BREAKING NEWS

Sunday, 21 January 2018

हर क़दम पर ऊपर वाला 'आप' के साथ, सोच कर ही दी थी 67 सीट : अरविंद केजरीवाल


नई दिल्ली :
आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि हमें प्रताड़ित किया जा रहा है। रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने चुनाव आयोग की सिफारिश पर अपनी मुहर लगा दी जिसमें आयोग ने आप के 20 विधायकों को लाभ का पद मामले में दोषी मानकर योग्यता रद्द किए जाने की सिफारिश की थी।





राष्ट्रपति के फैसले पर बोलते हुए नजफगढ़ में कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लगातार उन्हें और उनकी पार्टी को प्रताड़ित किया जा रहा है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि उनके विधायकों पर झूठे मामले दर्ज किए गए, गिरफ्तार किया गया, यहां तक कि उनके दफ्तर पर सीबीआई की रेड भी करवाई गई और दिन भर की उस रेड में उन्हें मफलर के अलावा कुछ नहीं मिला।

सीएम केजरीवाल ने सभा में कहा कि उपराज्यपाल ने उनके 2 साल के कार्यकाल के दौरान सरकार के फैसलों की 400 फाइलों को मंगा लिया और 20 अफसरों को बिठाकर उनसे कहा कि इसमें गलतियां खोजो लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला। केजरीवाल ने इशारों-इशारों में केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि जब इन से कुछ नहीं हुआ तो आज उन्होंने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य कर दिया।





केजरीवाल ने कहा कि मैं हमेशा से मानता था कि ब्रह्मांड में कोई शक्ति है और अगर आप सच्चे हैं तो ऊपर वाला आपकी मदद करता है, जब 70 में से 67 सीटें हमें मिली थी तो मैं भी चौंका था कि यह क्या हो गया। केजरीवाल ने चुटकी लेते हुए कहा कि शायद ऊपर वाले को भी उसमें पता था कि यह 3 साल बाद 20 विधायकों को निलंबित कर देंगे इसीलिए उस समय हमें इतने विधायक दे दिए कि सरकार को कभी कोई खतरा नहीं होगा।

केजरीवाल ने आगे कहा कि सच्चाई के रास्ते पर बहुत सारी मुश्किलें आएंगी लेकिन जीत सच की होती है क्योंकि ब्रहमांड की सारी शक्तियां आपकी मदद करती हैं। सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट में आपके निलंबित विधायकों की याचिका पर सुनवाई होगी।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution