BREAKING NEWS

Tuesday, 29 November 2016

नोटबंदी पर लालू यादव का यूटर्न अब उतरे नीतीश के समर्थन , सोशल मीडिया पर जनता अब राबड़ी देवी से पुछ रही है सवाल , अब लालू और नितीश एक दुसरे से क्या रहे सम्बन्ध ?

नोटबंदी के विरोध के मामले में पाला बदलते हुए राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव नीतीश कुमार के समर्थन में उतर आए हैं।

सोमवार देर शाम बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लालू प्रसाद यादव से उनके घर पर मिले। इसके बाद लालू ने नीतीश की मौजूदगी में आरजेडी के विधायकों को बताया कि वह नोटबंदी का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से नोटबंदी के फैसले को जिस खराब तरीके से लागू किया गया, वह उसका विरोध कर रहे हैं।

8 नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने 500 और 1000 रुपये के नोटों को तत्काल प्रभाव से अमान्य करार दिया था। मोदी के फैसले का विपक्षी दलों ने जमकर विरोध किया। संसद में विपक्ष के विरोध की अगुवाई कांग्रेस कर रही थी वहीं बिहार में लालू प्रसाद यादव, उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने नोटबंदी के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है।

बिहार में आरजेडी, जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) और कांग्रेस की महागठबंधन सरकार होने के बावजूद नीतीश कुमार ने अलग रुख लेते हुए पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले का समर्थन किया था।

नीतीश कुमार के इस समर्थन के बाद बिहार की महागठबंधन सरकार में सब कुछ ठीक नहीं होने की अटकलें जोर पकड़ने लगी थी। नीतीश कुमार ने नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी दलों के 'भारत बंद' से भी खुद को दूर कर लिया था।

नीतीश ने महागठबंधन के विधायक दल की बैठक में साफ कर दिया था कि राष्ट्रीय मुद्दे पर तीनों दल अलग-अलग स्टैंड ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि महागठबंधन बिहार के लिए है न कि राष्ट्रीय स्तर की राजनीति के लिए।

लालू के घर हुई बैठक के बाद आरजेडी के विधायक अनवर आलम ने कहा कि लालू और नीतीश ने नोटबंदी के पक्ष में बात की। एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में आलम ने कहा, 'लालू जी ने नोटबंदी का समर्थन किया लेकिन वह इसे खराब तरीके से लागू किए जाने और गरीबों को हो रही परेशानी के खिलाफ है।'
आरजेडी सुप्रीमो लालू ने पार्टी के विधायकों की बैठक को संबोधित करने के लिए नीतीश कुमार को न्योता दिया था, जिसे नीतीश ने स्वीकार लिया। बैठक में नीतीश ने आरजेडी के विधायकों की बातों को ध्यान से सुना और उन्हें इस बात के लिए आश्वस्त किया कि महागठबंधन में सब कुछ ठीक है।

वहीं दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पटना में देर रात लालू प्रसाद यादव से मुलाकात की। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में ममता ने कहा, 'नीतीश और लालू दोनों की पार्टी अलग है और उनकी विचारधारा भी। मेरी विचारधारा भी अलग है।'
ममता ने कहा कि लोगों को नोटबंदी से परेशानी हो रही है और इस मामले में मेरा और लालू जी का एक समान मत है। ममता बनर्जी नोटबंदी के खिलाफ सबसे अधिक मुखर हैं और उन्होंने सरकार से इस फैसले को वापस लिए जाने की मांग की है।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution