरा, मुकामा व उसके साथ सटे सभी गांवों में कथित तौर पर स्थानीय प्रशासन के जरिए कर्फ्यू लगवाया। सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित कराई और ग्रामीणों को अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न आने की ताकीद करते हुए अभियान तेज कर दिया। यह सभी गांव बिल्कुल नियंत्रण रेखा पर स्थित हैं।


करीब एक घंटे बाद लच्छीपोरा और माइयां गांव के बीच एक नाले के पास जवानों ने घुसपैठियों को घेर लिया। जवानों को अपनी तरफ आते देख कुछ घुसपैठिए वापस गुलाम कश्मीर की तरफ भागने लगे तो कुछ निकटवर्ती आबादी की तरफ। उन्होंने जवानों पर गोलियां भी चलाई। जवाब में जवानों ने भी फायर किया और मुठभेड़ शुरू हो गई।
- See more at: http://www.jagran.com/news/national-pak-troops-fire-at-indian-positions-in-uri-14729439.html?src=p1#sthash.KcY41PS6.dpuf
उड़ी में रविवार को सैन्य ब्रिगेड पर आतंकी हमले के बाद सेना ने शाम को ही अग्रिम इलाकों में आतंकियों के खिलाफ खोजो और मारो अभियान शुरू कर दिया था। सूत्रों ने बताया कि सुबह सेना ने जब लच्छीपोरा और माइयां गांव के साथ सटे इलाकों को खंगालना शुरू किया तो पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलीबारी शुरू की दी। इस इलाके में सेना को बीती रात ही 20 से 25 घुसपैठियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इनमें से अधिकांश गत सप्ताह ही गुलाम कश्मीर से इस तरफ आने में कामयाब रहे थे।



सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी तलाशी अभियान को रोकने और लच्छीपोरा व उसके साथ सटे इलाकों में छिपे घुसपैठियों को सुरक्षित स्थानों की तरफ मौका देने के लिए की थी। अलबत्ता, भारतीय जवानों ने भी जवाब में पाकिस्तानी ठिकानों को निशाना बनाया और दोपहर बारह बजे एलओसी के पार से बंदूकें पूरी तरह शांत हो गई, लेकिन इस इलाके में घुसपैठियों की मौजूदगी की पुष्टि हो गई।

सैन्य अधिकारियों ने उसी समय अभियान की समीक्षा की और लच्छीपोरा, माइयां, पीरा, मुकामा व उसके साथ सटे सभी गांवों में कथित तौर पर स्थानीय प्रशासन के जरिए कर्फ्यू लगवाया। सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित कराई और ग्रामीणों को अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न आने की ताकीद करते हुए अभियान तेज कर दिया। यह सभी गांव बिल्कुल नियंत्रण रेखा पर स्थित हैं।


करीब एक घंटे बाद लच्छीपोरा और माइयां गांव के बीच एक नाले के पास जवानों ने घुसपैठियों को घेर लिया। जवानों को अपनी तरफ आते देख कुछ घुसपैठिए वापस गुलाम कश्मीर की तरफ भागने लगे तो कुछ निकटवर्ती आबादी की तरफ। उन्होंने जवानों पर गोलियां भी चलाई। जवाब में जवानों ने भी फायर किया और मुठभेड़ शुरू हो गई।
- See more at: http://www.jagran.com/news/national-pak-troops-fire-at-indian-positions-in-uri-14729439.html?src=p1#sthash.KcY41PS6.dpuf
उड़ी में रविवार को सैन्य ब्रिगेड पर आतंकी हमले के बाद सेना ने शाम को ही अग्रिम इलाकों में आतंकियों के खिलाफ खोजो और मारो अभियान शुरू कर दिया था। सूत्रों ने बताया कि सुबह सेना ने जब लच्छीपोरा और माइयां गांव के साथ सटे इलाकों को खंगालना शुरू किया तो पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलीबारी शुरू की दी। इस इलाके में सेना को बीती रात ही 20 से 25 घुसपैठियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इनमें से अधिकांश गत सप्ताह ही गुलाम कश्मीर से इस तरफ आने में कामयाब रहे थे।



सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी तलाशी अभियान को रोकने और लच्छीपोरा व उसके साथ सटे इलाकों में छिपे घुसपैठियों को सुरक्षित स्थानों की तरफ मौका देने के लिए की थी। अलबत्ता, भारतीय जवानों ने भी जवाब में पाकिस्तानी ठिकानों को निशाना बनाया और दोपहर बारह बजे एलओसी के पार से बंदूकें पूरी तरह शांत हो गई, लेकिन इस इलाके में घुसपैठियों की मौजूदगी की पुष्टि हो गई।

सैन्य अधिकारियों ने उसी समय अभियान की समीक्षा की और लच्छीपोरा, माइयां, पीरा, मुकामा व उसके साथ सटे सभी गांवों में कथित तौर पर स्थानीय प्रशासन के जरिए कर्फ्यू लगवाया। सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित कराई और ग्रामीणों को अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न आने की ताकीद करते हुए अभियान तेज कर दिया। यह सभी गांव बिल्कुल नियंत्रण रेखा पर स्थित हैं।


करीब एक घंटे बाद लच्छीपोरा और माइयां गांव के बीच एक नाले के पास जवानों ने घुसपैठियों को घेर लिया। जवानों को अपनी तरफ आते देख कुछ घुसपैठिए वापस गुलाम कश्मीर की तरफ भागने लगे तो कुछ निकटवर्ती आबादी की तरफ। उन्होंने जवानों पर गोलियां भी चलाई। जवाब में जवानों ने भी फायर किया और मुठभेड़ शुरू हो गई।
- See more at: http://www.jagran.com/news/national-pak-troops-fire-at-indian-positions-in-uri-14729439.html?src=p1#sthash.KcY41PS6.dpuf

सेना के सूत्रों के मुताबिक एनकाउंटर में आतंकियों को ढेर करते हुए जवानों ने घुसपैठ की बड़ी कोशिश को नाकाम कर दिया। गौरतलब है कि रविवार को उरी में सेना के बटालियन मुख्यालय में नियंत्रण रेखा पार करके आए आतंकियों के हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे।

अन्य आतंकियों के खिलाफ सैन्य अभियान जारी है।


अन्य आतंकियों के खिलाफ सैन्य अभियान जारी है।
अन्य आतंकियों के खिलाफ सैन्य अभियान जारी है।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution