BREAKING NEWS

Wednesday, 4 October 2017

अमेरिका का पाकिस्तान पर अब तक का सबसे बड़ा कड़ा आरोप, खुफिया एजेंसी ISI का अातंकी समूहों से है संबंध



वाशिंगटनः अमेरिका ने पाकिस्तान पर अब तक का सबसे कड़ा आैर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि खुफिया एजेंसी आर्इएसआर्इ का अातंकवादी समूहों के साथ है आैर उसकी अपनी अलग विदेश नीति है. अमेरिका के एक शीर्ष जनरल ने बुधवार को कहा कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के संबंध आतंकवादी समूहों के साथ हैं और उसकी अपनी विदेश नीति है. हालांकि, पाकिस्तान ने अमेरिका के इन आरोपों से इनकार किया है. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी द्वारा आतंकवादी समूहों को समर्थन देने का यह अब तक संभवत: सबसे कड़ा आरोप है.








भारत और अफगानिस्तान भी समय-समय पर अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान पर ऐसे आरोप लगाते रहे हैं.संसदीय सुनवायी के दौरान सीनेट की विदेश संबंधों की समिति को अमेरिका के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष जनरल जोसेफ डनफोर्ड ने बताया कि मुझे लगता है, मेरे लिए यह स्पष्ट है कि आईएसआई से संबंध आतंकवादी संगठनों के साथ हैं. डनफोर्ड सीनेटर जो डोन्नेली के सवाल का जवाब दे रहे थे. डोन्नेली ने पूछा था कि क्या डनफोर्ड को लगता है कि आईएसआई अभी भी तालिबान की मदद कर रहा है? डनफोर्ड ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में पाकिस्तान के व्यवहार में बदलाव लाने के प्रयासों के तहत अमेरिका द्विपक्षीय रुख अपना रहा है.








हालांकि, उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि पाकिस्तान के व्यवहार में एक बात है, जो बदलेगी. डनफोर्ड ने आशा जतायी है कि शायद बहुपक्षीय रुख से पाकिस्तान के व्यवहार में कुछ बदलाव आये. शीर्ष अमेरिकी जनरल के साथ वहां मौजूद रक्षा मंत्री जिम मैट्टिस ने आईएसआई की आलोचना की.


सार्वजनिक रूप से पहली बार मैट्टिस ने यह स्वीकार किया कि आईएसआई की अपनी विदेश नीति है और ऐसा नहीं लगता कि वह संघीय सरकार के अधीन है. ट्रंप प्रशासन के अधिकारियों के यह बयान ऐसे समय पर आये हैं, जब पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ तीन दिवसीय दौरे पर वाशिंगटन पहुंच चुके हैं.
 

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution