BREAKING NEWS

Wednesday, 23 November 2016

भारत के एक पलटवार से ही बाप-बाप करने लगा पाकिस्तान , भारतीय सैनिकों नें कहा "अब एक हाथ से दोस्ती और दुसरे हाथ से छुरे मारने की " निति नहीं चलेगी , जब तक इस निति पर चलते रहोगे तब तक ये कार्रवाही जारी रहेंगे ।

भारतीय सैनिकों नें कहा "अब एक हाथ से दोस्ती और दुसरे हाथ से छुरे मारने की " निति नहीं चलेगी , जब तक इस निति पर चलते रहोगे तब तक ये कार्रवाही जारी रहेंगे ।


जम्मू-कश्मीर के माछिल सेक्टर में तीन भारतीय जवानों की शहादत के बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। सेना पाक के तीन रेंजरों को मार गिराया और कई चौकियां तबाह कर दी। सैन्य सूत्रों के मुताबिक पिछले एक दशक में भारत की तरफ से एलओसी पर गई यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। सेना की कार्रवाई के बाद बुधवार शाम पाकिस्तानी डीजीएमओ ने भारतीय डीजीएमओ को फोन कर एलओसी पर तनाव कम करने को लेकर हॉटलाइन पर बात की।

13 साल बाद सबसे बड़ी कार्रवाई


सैन्य सूत्रों के मुताबिक,वर्ष 2003 में युद्ध विराम के बाद भारत की तरफ से सीमा पर यह सबसे बड़ी कार्रवाई की गई है। इस बार भारतीय जवानों ने हमले में 120 एमएम के भारी मोर्टार और मशीनगन का इस्तेमाल किया गया। उधर, पाकिस्तान के अधिकारियों ने अपने तीन जवानों की मौत की पुष्टि की है। इनके नाम कैप्टन तैमूर अली, हवलदार मुश्ताक हुसैन और गुलाम हुसैन हैं।

पाक को भारी नुकसान


सेना के उत्तरी कमांड के ब्रिगेडियर एस गोत्रा ने बताया है कि सुरक्षाबलों ने केल, पुंछ, रजौरी और माछिल सेक्टर से पाक चौकियों को निशाना बनाते हुए भारी गोलाबारी की। इससे पाक के भारी नुकसान हुआ है। उधर, राजौरी के भीमबर सेक्टर में पाकिस्तान की गोलीबारी में बीएसएफ के दो जवान घायल हो गए।

पाक ने भारतीय उप उच्चायुक्त को फिर तलब किया


वहीं पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर कथित तौर पर संघर्ष विराम के बेवजह उल्लंघन को लेकर बुधवार को लगातार तीसरे दिन भारतीय उप उच्चायुक्त जेपी सिंह को तलब किया और दावा किया कि भारतीय सैनिक रिहायशी इलाकों को इरादतन निशाना बना रहे हैं। पाकिस्तान का कहना है कि धुडनियाल सेक्टर में भारतीय सुरक्षा बलों की गोलीबारी में नौ आम शहरी मारे गए और एक घायल हो गया।

इससे सोमवार को पाकिस्तानी सेना ने कहा था कि नियंत्रण रेखा पर भारतीय सैनिकों के साथ गोलीबारी में कथित रूप से उसके तीन सैनिकों सहित सात लोग मारे गए जिसके साथ पिछले हफ्ते से इस तरह की घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या 14 हो गयी है। दूसरी तरफ, पाकिस्तानी विदेश विभाग के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कई ट्वीट कर कहा कि भारतीय सैनिक के शव को क्षत-विक्षत करने की खबरों का मकसद पाकिस्तान की छवि धूमिल करना है।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution