BREAKING NEWS

Friday, 29 December 2017

लखनऊ : मदरसे का संचालक निकला बलात्कारी , 51 लड़कियां छुड़ाई गईं , अरेस्ट ...........






लखनऊ (30 दिसंबर):
 उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सआदतगंज थाना क्षेत्र में एक मदरसे में छात्राओं के साथ यौन शोषण की गंभीर घटना का खुलासा होने के बाद लखनऊ पुलिस ने छापेमारी कर 51 छात्राओं को मुक्त कराया। एसएसपी दीपक कुमार के मुताबिक इस बारे में सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासन से जुड़ी टीमों ने बिना देर किए, मदरसे पर छापा मारा। यहां से 51 बच्चियों को मुक्त कराने के साथ ही संचालक आरोपी तैयब जिया को गिरफ्तार कर लिया है।

सआदतगंज के यासीनगंज स्थित मदरसे में मासूम छात्राओं को बंधक बनाकर लंबे समय से यौन शोषण किया जा रहा था। इसका खुलासा तब हुआ जब छात्राओं ने मदरसे के कमरों की खिड़कियों से पर्चियों पर अपनी व्यथा लिखकर फेंकी। इलाकाई लोगों ने पर्चियां पढ़ने के बाद शुक्रवार को एसएसपी दीपक कुमार को जानकारी दी तो उनके होश उड़ गए।

शुक्रवार को मदरसे के संस्थापक के परिवारिक सदस्य सैय्यद बाबर अशरफ ने फोन कर वहां पढ़ने वाली छात्राओं से गलत हरकतें करने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मदरसे की छात्राओं को बंधक बनाकर रखा गया है। छात्राओं ने कुछ पर्चियों पर अपनी व्यथा लिखकर फेंकी हैं जो इलाकाई लोगों के पास हैं।

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि सआदतगंज थाना क्षेत्र के यासीनगंज में जामिया ख़दीजातुल लीलनवात मदरसे में एक व्यक्ति द्वारा छात्राओं के शोषण की सूचना मिली। इसके बाद जांच में पता चला कि मदरसे का संचालन तैयब जिया पुत्र जनाब अब्दुल गफूर निवासी यासीनगंज द्वारा किया जा रहा था, कुछ समय बाद तैयब जिया ने मदरसे को हॉस्टल के रूप में प्रयोग करने लगा। इसमें केवल लड़कियों को हॉस्टल देने लगा। उन्होंने बताया कि 29 तारीख को हॉस्टल की लड़कियों द्वारा छत से पत्थर फेंककर मोहल्ले के लोगों को सूचना दिया गया कि हम लोगों को हॉस्टल में तैयब जिया और उसके चार पांच साथी मिलकर बंधक बनाए हुए है। इस पर एक व्यक्ति ने पुलिस को सूचित किया।





इसके बाद एसएसपी ने जानकारी मिलते ही थाना पुलिस समेत अन्य टीमें छापेमारी के लिए रवाना की। इनके साथ एसीएम, डीसीएम, महिला पुलिस भी शामिल थी। छापेमारी के दौरान मदरसे में मौजूद छात्राओं से उनका हाल चाल लिया गया। इस दौरान कई छात्राओं ने तैयब जिया के खिलाफ अनैतिक व्यवहार करने का आरोप लगाया। इसके बाद मदरसे से 51 छात्राओं को सुरक्षित बाहर निकाला गया। वहीं आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

जानकारी के मुताबिक आरोपी छात्राओं का यौन शोषण करता था। साथ ही मना करने पर उन्हें मारता पीटता था। वहीं कुछ छात्राओं से गलत काम कराने के लिए उन्हें मदरसे से बाहर भी भेजता था। इस संबंध में एसएसपी दीपक कुमार ने कहा कि मदरसे से जुड़ी अन्य जांच की जा रही है। वहीं छात्राओं से पूछताछ में अन्य जो भी आरोप सामने अाएंगे, उसके अनुसार आरोपी पर मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि मदरसे से मुक्त कराई गई सभी 51 छात्राओं को नारी निकेतन व अन्य सुरक्षित स्थानों पर ठहराया गया है। छात्राओं के परिजनों से बातचीत हो रही है। परिजनों के आने तक पुलिस व प्रशासन छात्राओं की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखेंगा।

मदरसे में रह रही 15 वर्षीय छात्रा ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके व अन्य लड़कियों के साथ मदरसे के संचालक तैयब जिया दुर्व्यवहार करता था। वह उन्हें बार-बार अपने कमरे में बुलाता था। साथ रही मना करने पर उन्हें जान से मारने की धमकी देने के साथ मारता पीटता भी था।



"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution