BREAKING NEWS

Wednesday, 14 November 2018

सर्जिकल स्ट्राइक-2 :1 किलोमीटर पाकिस्तान सीमा में घुसकर आतंकियों को किया ढेर , भारी मात्रा में हथियार और ड्रग्स भी बरामद


डीआरआई यानी डायरेक्टरेट ऑफ रेवन्यू इंटेलिजेंस और आर्मी ने मिलकर दो अलग- अलग ऑपेरशन को भारत पाकिस्तान सीमा पर अंजाम दिया, जिसमें बड़ी मात्रा में हथियार ,गोला बारूद और नशे की एक बड़ी खेप बरामद की है. डीआरआई को जानकरी मिली कि पाकिस्तान से बड़े पैमाने पर ड्रग्स और हथियारों की खेप भारत पहुंचने वाली है, डीआरआई के अधिकारियों के मुताबिक उनकी टीम 15 दिन तक सेना के साथ बंकरों में रही और आखिरकार 13 नवंबर की सुबह तड़के अखनूर इलाके के गिगरियाल गांव के पास डीआरआई और सेना को पाकिस्तान की तरफ से हलचल देखने को मिली जिसके बाद दोनों ने मिलकर आतंकियों को रोकने की कोशिश की तो आतंकियों ने सेना और डीआरआई पर फायरिंग कर दी.


आत्म रक्षा के लिए सेना और डीआरआई ने फायरिंग की तो सारे आतंकी वापस पाकिस्तान सीमा की ओर भागे तो सेना और डीआरआई ने एक सर्जिकल स्ट्राइक की जिसके तहत वो सीमा पर लगी बाड़ से एक किलोमीटर अंदर तक घुस गए. ये वो इलाका था जो नो मेंस ज़ोन कहलाता है सेना ने भी जबाबी फायरिंग की जिसमें एक आतंकी की मौत हो गई.

डीआरआई के डायरेक्टर डीपी दास के मुताबिक 'हमारी टीम को जानकारी मिल रही थी कि पाकिस्तान से बड़ी मात्रा हेरोइन और हथियारों की खेप बॉर्डर पार कर भारत आने वाली है. इस सूचना पर आर्मी के साथ काम करते हुए 6 नवंबर को जम्मू के अखनूर इलाके से करीब 21 किलो हेरोइन बरामद की. साथ में 4 पिस्टल 4 मैगज़ीन भी बरामद कीं है. जो हेरोइन बरामद हुई है उसके पैकेट में पाकिस्तान के लाहौर का पता लिखा हुआ था. पकड़ी गई हेरोइन की कीमत करीब 105 करोड़ है, जिसका प्रयोग नार्को टेररिज़्म के तहत होना था. पिछले तीन महीने में डीआरआई ने पाकिस्तान से जम्मू कश्मीर आई हेरोइन की ये तीसरी खेप पकड़ी है'

डीआरआई के इस ऑपेरशन में बड़े पैमाने पर गोला बारूद और हथियार बरामद हुए,डीआरआई के मुताबिक जो हथियार बरामद हुए उनमें एक AK-56 राइफल,15 हेंड ग्रेनेड,5 पिस्टल,12 डेटोनेटर्स और 294 कारतूस बरामद किए.

डीआरआई के मुताबिक इन हथियारों में चाइनीज़ मार्किंग थी जो पाकिस्तान से बॉर्डर क्रोस कर आतंक फैलाने के लिए भारत भेजे जा रहे थे. लेकिन भारत की सुरक्षा एजेंसियों ने वक़्त रहते अगर करवाई ना कि होती तो मौत बाँटने का ये समान भारत मे आ जाता. डीआरआई अब इस पूरे नेटवर्क के वो तमाम कोड को डिकोड करने में लगी है ताकि भारत देश के खिलाफ साजिश करने वाले दुश्मनों को जड़ से ख़त्म किया जा सके .

Share this:

Post a Comment

 
Copyright © 2014 Akhand Bharat Times | Hindi News Portal | Latest News in Hindi : हिंदी न्यूज़ . Designed by OddThemes & Customised By News Portal Solution