BREAKING NEWS

Tuesday, 13 December 2016

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले की मुख्य साजिशकर्ता "सोनिया गाँधी" सहित मनमोहन सिंह से भी हो सकती है पूछताछ , विपक्ष भी अवार्डवापसी गैंग के साथ मिलकर कर रहा है मोदी सरकार के विरोध की तैयारी


अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले की
आंच मैडम सोनिया गांधी के दरवाजे तक पहुंच गई है।
पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी की गिरफ्तारी के बाद अब अगला नंबर इस घोटाले में शामिल नेताओं का हो सकता है। दिल्ली की अदालत में पेशी के वक्त एसपी त्यागी ने साफ तौर पर कहा कि इस सौदे में वो इकलौते नहीं थे, बल्कि तब के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के दफ्तर की तरफ से सामूहिक फैसला लिया गया था। हम यहां पर आपको याद दिला दें कि इसी साल अगस्त में इटली की कोर्ट ने हेलीकॉप्टर सौदे में घोटाले के आरोप में सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, अहमद पटेल और ऑस्कर फर्नांडिस को दोषी करार दिया था। कोर्ट ने अपने फैसले में सोनिया गांधी को इस घोटाले की ‘मेन ड्राइविंग फोर्स’ यानी मुख्य साजिशकर्ता करार दिया था।

एसपी त्यागी की कोर्ट में पेशी

सीबीआई ने पूर्व वायुसेनाध्यक्ष को शनिवार दोपहर में कोर्ट के आगे पेश किया। सीबीआई ने कहा कि हेलीकॉप्टरों की खरीद का यह घोटाला अंतरराष्ट्रीय स्तर का है। इसका प्रभाव भी कई देशों पर पड़ा है। इसे मानते हुए कोर्ट ने त्यागी को 4 दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया। एसपी त्यागी को शुक्रवार को उनके भाई संजीव त्यागी उर्फ जूली और वकील गौतम खेतान के साथ गिरफ्तार किया गया है । 

Latest Hindi News से जुड़े , अन्य अपडेट के लिए ऑफिसियल फेसबुक पेज  लाइक करे :


पूछ-ताछ में पूर्व वायुसेना अध्यक्ष एसपी त्यागी ने कहा है , इस फैसले में उस समय के PMO भी सामिल था , इसलिए इनके बयान के आधार पर , उस समय की कांग्रेस सरकार के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित इस घोटाले की मुख्यशाजिशकर्ता सोनिया गाँधी (इटली कोर्ट के मुताविक) से भी पुचताक्ष की जा सकती है । मोदी सरकार के इस शख्त रवैये से कांग्रेस पार्टी में खलबली मची हुयी है ।

अन्दर की खबर ये  है की , कई कांग्रेस नेता , बामपंथी , पत्रकार , लेखक  और तमाम अवार्ड वापसी समूह के लोग एकबार फिर से कांग्रेस रणनीति के तहत जमकर सड़क से संसद तक मोदी सरकार के विरुद्ध अलग-अलग अभियान चलाने की तैयारी कर रहें हैं ।


ज्ञात हो की इटली की कोर्ट नें ये भी माना की इस घोटाले के पैसे हिन्दुस्तान के कई मीडिया घरानों में भी बाँटें गए थे . इसलिए मीडिया भी इस खबर को नजरअंदाज करती आ रही है . इस घोटाले में कई मीडिया हाउस और कई बड़े पत्रकार भी पकडे जा सकतें हैं


क्या है अगस्ता हेलीकॉप्टर घोटाला ?

मनमोहन सिंह के दूसरे कार्यकाल में इटली की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड से 12 हेलीकॉप्टरों की खरीद के लिए 36 अरब रुपये का समझौता हुआ था। ये हेलीकॉप्टर देश के सबसे बड़े नेताओं जैसे राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के लिए खरीदे जा रहे थे। लेकिन हेलीकॉप्टर की खरीद में नियमों में कुछ बड़े बदलाव किए गए और इसके बदले कांग्रेस पार्टी के नेताओं को मोटी रिश्वत दी गई। इस दौरान इटली में रिश्वत दिए जाने का खुलासा हो गया। वहां चली अदालती कार्रवाई के बाद कंपनी के दो बड़े अफसरों को घूस देने का दोषी पाया गया और उन्हें साढ़े चार और चार साल जेल की सजा सुनाई गई।

सोनिया को सजा भारत दे- कोर्ट

इटली की अदालत ने सोनिया गांधी समेत बाकी आरोपियों को यह कहते हुए कोई सजा नहीं दी कि वो सभी दूसरे देश में रह रहे हैं, लिहाजा उन्हें सजा देने की जिम्मेदारी वहां की अदालतों की है। इटली की अदालती कार्रवाई में सोनिया गांधी का नाम ‘सिग्नोरा गांधी’ यानी मिसेज गांधी के तौर पर दर्ज है। जांच में पाया गया कि सोनिया गांधी ने अपने करीबी अहमद पटेल के जरिए 125 करोड़ रुपये कमीशन लिया। कुल 225 करोड़ की डील हुई थी, जिसमें से बाकी रकम एयरफोर्स के अफसरों और मीडिया में बांटा गया, ताकि वो अपने मुंह बंद रखें।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution