BREAKING NEWS

Monday, 18 September 2017

नरोदा गाम दंगा केस में अमित शाह का बयान, 'माया कोडनानी उस वक्त मेरे साथ थीं'


अहमदाबाद
: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आज नरोदा गांव दंगा मामले में अहमदाबाद की एक विशेष एसआईटी अदालत के सामने बतौर गवाह पेश हुए. शाह ने कोर्ट में गवाही देते वक्त कहा कि दंगों के वक्त पूर्व मंत्री माया कोडनानी विधानसभा में मौजूद थीं.  बता दें कोर्ट ने शाह को 18 सितंबर को कोर्ट में आकर गवाही देने के लिए समन जारी किया था.





अमित शाह ने कोर्ट को क्या बताया?

कोर्ट रूम में अमित शाह ने बताया, ‘’28 फऱवरी 2002 को सुबह 8.30 बजे विधानसभा का सत्र था. दंगों में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने का प्रस्ताव रखा गया था. कुछ देर बाद सदन स्थगित किया गया था. मायाबेन कोडनानी उस वक्त विधानसभा में मौजूद थीं. मेरे विधानसभा क्षेत्र नारंगपुरा में सोला सिविल अस्पताल आता है और वहां से लोगों को फोन आ रहे थे. इसलिए मैं विधानसभा से सीधा अस्पताल के लिए निकला था. मैं 9.30 बजे से 9.45 के बीच अस्पताल पहुंचा था.’’

शाह ने आगे कहा, ‘’जब अस्पताल पहुंचा तो लोगों के शव वहां पहुंचे हुए थे. लोगों के परिजन वहां थे और अस्पताल में अफरा तफरी का माहौल था. मैं पहुंचा उससे पहले पोस्ट मॉर्टम हो गया था. मुझे अधिकारियों ने वहां जाने से रोका था. मैं मृतकों के परिवार से मिला.’’




अमित शाह ने कहा, ‘’मैं रुकना चाहता था लेकिन नारेबाजी की वजह से पुलिस ने मुझे बाहर भेज दिया था.’’

कोडनानी ने शाह को गवाह बनाने की मांग की थी

बता दें कि इस मामले में मुख्य आरोपी गुजरात की पूर्व मंत्री माया कोडनानी ने अमित शाह को अपने गवाह के तौर पर बुलाने की अर्जी दी थी. अदालत ने अप्रैल में कोडनानी की यह दरख्वास्त मान ली थी कि उनके बचाव में अमित शाह और कुछ अन्य को बतौर गवाह समन जारी किया जाए. केस की मुख्य आरोपी मायाबेन कोडनानी ने कोर्ट को बताया था कि दंगों के वक्त मैं अमित शाह के साथ मौजूद थी और बाद में मैं अस्पताल भी गई थी.

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution