BREAKING NEWS

Friday, 13 October 2017

हजारों रोहिंग्या मुसलमान एक साथ नागालैंड पर हमला कर इस्लामिक राष्ट्र बनाने के फिराक में , हथियार इकट्ठा करने की पुख्ता रिपोर्ट






नागालैंड पुलिस के खुफिया विभाग
ने संघीय सरकार को सूचना दी है कि  रोहिंग्या मुस्लिम यहां के लोगों पर कभी भी हमला कर सकते हैं। नागालैंड खुफिया एजेंसियों के मुताबिक दीमापुर के स्थानीय रोहिंग्या विद्रोहियों के संपर्क में हैं। रोहिंग्याओं ने बांग्लादेश से बड़ी मात्रा में गोला और बारूद भी इकट्ठा कर लिया है। रोहिंग्या हेबरॉन और कहोई कैंपों पर हमले की योजना बना रहे हैं ताकि नगालैंड पर कब्जा करना आसान हो। ऐसी भी आशंका है कि  आईएसआई समर्थित 20 आतंकवादी नगालैंड में घुसपैठ कर चुके हैं जो रोहिंग्याओं को प्रशिक्षण दे रहे हैं।

खबर है कि इसके लिए बांग्लादेश से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद एकत्र करने शुरू कर दिए हैं. खुफिया एजेंसी के अनुसार रोहिंग्या उग्रवादियों की वजह से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है.
अधिकारियों के अनुसार , बाहर निकालने की कोशिश होने पर 2,000 मुसलमानों ने नागाओं के खिलाफ हथियार उठाने के लिए तैयार है. इमाम की नागालैंड के हेब्रोन और केहो कैंप के हमले पर हमला करने की योजना हैं, जिससे की उनके लिए नागालैंड पर कब्जा करना सुविधाजनक होगा.  रिपोर्ट के अनुसार आईएसआईएस से जुड़े करीब 20 आतंकवादी नगालैंड में उग्रवादियों को ट्रेनिंग देने के लिए घुसपैठ कर चुके हैं. रिपोर्ट के अनुसार नगालैंड में आत्मघाती धमाके और हमले भी कराए जा सकते हैं. रिपोर्ट के बाद दीमापुर में संदिग्ध मुसलमानों की गतिविधियों पर नजर रखने के निर्देश दिये गये हैं.

एजेंसी ने बीएसएफ के रिटायर्ड आईजी वीके गौड़ के अनुसार शरणार्थी कैम्पों में नए लोगों के आने पर रोक लगाने की जरूरत है. गौड़ के अनुसार ये माना जा रहा है कि रोहिंग्या शरणार्थी कैम्पों में पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा, अल-कायदा, जमात-ए-इस्लामी, छात्र शिबिर, इस्लामिक स्टेट और दूसरे मुस्लिम आतंकवादी संगठनों के लोग घुसपैठ कर चुके हैं. इन कैम्पों में राहत सामग्री बांटने में कई मुस्लिम देश मदद कर रहे हैं और आतंकवादी इसका फायदा उठा रहे हैं. गौड़ ये दावा भी किया की भारतीय सुरक्षा बलों में भी ऐसे लोग हैं जिनकी सहानुभूति उग्रवादियों के साथ है. रिपोर्ट के अनुसार भारत और बांग्लादेश की 4096 किलोमीटर लम्बी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 140 ऐसी जगहों की पहचान की गयी है जहाँ से रोहिंग्या आतंकवादी घुसपैठ कर सकते हैं.

अगर ऐसा हुआ तो एक बार सोचिये एक राज्य पर लगभग 10,000 रोहिंग्या हमला कर कब्जा करने की कोशिश करेगा जैसे सीरिया और ईराक में हुआ , लाखों लोगों का नरसंघार होगा और माननीय कांग्रेसी सहित रोहिंग्या के ठेकेदार दिल्ली में बैठ कर केंद्र सरकार को कोसते नजर आयेंगे . और सुप्रीम कोर्ट के जज साहब अपने परिवार के साथ किसी और देश में जाकर यहाँ हो रहे नरसंघार को न्यूज में देख कर मजे लेंगे .


लेकिन एक-बात ध्यान रहे जिस दिन ऐसा हुआ एक-एक ऐसे सफेद पोशाक वालों को जिसनें भी इन हरामखोरों को शरण देने की बात किया है उसे नंगा कर पिछवाड़ा काटा जाएगा .







"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution