BREAKING NEWS

Tuesday, 15 November 2016

जाकिर नाइक के NGO "इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन" पर 5 साल के लिए प्रतिबंध , गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप

नई दिल्ली (15 नवंबर): विवादित मुस्लिम धर्म प्रचारक जाकिर नाइक की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। केन्द्र सरकार ने जाकिर नाइक के NGO इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पर 5 साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। जाकिर की संस्था पर गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है। इसके पहले जाकिर नाइक के NGO पर विदेश से चंदा लेने पर रोक लगाई गई थी।

जाकिर नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन उस वक्त घेरे में आ गई थी जब बांग्लादेश में हुए आतंकी हमले के दौरान आतंकी ने जाकिर नाइक के भाषणों का हवाला दिया था। गृह मंत्रालय आतंक रोधी कानून के तहत जाकिर नाइक की संस्था पर प्रतिबंध लगाने जा रही है। सूत्रों के मुताबिक इसको लेकर कैबिनेट की मीटिंग के लिए गृह मंत्रालय ने मसौदा भी तैयार कर लिया है। आधिकारिक सूत्रों की मानें तो जाकिर नाइक की एनजीओ को प्रतिबंधित करने से पहले तमाम गैरकानूनी गतिविधियों की जांच की गई है जिसके बाद संस्था के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधियों से रोकधाम अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

जांच में यह भी बात सामने आई है कि जाकिर नाइक की संस्था पीस टीवी से संबंध रखती है। जाकिर नाईक ने विदेशी खाते से पीस टीवी को पैसा भी भेजा है। आपको बता दें कि पीस टीवी पर आतंकवाद का प्रचार-प्रसार करने का आरोप है। गृह मंत्रालय ने जाकिर नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पर नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए FCRA लाइसेंस रद्द करने से पहले फाइनल नोटिस दे दिया है। सूत्रों की माने तो NGO के पिछले जवाब से गृह मंत्रालय संतुष्ट नहीं है। जाकिर नाइक के NGO की फंडिग पहले ही रोक दी गई है। इस वक्त जाकिर नाइक मलेशिया में रह रहे हैं।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution