BREAKING NEWS

Wednesday, 29 March 2017

पश्चिम बंगाल : काली मंदिर में "मंगला आरती" पर रोक , मुख्यमंत्री "ममता खातून" सहित सभी सेकुलर मौन






कोलकाता में स्थित प्राचीन भव्य "द्क्षिनेश्वरी काली मंदिर" में मंगला आरती बंद करा दिया गया है , कारण जानकार आप हैरान हो जायेंगे .

ये आरती इसलिए बैन किये गए हैं क्योंकि यहाँ आस-पास में रह रहे कुछ मुस्लिमों को होने वाले मंगला आरती से परेशानी होती थी . इसलिए "मंगला आरती" को ही बंद करा दिया गया .

आखिर कब तक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री "ममता खातून" के ऐसे-ऐसे तुष्टिकरण के हरकतों पर हिन्दू शांत बैठे रहेंगे ?

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :


इसके पहले भी दशहरे में कई जगह दुर्गा पूजन पर बैन लगाया गया था इसलिए की वहां रह रहे कुछ मुसलामानों को इस पूजा से परेशानी थी .

सरस्वती  पूजा में सरस्वती पूजा पर बैन लगा दिया गया क्योंकि सरस्वती पूजा से भी मुसलामानों को दिकत्त थी इसलिए सरस्वती पूजा को ही बैन कर दिया गया .

आखिर कब तक तालिबानी फरमान जारी रखेंगी ममता खातून . हालांकि मैं उनका नाम ममता खातून नहीं है लेकिन यहाँ मज़बूरी में कहना पर रहा है . क्योंकि इनकी हरकतों को देखते हुए ऐसा लगता है की ममता बनर्जी अपना धर्म छोर कर मुस्लिम बन चुकी हैं .





क्योंकि हर समय इनकी हरकतें मुख्यमंत्री जैसा कम जेहादी जैसा ज्यादा लगता है . कभी पूजा पर बैन , तो कभी भारत माता के टुकड़े करने वालों के साथ खाड़ी रहती है तो कभी हथियार बना रहे आतंकियों के मारे जाने पर बाकी बचे आतंकियों के साथ तो कभी बांग्लादेसी घुसपैठियों के साथ खाड़ी नजर आतीं है .

Share this:

1 comment :

  1. SECULARS NE APNI MAA, BEHAN MUSALMANO KO DE DI HEIN BOLEINGE KAISE.

    ReplyDelete

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution