BREAKING NEWS

Tuesday, 29 November 2016

नगरोटा के कोर मुख्यालय और उससे सटे रेजीमेंट मुख्यालयों पर आतंकी हमला , 2 मेजर समेत 7 जवान शहीद , देश भर में गुस्से का माहौल

सुरक्षाबलों ने मंगलवार तड़के जानमाल के बड़े नुकसान को टालते हुए जम्मू और सांबा जिले में किए गए दो हमलों को नाकाम कर दिया। जम्मू के नगरोटा में हुए हमले में दो मेजर और पांच जवान शहीद हो गए। जबकि तीन आतंकी मारे गए। जबकि सांबा जिले के चमलियाल में बीएसएफ पोस्ट पर हमला करने वाले तीन आतंकी मारे गए।

मंगलवार सुबह 5.30 बजे सेना की 16वीं कोर के मुख्यालय से तीन किलोमीटर दूर आफीसर्स मेस परिसर में आतंकी ग्रेनेड दागते और अंधाधुंध गोलियां चलाते हुए घुसे। उस वक्त मेस में नागरिक और निहत्थे जवान भी थे। लिहाजा सुरक्षा में तैनात जवानों ने आतंकियों को ढेर करने के लिए तुरंत कार्रवाई की और पुलिस की वर्दी में आए तीनों आतंकियों को वहीं ढेर कर दिया।


दो शहीद मेजरों में एक महाराष्ट्र और एक बेंगलुरु के


नगरोटा हमले में महाराष्ट्र के पंढरपुर निवासी मेजर कुनाल गोसावी (33) और बेंगलुरु निवासी मेजर अक्षय गिरीश कुमार (31) शहीद हुए हैं। पंजाब के गुरदासपुर जिले के हवलदार सुखराज सिंह, महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले के लांसनायक कदम संभाजी यशवंतराव, राजस्थान के ढोलपुर निवासी ग्रेनेडियर राघवेंद्र सिंह, नेपाल के खोतांग निवासी रायफलमैन असीम राय, पंजाब के गुरदासपुर निवासी हवलदार सुखराज सिंह भी शहीद हुए हैं।


अतिसुरक्षित सैन्य इलाके में हमला

यह पहली बार है जब आतंकियों ने नगरोटा के कोर मुख्यालय और उससे सटे रेजीमेंट मुख्यालयों पर हमला करने की हिमाकत की है। इलाके में सुरक्षा व्यवस्था बेहद चाकचौबंद रहती है। इससे पहले 18 सितंबर को आतंकियों ने सीमा से महज छह किलोमीटर दूर उरी में सैन्य शिविर ऐसे ही सुबह के वक्त हमला किया था।

जम्मू में अलर्ट, तलाशी अभियान


हमले को देखते हुए शहर में अलर्ट जारी करते हुए जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बंद कर दिया गया। सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इलाके में तलाशी अभियान छेड़ दिया गया। नगरोटा तहसील के सभी स्कूलों को भी बंद कर दिया।

अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हमला नाकाम

सांबा जिले के रामगढ़ सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बनी बाड़ काटकर घुसे तीन आतंकवादियों को बीएसएफ के सतर्क जवानों ने ढेर कर दिया। आतंकियों ने यहां चमलियाल पोस्ट को निशाना बनाने की कोशिश की। लेकिन सतर्क जवानों ने जब आतंकियों को ललकारा तो उन्होंने गोलियां चलानी शुरू कर दीं। लेकिन चार घंटी चली मुठभेड़ के बाद तीनों आतंकी मारे गए।

धमाके में डीआईजी समेत पांच घायल


मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने यहां तलाशी अभियान छेड़ दिया। इसी दौरान घटनास्थल पर हुए एक धमाके में एक डीआईजी और चार जवान घायल हो गए। बीएसएफ के एक अधिकारी ने कहा कि घुसपैठ के कोशिश को विफल करने के दौरान पाक की ओर से लगातार फायरिंग की गई। इस दौरान मोर्टार बम दागे जाने से यह विस्फोट हुआ।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution