BREAKING NEWS

Saturday, 26 August 2017

बिहार-जल्द माउंटेनमैन दशरथ मांझी स्कूली किताबों में दिखेंगे- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :



गेहलौर (गया) : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार ने तय किया है कि वह अपने स्कूलों में चलनेवाले टेक्स्ट बुक में दशरथ मांझी पर एक अध्याय जोड़ा जायेगा. माउंटेनमैन दशरथ मांझी से जल्द ही बिहार के तमाम स्टूडेंट्स परिचित हो जायेंगे. उनके बारे में ढेर सारी जानकारियां पाने लगेंगे. वे शनिवार को गेहलौर में दशरथ मांझी महोत्सव के उद्घाटन के अवसर पर आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे.



 
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह छात्र-छात्राओं के लिए प्रेरक होगा. इसके अतिरिक्त श्री कुमार ने गेहलौर में प्रखंड मुख्यालय बनाने, गेहलौर पहाड़ पर दशरथ मांझी द्वारा बनाये गये ऐतिहासिक रास्ते की ऊंचाई कम करने तथा गेहलौर गांव की मौजूदा तस्वीर को बदलने पर काम करने के बाबत पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के प्रस्तावों से भी सहमति जतायी. उन्होंने कहा कि गेहलौर गांव की तस्वीर बदलने के लिए काम जल्द शुरू किया जायेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि गेहलौर को प्रखंड बनाने का प्रस्ताव है. इस पर काम होगा. जल्दी ही इस प्रस्ताव को मूर्त रूप दिया जायेगा.



तीन नये भवनों का उद्घाटन किया गया



सीएम ने गेहलौर में ई-किसान भवन, पंचायत सरकार भवन व थाना भवन का रिमोट से उद्घाटन किया. तीन करोड़ 82 लाख से अधिक की लागत से बने ये भवन पहले से ही तैयार थे, पर इनका उद्घाटन नहीं हो सका था.



दशरथ मांझी की प्रतिमा का हुआ अनावरण



 
मुख्यमंत्री ने गेहलौर में लगी उनकी आदमकद प्रतिमा का अनावरण भी किया. ऐतिहासिक गेहलौर घाटी मार्ग के पास लगी इस प्रतिमा के करीब ही मुख्यमंत्री ने पीपल का एक पौधा भी लगाया. ज्ञात हो कि स्वर्गीय मांझी के समाधिस्थल के सौंदर्यीकरण के लिए प्रशासन ने पहले चरण में 61 लाख रुपये और दूसरे चरण में 23.85 लाख खर्च किये हैं.


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution