BREAKING NEWS

Wednesday, 4 October 2017

पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई न की तो अमेरिका छीन लेगा खास दर्जा




वाशिंगटन  : मोदी सरकार की कूटनीति का असर अब दिखने लगा है। आतंकवाद को संरक्षण देने के मामले में पाकिस्तान अब पूरी दुनिया के सामने बेनकाब हो गया है। चीन की ओर से पाकिस्तान को आतंकवाद का संरक्षक मानने के बाद अमेरिका सख्त रुख अपना लिया है। अमेरिका ने फैसला लिया है कि अगर पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ प्रभावी कदम नहीं उठाता है तो अमेरिका उससे खास दर्जा छीन लेगा।










अमेरिका पाकिस्तान को एक बड़ा झटका देने की तैयारी कर रहा है। अमेरिकी रक्षामंत्री जेम्स मैटिस ने कहा कि अमेरिका पाकिस्तान के नॉन-नाटो (एमएनएनएम यानी मेजर नान नाटो एलाय) दर्जे को वापस लेने पर विचार कर सकता है। मैटिस ने कहा कि अगर पाकिस्तान से कूटनीतिक वार्ता की एक और कोशिश फेल होती है राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कोई भी बड़ा फैसला लेने के लिए तैयार हैं। मेजर नॉन-नाटो सहयोगी (एमएनएनएम यानी मेजर नान नाटो एलाय) के दर्जे को रद्द करने को लेकर बिल पेश किया गया था। इसमें कहा गया था कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ प्रभावशाली ढंग से लडऩे में नाकामयाब रहा है।






 





साल 2004 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने पाकिस्तान को मेजर नॉन नाटो सहयोगी देश का दर्जा दिया था, ताकि अलकायदा और तालिबान से अमेरिका को मुकाबला करने में मदद मिल सके। अमेरिका की ओर से फिर पाकिस्तान को सलाह दी गई है कि वे आतंकवाद को छोड़ कर भारत से दोस्ती कर ले। अमेरिका के रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने कहा, पाकिस्तान अगर अपनी अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारियों को निभाने का तरीका ढूंढ लें और अपनी सरजमीं को आतंकवादियों के लिए पनाहगाह न बनने दे तो उसे भारत की ओर से काफी आर्थिक लाभ मिल सकते हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार का रुख बहुत स्पष्ट है और पाकिस्तान से उसकी जो अपेक्षा है उसे लेकर वह दृढ़ है तथा उनका प्रशासन बदलाव लाने के लिए सरकार के सभी आयामों का इस्तेमाल कर रहा है।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution