BREAKING NEWS

Wednesday, 19 October 2016

विडियो : पश्चिम बंगाल दंगे महज एक संयोग नहीं था , बल्कि सोची समझी रणनीति के तहत "वोट ना देने के बदले की कार्रवाही" थी : पीड़ित परिवार

Communal-violence-in-west-bengal
कोलकाता(पश्चिम बंगाल)।  बीते शुक्रवार 14, की रात 10:30pm के बाद मुसलमानों ने अपने ही पड़ोसी के घरों को बाहर से दरवाजा बंद कर के आग लगा दिया। आग लगाने वालों के नाम MD QAYAMUDDIN उर्फ़ पीतल, SAMSHUL REHMAN उर्फ़ ननकी है और जिसके निर्देश पे आगजलनी की गयी उनके नाम YUSUF ANSARI, PIRU MUHAMMAD, ABDUL RAZAK, SADAKAT HUSAIN, और GANI KHAN है।

उस वक़्त बानकपारा इलाके के मोर पे पुलिस तैनात थी मगर वो बेबसों के मदद को आगे नही बढ़ी। तभी उसी के बगल वाले साहपारा इलाका के लोग को मदद के लिए आगे जाना पड़ा।

साहपारा के मुहल्ले के लड़को को पुलिस से मदद के लिए निवेदन करना पड़ा और साथ में पुलिस को इस बात का भरोसा दिया गया कि पुलिस को कुछ नही होगा, तब वो आगे बढे।


ये बहुत शर्म की बात है कि जो पुलिस को हमारी सुरक्षा के लिए लगाया गया था उस पुलिस को सुरक्षा का भरोसा हमे देना पड़ा। ये ड्रामा रात 10:30 से 1:30 तक चला जब प्रशाषन की आंख खुली और फ़ोर्स भेजे गए। मगर तब तक पूजी जल चुकी थी और वो रोते-बिलखते 100 लोग बेघर हो चुके थे।

2 दिन बाद शुबह के वक़्त यहाँ कबीर हुमायु नाम के ips officer आये। जब बेघर लोगो ने उन्हें अपना दर्द बताया तो कबीर साहब ने साफ़ कह दिया कि घर में आग आप लोगो ने खुद ही लगाया है। और फिर इससे भी बुरा अंजाम भुगतने का धमकी दे दिया। इसी के कारण पूरा हिन्दू समाज भड़का हुआ है! चुकी... साहपारा के लड़को ने लोगो को जलते घरो से निकाल कर अपने मुहल्ले में रखा हुआ है इसलिए अब उनका टारगेट साहापारा के लड़के बन चुके है।

अब इस दंगे का असल कारन जानिए :-

पिछली बार जो राज्य में विधानसभा चुनाव हुआ था उसमें हाज़िनगर के ज्यादातर लोगों ने TMC को वोट नही दिया था। उसी वक़्त tmc के नेता पार्थ भौमिक,मुकुल राय, सुभांसु राय ने इन हिन्दुओ को अंजाम भुगतने की धमकी दिया था.....मुहर्रम और दुर्गापूजा तो सिर्फ एक बहाना था, असल कारन तो इनसे बदला लेना है।

जिन लोगो ने घरो में आग लगाया था इनमे से कुछ इससे पहले भी साम्प्रदायिक बवाल कर चुके है।
- 2 साल पहले हिन्दुओ के रथ पे Nention rod halishar में हमला कर दंगा भड़काया था।
- इसी साल 15 अगस्त को MD QAYAMUDIN ने बानकपारा में ही तिरंगे झण्डे को आग लगा दिया था।
- बानकपारा में ही शिव चर्चा के वक़्त बम मारा था।


इतने संगीन अपराध कर के भी वो आज़ाद है क्योंकि उसके ऊपर TMC का हाथ है। अगर उसी वक़्त उचित कार्रवाई हुई होती तो आज मासूम लोगों का घर न जला होता ।

देश में अभी भारत-पाकिस्तान युद्ध के हालात है। ऐसे में एक गृह-युद्ध बंगाल में एक और बांग्लादेश को जन्म दे देगा ।

एक महीने पहले ही गौरीपुर मस्जित से कुछ स्लीपर सेल पकड़े गये है, ऐसे में दंगे का भड़कना महज इक्तेफाक तो नही हो सकता ।

ये पोस्ट किसी की भावनाओं को भड़काने के लिए नहीं बल्कि पीड़ित परिवारों की जुबानी है , जिनके नाम गुप्त रखने पड़ रहें हैं ।

कैसे एक खाश समुदाय के लोग दिनदहारे घरों में पत्थर फेकते रहे , कैसे घरो में आगजनी की गयी पुलिस के सामने , देखिये लाइव :


विडियो :

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution