BREAKING NEWS

Tuesday, 8 May 2018

कर्नाटक चुनावः राज राजेश्वरी में कांग्रेस बिधायक के फ्लैट से मिले 10,000 वोटर कार्ड, चुनाव आयोग ने दिये जांच के आदेश






कर्नाटक विधानसभा चुनाव
से पहले बेंगलुरु के एक अपार्टमेंट से लगभग 10,000 मतदाता पहचान पत्रों के मिलने के बाद सियासी पारा गरमा गया है। इस संबंध में मंगलवार देर रात चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। चुनाव आयोग ने इन पहचान पत्रों की जांच के आदेश दिए हैं। बीजेपी ने इस सबंध में आरोप लगाते हुए कहा है कि यह अपार्टमेंट एक कांग्रेसी नेता का है। बीजेपी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि राज राजेश्वरी नगर निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव रद्द कर दिए जाएं। बीजेपी के आरोप के बाद कांग्रेस ने पलटवार किया है और कहा है कि यह सब बीजेपी की ड्रामेबाजी है। कांगेस ने साथ ही बीजेपी पर नकली सबूत का आरोप लगाया।

जिस इलाके में ये वोटर कार्ड पाए गए हैं वो बेंगलुरु के जलाहाल्ली इलाका है। यह इलाका राज राजेश्वरी निर्वाचन क्षेत्र में पड़ता है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुख्य चुनाव अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि राज राजेश्वरी में 4 लाख 35 हजार 439 वोटर हैं, यह वहां की आबादी का 75.43 फीसदी है। पिछली बार रिवीजन के दौरान 28 हजार 825 नाम जोड़े गए थे। इसके बाद अपडेशन के दौरान 19,012 नाम और जोड़े गए थे। इस दौरान 8817 लोगों का नाम हटाया भी गया था।

बंडल में बांधकर रखे गए थे वोटर कार्ड

संजीव कुमार ने कहा कि वह खुद इस घर में गए और उन्हें यहां 9746 वोटर आईडी कार्ड बरामद किए। इन्हें छोटे बंडलों में बांधकर और लपेटकर रखा गया था। हर बंडल पर फोन नंबर और नाम लिखा गया था।

लैपटॉप ऑर प्रिंटर भी बरामद

संजीव कुमार ने बताया कि उस फ्लैट में पांच लैपटॉप और प्रिंटर भी थे। इसके अलावा 2 स्टील ट्रंक भी मौजूद थे। निर्वाचन अधिकारी ने दावा किया कि वहां पाए गए वोटर आईडी कार्ड असली थे। इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है और मामले की जांच की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक यह फ्लैट मंजुला नंजामुरी के नाम पर है और फिलहाल इसमें राकेश नामक युवक किराए पर रहता है। बताया जा रहा है कि वह एक चुनावी उम्मीदवार का करीबी है। चुनाव अधिकारियों ने निष्पक्ष चुनावों का आश्वासन दिया है।





भाजपा का आरोप

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि राज राजेश्वरी में कांग्रेस प्रत्याशी ने 15 हजार फेक वोटर आईडी कार्ड बनाए हैं। बीजेपी राज राजेश्वरी नगर में चुनाव रद्द करने की मांग कर रही है। बीजेपी की ओर से इस संबंध में पुलिस में भी शिकायत की गई है।

भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जवाड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस यहां जनता का समर्थन खो रही है। वे लोग नाटकिय ढंग से किसी भी तरह इस चुनाव को जीतना चाहते हैं। इस लिए हम राज राजेश्वरी नगर में चुनाव रद्द करने की मांग कर रहे हैं।

जावड़ेकर ने कहा कि बदामी क्षेत्र जहां से सिद्धरमैया चुनाव लड़ रहे हैं वहां से बड़ी मात्रा में कैश पकड़े गए हैं। इसलिए चुनाव आयोग को यहां स्पेशल चुनाव अधिकारी और ज्यादा से ज्यादा अद्धसैनिक बल तैनात करने चाहिए। 

बीजेपी के सदानंद गौड़ा ने आरोप लगाया है कि इस मामले में राज राजेश्वरी नगर से कांग्रेस के उम्मीदवार मुनिरत्न नायडू का हाथ है। सदानंद गौड़ा ने कहा है कि सत्ताधारी दल के विधायक अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं और अधिकारियों पर दबाव डालकर वोटर लिस्ट में गलत नाम डलवा रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस विधायक मुनिरत्न नायडू को गुंडा करार दिया है। उन्होंने कहा कि कम से कम 60 हजार वोटर आईडी कार्ड का गलत इस्तेमाल हो रहा है।

इस मामले पर अनंत कुमार ने कहा है कि कांग्रेस चुनावों में गलत तरीकों का इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने राजराजेश्वरी इलाके में चुनाव रद्द करने की मांग की है।

रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर BJP से पूछे ये सवाल

इस मामले पर कांग्रेस मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने बेंगलुरु में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि बीजेपी इस तरह कांग्रेस पर इल्जाम लगाकर अपनी तरफ ध्यान आकर्षित करना चाहती है। सुरजेवाला ने कहा कि यह वोटर आईडी कार्ड ना तो पुलिस ने बरामद किए हैं ना ही चुनाव आयोग ने बल्कि इन्हें बीजेपी कार्यकर्ता ने बरामद किया है। उन्होंने कहा कि जिस फ्लैट से वोटर आईडी कार्ड बरामद हुए हैं वो फ्लैट मंजुला नंजामुरी का है, जो कि बीजेपी की नेता हैं। जबकि घर में रहने वाला किरायेदार उन्हीं का बेटा राकेश है। सुरजेवाला ने बीजेपी पर पलटवार करते हुए कहा कि 2015 में राकेश ने बीजेपी के टिकट पर निगम चुनाव लड़ा था लेकिन वो हार गए थे।

सुरजेवाला ने कहा कि मेरे 4 सवाल हैं। क्या इस फ्लैट की मालकिन बीजेपी से ताल्लुक नहीं रखती? क्या यह सच नहीं है कि उन्होंने यह घर अपने ही बेटे को किराये पर दिया? यह सभी वोटर आईडी कार्ड बीजेपी नेता के घर कैसे पहुंचे? और क्या बीजेपी के बड़े नेताओं के खिलाफ जांच नहीं होनी चाहिए?

कांग्रेस के इन सवालों के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि मंजुला 6 साल पहले पार्टी छोड़ चुकी हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मामले में अब BJP पर आरोप लगाना चाहती है। जावड़ेकर ने कहा कि जिस फ्लैट से वोटर आईडी कार्ड बरामद हुए हैं वो लीज पर है। मामले की जांच जारी है।


"अखंड भारत टाइम्स" परिवार से जुड़ने के लिए ऑफिसियल पेज लाइक जरुर करें :

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution