BREAKING NEWS

Thursday, 22 February 2018

मेरे पास ED के सामने पेश होने का समय नहीं , मैं व्यस्त हूँ : नीरव मोदी



नई दिल्ली:  
पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में 11 हज़ार करोड़ रुपये से ज़्यादा के फर्ज़ीवाड़ा मामले के सूत्रधार नीरव मोदी गुरुवार को ED (प्रवर्तन निदेशालय) के सामने पेश नहीं हुए।
सूत्रों के मुताबिक ED ने नीरव मोदी को एक बार फिर से पेश होने के लिए समन जारी किया है। ED ने कहा कि नीरव मोदी को तीसरी बार समन जारी किया गया है अगर इस बार भी वो ED के सामने पेश नहीं होते तो उनके खिलाफ़ प्रत्यर्पण की कार्रवाई तेज़ कर दी जाएगी। 
अब मोदी को 26 फरवरी को मुंबई में केंद्रीय जांच एजेंसी के समक्ष पेश होने को कहा गया है। इससे पहले ED ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉड्रिंग ऐक्ट (PMLA) के तहत नीरव मोदी को तलब किया था। 

सूत्रों ने कहा कि अस्थायी रूप से पासपोर्ट को निलंबित किए जाने और लंबित कारोबारी मामलों में व्यस्तता को नीरव ने अपने पेश नहीं होने की वजह बताया है।
जानकारी मिली है कि मोदी ने ED को ई-मेल भेजकर बताया है कि उसका पासपोर्ट अस्थायी रूप से निलंबित हो चुका है और वह मौजूदा घटनाक्रम को लेकर देश में जांच का सामना कर रहा है, ऐसे में पेश होना संभव नहीं है।


बता दें कि नीरव मोदी इससे पहले ही PNB को ख़त लिखकर पैसा लौटाने से भी इनकार कर चुके हैं।
15-16 फरवरी को बैंक को लिखे पत्र में नीरव ने कहा था, 'गलत तौर पर बताई गई बकाया राशि से मीडिया में होहल्ला हो गया और परिणाम स्वरूप तत्काल तौर पर खोज का काम शुरू हो गया और परिचालन भी बंद हो गया। इससे समूह पर बैंक के बकाया को चुकाने की हमारी क्षमता खतरे में पड़ गई है।'
ED ने इस मामले में नीरव के मामा और गीतांजलि ज्वेलर्स के मालिक मेहुल चौकसी को शुक्रवार को पेश होने को कहा है। अगर चौकसी भी आज पेश नहीं होते हैं तो उन्हें भी नए सिरे से समन जारी किया जाएगा।
इस बीच एजेंसी ने गुरुवार को मोदी और चौकसी की समूह कंपनियों से जुड़े 100 करोड़ रुपये के शेयरों, म्यूचुअल फंड और लक्जरी कारों को अपने कब्जे में ले लिया।
गौरतलब है कि कुछ साल पहले शराब कारोबारी विजय माल्या ने भी अपने पेश नहीं होने की यही वजह बताई थी। बता दें कि नीरव अपने परिवार समेत जनवरी के पहले हफ्ते में ही देश छोड़कर भाग गया था। जांच एजेंसियों को भी अभी यह नहीं पता कि वह इस वक्त कहां हैं।

"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution