BREAKING NEWS

Sunday, 30 October 2016

भोपाल जेल से फरार सभी 8 सिमी आतंकियों का भोपाल के बाहरी इलाके में एनकाउंटर, 9 घंटे के भीतर पुलिस ने सभी आतंकियों को भेजा 72 हूरों ....

सिमी के भागे हुए सभी आतंकी मारे गए .
भोपाल. स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के 8 आतंकी भोपाल सेंट्रल जेल से फरार हो गए। 9 घंटे के भीतर ही पुलिस ने एनकाउंटर में आठों आतंकियों को ढेर कर दिया। बता दें कि मध्य प्रदेश के खंडवा से सिमी आतंकी 3 साल पहले भी ऐसे ही जेल से फरार हो गए थे। इनके ऊपर देशद्रोह का मुकदमा चल रहा था। इस बार भागने वाले आतंकियों में कुछ वे आतंकी भी शामिल हैं जो पहले भाग चुके थे। राजनाथ सिंह ने शिवराज चौहान से बात की। डिटेल रिपोर्ट मांगी है। कैसे भागे थे आतंकी...

- डीआईजी (भोपाल) रमन सिंह ने कहा- ''रविवार-सोमवार की दरमियानी रात 2-3 बजे के बीच आतंकी भागे।''
- ''आतंकियों ने ड्यूटी बदलते वक्त दो गार्ड पर हमला किया। पहले हेड गार्ड रमाशंकर यादव की हत्या कर दी। उनका गला रेत दिया। हमले के लिए स्टील की प्लेट और ग्लास का इस्तेमाल किया।''
- ''इसके बाद जेल में ओढ़ने के लिए मिली चादरों की रस्सी बनाई। उसी के सहारे दीवार फांदी। दूसरा गार्ड घायल है।''
- बताया जा रहा है कि इसमें से कुछ आतंकी वे भी हैं जो 2013 में खंडवा जेल से भागे थे। उन्हें पकड़ कर यहां लाया गया था।

कौन-कौन आतंकी भागे?
मोहम्मद खालिद अहमद (सोलापुर, महाराष्ट्र), मोहम्मद अकील खिलजी (खंडवा, मध्य प्रदेश), मुजीब शेख (अहमदाबाद, गुजरात), मोहम्मद सलिक, जाकिर हुसैन सादिक,
मेहबूब गुड्डू, अमजद।

मध्य प्रदेश सरकार ने मानी गलती, 5 अफसर सस्पेंड
- मध्य प्रदेश के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा, ''जेल प्रबंधन की गलती के वजह से ऐसा हुआ। पांच अफसरों को सस्पेंड कर दिया गया है।''
- एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा, ''घटना की सूचना हमें 4.30 बजे मिली। केंद्र और आसपास के राज्यों को अलर्ट किया गया है।''
- ''कहीं किसी की मिलीभगत है या लापरवाही है, इसकी जांच हो रही है। फिलहाल, फोकस आतंकियों को पकड़ने पर है।''
- ''सीएम और एडमिनिस्ट्रेशन मामले पर नजर रखे हुए हैं।''
- इस बीच, केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से अलर्ट जारी कर दिया गया है।

पिछली बार भागने के बाद सिमी के आतंकियों ने किए थे तीन धमाके

- जो आठ आतंकी भोपाल जेल से भागे हैं उनमें तीन आतंकी खंडवा जेल से भी भाग चुके हैं।
- पिछली बार जब शातिर अबू फैजल को पकड़ा था तो उसने बताया था कि वे तालिबान से कॉन्टैक्ट में थे।
- इसके बाद उन आतंकियों ने 1 फरवरी 2014 को तेलंगाना के करीमनगर में डकैती की थी।
- इसके बाद चेन्नई, पुणे, बिजनौर जैसे शहरों में तीन बम धमाके किए थे।
- इन पर अहमदाबाद में बम धमाके का भी आरोप है।

सभी आतंकियों को भोपाल जेल में रखा गया था


- 2 अक्टूबर 2013 से सात कैदी भागे थे।
- इसके बाद मध्य प्रदेश में जितने भी सिमी के आतंकी अन्य जेलों में थे, उन सबको एक जगह लाया गया।
- सभी को कड़ी सिक्युरिटी वाले भोपाल सेंट्रल जेल में रखा गया। यहां सिमी के 30 आतंकी रखे गए। इन्हीं में से 8 आतंकी भागे हैं।

................................................................................................................... सौजन्य :दैनिक भाष्कर

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution