BREAKING NEWS

Tuesday, 13 December 2016

जम्मू कश्मीर : बीजेपी & महबूबा सरकार नें किया देश के साथ गद्दारी , आतंकी और पत्थार्बाजों को मुआबजा देगी महबूबा & बीजेपी गठबंधन की सरकार .....


हिजबुल मुजाहिद्दीन कमांडर बुरहान वानी के भाई की मुठभेड़ में मारे जाने के बाद जम्मू-कश्मीर सरकार ने उनके परिवार के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। बुरहान के परिजनों ने सरकार से मुआवजा लेने से इनकार कर दिया है। परिजनों का कहना है कि उसके भाई को रोजगार दी जाए।

बुरहान के भाई खालिद मुजफ्फर वानी इसी साल 13 अप्रैल 2015 को त्राल के जंगल में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में मौत हुई थी। जब वह वहां अपने चार साथियों के साथ तथाकथित तौर पर पिकनिक मनाने गया था।

लेटेस्ट हिंदी न्यूज़ से जुड़ें , अन्य अपडेट के लिए "अखंड भारत टाइम्स" के ऑफिसियल पेज को लाइक करे


वहीं बुरहान वानी इसी साल 8 जुलाई को सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में मारा गया था। उसकी मौत के बाद से जम्मू-कश्मीर में हिंसक प्रदर्शनों का दौर जारी है। इन प्रदर्शनों में 88 लोगों की मौत हुई है।

खालिद के मारे जाने के 20 माह बाद सरकार ने उसकी मौत का मुआवजा घोषित किया है।

पुलवामा जिले के उपायुक्त ने सोमवार को बीते दो सालों के दौरान आतंकी हमलों में मारे गए, जख्मी, क्षतिग्रस्त संपत्ति के ब्यौरे के साथ उन लोगों की सूची जारी की है, जिनके मौत अथवा नुकसान के आधार पर संबधित लोगों को मुआवजा जारी किया जा रहा है।

जिला प्रशासन ने मुआवजा स्वीकार करने के लिए एक सप्ताह का वक्त दिया है।

यहाँ सबसे बड़ा सवाल ये उठता है :

क्या ऐसा करना हमारे सैनिकों द्वारा दिए गए शहादत का अपमान नहीं है ?

क्या ऐसा करने से हमारे सैनिकों का मनोवल नहीं गिरेगा ?

क्या हमारे देश में शहादत का कोई इज्जत नहीं है ? और अगर है तो वीर सैनिकों के शहादत की कीमत पर ऐसे फैसले कैसे ले सकती है बहुमत से चुनी हुयी सरकार ?

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution