BREAKING NEWS

Wednesday, 7 December 2016

हम चर्चा चाहते हैं, विपक्ष कार्यवाही रोक रहा है : जेटली , राज्यसभा कार्यवाही स्थगित होने से गुस्साए लालकृष्ण आडवाणी ....


नई दिल्ली : नोटबंदी को लेकर सरकार और विपक्ष आमने-सामने है। अब तक का संसद का शीतकालीन सत्र हंगामें के कारण बाधित ही रहा है। लोकसभा और राज्यसभा में विपक्षी दल चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी और वोटिंग की मांग कर रहे हैं।

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद से देश भर में नकदी की कमी, केंद्रीय कर्मचारियों को कथित तौर पर वेतन का भुगतान न होने को लेकर विपक्ष सदन में हंगामा कर रहा है।

इस बीच एक तरफ संसद भवन में बीजेपी सांसदों की बैठक हुई जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने संसद नहीं चलने पर बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष और संसदीय कार्यमंत्री पर गुस्सा निकाला। संसद में तीसरे सप्ताह भी लगातार विरोध होने पर आडवाणी ने लोकसभा चलाने के तरीके पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा कि ना संसदीय कार्यमंत्री और और ना ही लोकसभा स्पीकर सदन चला रहे हैं। आडवाणी को संसद में लगातार हो रहे विरोध-प्रदर्शन की वजह से संसदीय मंत्री अनंत कुमार से नाराजगी जाहिर करते हुए देखा गया है। आडवाणी ने अपनी नाराजगी उस वक्त जाहिर की जब विरोधी दलों के कुछ सदस्य सत्ता पक्ष की बैंच की ओर आए और नारे लगाने लगे।

कांग्रेस और टीएमसी सांसदों द्वारा नारे लगाने के बाद लंच से पहले 15 मिनट के लिए सदन को स्थगित करने से पहले आडवाणी ने कहा, ‘ना ही स्पीकर और ना ही संसदीय कार्यमंत्री सदन चला रहे हैं। मैं स्पीकर के पास यह कहने जा रहा हूं कि वे सदन नहीं चला रही हैं। मैं इसे सार्वजनिक तौर पर कहने जा रहा हूं।’ इस दौरान कुमार चुपचाप उन्हें सुनते रहे। साथ ही अनंत ने मीडिया गैलरी की ओर इशारा करते यह भी कहा कि उनकी यह टिप्पणी मीडिया में रिपोर्ट कर दिया जाएगा।

जब सदन को स्थगित किया गया तो आडवाणी ने लोकसभा के एक अधिकारी से पूछा कि सदन कितने बजे तक के लिए स्थगित किया गया है। जब उन्हें बताया कि दो बजे तक तो उन्होंने कहा, ‘अनिश्चित काल तक क्यों नहीं कर देते?’ इससे पहले भी आडवाणी ने सदन की कार्यवाही को लेकर कुमार से अपनी नाराजगी जाहिर की थी।

वहीं दूसरी तरफ एकजुट विपक्षी दलों ने भी बैठक की।

पीएम मोदी ने संसदीय दल की बैठक में विपक्षी दलों के हंगामें की निंदा की है।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution