BREAKING NEWS

Sunday, 15 October 2017

BIHAR- सिपाही भर्ती परीक्षा में साइंस व अर्थशास्त्र ने किया परेशान, पकड़े गये 63 मुन्‍ना भाई


बिहार में सिपाही भर्ती की लिखित परीक्षा के पेपर लीक की बात कही जा रही है। इस सिलसिले में 14 संदिग्‍धों से पूछताछ की जा रही है। फिलहाल पुलिस ने पेपर लीक की पुष्टि नहीं की है।
पटना - केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) की ओर से रविवार को सिपाही भर्ती के लिए लिखित परीक्षा आयोजित हुई। इसमें राजधानी में 15 परीक्षा केंद्र सहित राज्य भर में 1300 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। पहली पाली की परीक्षा सुबह 10 बजे से 12 बजे तक, जबकि दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर दो बजे से शाम चार बजे तक आयोजित की गई। परीक्षा के दौरान कुल 63 मुन्‍नाभाई पकड़े गये।पहले चरण के लिए आयोजित हुई परीक्षा में राज्य भर से सात लाख से अधिक परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। राजधानी के पटना मुस्लिम हाई स्कूल, पीएन एंग्लो हाई स्कूल, आर्य कन्या हाई स्कूल सहित सभी केंद्रों पर छात्र सुबह से ही पहुंच गए थे।



 






पूरी जांच के बाद छात्रों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश मिला। राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) संजीव कुमार सिंघल ने बताया कि दोनों पालियों की परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हो गई। लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थी शारीरिक जांच परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

100 अंकों की वस्तुनिष्ठ प्रश्नों का देना था जवाब


सिपाही भर्ती के लिए आयोजित परीक्षा में छात्रों को 100 अंकों के वस्तुनिष्ठ प्रश्नों का जवाब देना था। नौबतपुर के राहुल कुमार, बिहटा के रंजीत आदि ने बताया कि साइंस के न्यूमेरिकल व गहराई से प्रश्न पूछे गए थे। अर्थशास्त्र के प्रश्नों ने भी छात्रों को खूब चकराया। प्रतियोगी परीक्षा विशेषज्ञ डॉ. एम रहमान ने बताया कि परीक्षा में 50 फीसद अंक लाने पर छात्रों को शारीरिक परीक्षा के लिए बुलावा आएगा। 

पकड़े गये 63 मुन्‍नाभाई


राज्य के 716 केंद्रों पर रविवार को दो पाली में सिपाही भर्ती परीक्षा ली गई। कुल 7.93 लाख अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। इस दौरान दूसरे के बदले परीक्षा देने आए 63 युवकों को पकड़ा गया। विभिन्न थानों में उनके खिलाफ धोखाधड़ी की प्राथमिकी दर्ज की गई। इनमें छह पटना जिला के बिहटा में, कैमूर में सात और छह मुन्ना भाई नालंदा में पकड़े गए।









रोहतास में एक मुन्ना भाई 10 नकलची और नवादा में तीन मुन्ना भाई और 4 नकलची पकड़े गए। आरा में चार नकलची को पकड़कर परीक्षा से बाहर निकाल दिया गया। पूर्व बिहार, कोसी व सीमांचल में सिपाही भर्ती परीक्षा में कुल 20 फर्जी परीक्षार्थी पकड़े गए।

परीक्षा देकर लौटने वाले परीक्षार्थियों ने रविवार को मुजफ्फरपुर जंक्शन पर जमकर उत्पात मचाया। प्लेटफॉर्म संख्या छह से खुलने वाली नरकटियागंज पैसेंजर ट्रेन में पहले से सवार यात्रियों को जबरन उतार दिया। विरोध करने वालों के साथ धक्का-मुक्की की। सीट नहीं मिलने से आक्रोशित होकर ट्रेन पर पथराव करने लगे।

पत्थरबाजी के चलते अफरातफरी मच गई। कुछ यात्री चोटिल भी हुए। गेट पर खड़े यात्री तो कूदकर भागने लगे। इस बीच प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर मोतिहारी रूट से जाने वाली पोरबंदर एक्सप्रेस आकर खड़ी हुई। इस ट्रेन को देखकर परीक्षार्थियों का हुजूम उधर दौड़ा। उसमें जा घुसे। सीट पर बैठने के लिए फिर आपाधापी होने लगी।

जानकारी के अनुसार, नरकटियागंज जाने वाली उस ट्रेन के खुलने का समय 1 बजकर 5 मिनट निर्धारित था। लेकिन, 50 मिनट विलंब होने से उनका गुस्सा और भी बढ़ गया। ट्रेन शीघ्र खोलने के लिए गार्ड केबिन के पास पहुंचकर हंगामा करने लगे। हाथ जोड़े गार्ड ने विनती की तो वहां से हटकर ट्रेन के इंजन पर चढऩे लगे। लोको पायलट ने सूझबूझ से काम लेकर उन्हें उतारा।

ट्रेन छूटने के बाद अमित कुमार, सरोज कुमार ने कहा कि परीक्षार्थियों ने उन्हें उनकी सीटों से जबरन उठा दिया। विरोध करने पर पिटाई भी की। स्टेशन अधीक्षक बीएन झा ने बताया कि गार्ड ने वाकी टाकी से हमें सूचना दी। सूचना मिलने पर कुछ कार्रवाई की जाती तब तक ट्रेन खुल गई।

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution